pwd recruitment 2017 post 5300

  • चर्चा में : फंग ली य्वानचीन की स्टाइलिश फर्स्ट लेडीसंदीप बुन्देला यह सवाल चीन में पूछें तो हो सकता है जवाब मिले कि वह मशहूर समकालीन लोक गायिका फंग ली य्वान के पति हैं।हैरान रह गए न आप! लोकप्रियता के मामले में चीन की फर्स्ट लेडी को प्रेजिडेंट पर तरजीह एक हकीकत है। वजह यह है कि फंग ली चीन में मोस्ट फेमस सिंगर के तौर पर उन तीन दशकों तक काबिज रहीं, जब शायद शी चिन फिंग बड़े नाम नहीं थे। पूर्णिमा के चांद की तरह गोल चेहरे वाली फंग ली की चमकती आंखें और दूध से सफेद दांत आज भी बरबस लोगों के आकर्षण का सबब बन जाते हैं।इन सवालों के जवाब मुश्किल रहेफंग ली कौन हैं, कैसे उन्होंने सुपरस्टार जैसा मुकाम हासिल किया, प्रेजिडेंट शी चिनफिंग की जिंदगी में वह कैसे आईं?...फर्स्ट लेडी पर इन सवालों के जवाब ढूंढना चीन की क्लोज सोसाइटी में बहुत कठिन है। कहते हैं कि शी चिनफिंग जब चीनी राष्ट्रपति बनने वाले थे, तो सत्ता प्रतिष्ठान में यह डर कायम था कि शी से ज्यादा चर्चित फंग ली कहीं उन पर भारी न पड़ जाएं। जब शी चिंग फिंग राष्ट्रपति बने तो एक पूरा महकमा ही फंग ली के घर परिवार से जुड़ी जानकारियां मिटाने में जुटा था। चीन की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी का मानना है कि नेताओं की पत्नियों और घर-परिवार के बारे में लोग जितना कम जानें, उतना अच्छा है।फर्श से अर्श तक का सफरफंग बहुत गरीब परिवार से इस ऊंचाई तक पहुंची हैं। उनका जन्म 20 नवंबर 1962 को चीन के पूर्वी प्रांत शांतुंग की युन छंग काउंटी में हुआ था। पिता स्कूल मास्टर थे, जिन्हें अपनी काउंटी के म्यूजियम में क्यूरेटर और कल्चर ब्यूरो की जिम्मेदारी भी सौंपी गई थी। बदले में उन्हें महीने में महज 4 डॉलर सैलरी मिलती थी। इसके उलट शी चिंगफिंग के पिता शी चुंग शुन अपने समय में चीन के प्रमुख क्रांतिकारी नेता और उप-प्रधानमंत्री थे। फंग ली की मां के बारे में तो अब सभी जानकारियां सरकारी दस्तावेजों से मिटा दी गई हैं, पर बताया जाता है कि वह अपनी काउंटी में छोटी-सी कला मंडली की सदस्य थीं और जब वह 25 साल की थीं, तब फंग ली इस दुनिया में आईं।सुरों की मलिकाफंग ली का ज्यादातर बचपन काउंटी की कला मंडली की संगत में बीता। 5 साल की उम्र में ही वह लोकगीत गा सकती थीं। लेकिन चीन में जब सांस्कृतिक क्रांति आई तो फंग ली और शी चिन फिंग, दोनों के परिवारों को उससे जूझना पड़ा। यह वह दौर था जब कल्चर को प्रमोट करना चीन की पुरातनपंथी सामंतवादी प्रथा माना गया। उस दौर में फंग के घर चीनी रेड गार्ड्स ने आकर धमकाया था। ताइवान में रिश्तेदारी के कारण मां को जासूस बताया गया। पिता को सार्वजनिक शौचालय साफ करने के लिए मजबूर किया गया। उस समय फंग ली और शी, दोनों के पिता को हिरासत में रहना पड़ा और बाद में निर्वासित जीवन बिताना पड़ा। फंग ली को पढ़ाई से महरूम किया गया। 15 बरस से कमाने लगीं नामफंग ली ने 15 साल की उम्र में देशभक्ति के गानों के कॉम्पिटिशन में 10,000 लोगों को हराते हुए प्रांतीय आर्ट स्कूल में दाखिला हासिल किया। यहां संगीत की शिक्षा पूरी करने के बाद उन्हें सोल्जर की रैंक में पीपल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) में कमिशन मिला। अपनी आवाज के बूते फंग ली का करियर ऊंचाइयां चढ़ने लगा। सबसे पहले उन्हें पीपल्स लिबरेशन आर्मी की स्थानीय यूनिट के एलीट परफॉर्मेंस ट्रूप में चुना गया। इसके बाद उन्हें पेइचिंग की मशहूर कंजर्वेटरी ऑफ म्यूजिक में शामिल किया गया। जब वह ग्रैजुएट हुईं तो उन्हें पीएलए के अहम समझे जाने वाले जनरल पॉलिटिकल डिपार्टमेंट में चुना गया, जो चीन की प्रमुख प्रोपेगंडा सिंगर बनने की ओर बड़ा कदम था। चीन के लोगों ने पहली बार उन्हें 1982 में न्यूईयर गाला में गाते देखा तो उनकी आवाज के दीवाने हो गए। नो बॉयफ्रेंडजिंदगी में शी चिनफिंग के आने से पहले तक फंग ली का कोई बॉयफ्रेंड नहीं था। वह हाइट में छोटी थीं इसलिए स्टेज पर परफॉर्मेंस के दौरान पैरों में 5 इंच की हील पहनती थीं, जो कपड़ों में छिपी रहती थी। जीवन भी इतना सादा था कि शी से शादी के बाद भी वह बाजारों में पैदल टहलती और बस में सफर करती दिख जाती थीं। जिंदगी में आए शीफंग ली प्रेजिडेंट शी चिनफिंग की पहली पत्नी नहीं हैं। शी की पहली शादी चीन के ब्रिटेन में ऐंबैसडर की बेटी से हुई थी, लेकिन पत्नी ने जब पढ़ाई के लिए ब्रिटेन लौटने की इच्छा जताई तो तलाक हो गया। शी उस समय तटीय शहर श्या मन के वाइस मेयर थे। इसके बाद कॉमन फ्रेंड्स की मदद से फंग ली और शी चिंग फिंग की मुलाकात 1986 में हुई थी। ग्रीन आर्मी ड्रेस में पहली बार मिलने पहुंचीं फंग ली अपने से 10 साल बड़े शी चिंग फिंग को देखकर बहुत खुश नहीं थीं। फंग ने तब शी के बारे में कहा था कि वह (शी चिंग फिंग) किसी गंवार उम्रदराज की तरह लगते हैं। जिसकी मुझे तलाश है, यह वह नहीं हैं। लेकिन शी तो बस देखते ही रह गए। उन्होंने तुरंत मन की बात फंग ली के सामने रख दी। दोनों में बात बनी तो फंग ली के घरवाले राजी नहीं थे। शी ने उन्हें मनाया और इस तरह तलाकशुदा शी चिन फिंग की जिंदगी में 1 सितंबर 1987 को फंग ली ने प्रवेश कर लिया।शादी पर भारी करियरशादी के 4 दिन बाद ही फंग ली को पीएलए के सिंगिंग टूर में जाना पड़ा। दो दशक तक दोनों को ज्यादातर अलग-अलग जिंदगी बितानी पड़ी, जो चीन में करियर को लेकर सामान्य बात है। उस दौर में शी फूच्येन प्रांत के श्या मन में वाइस मेयर ही थे, तो फेंग ली पेइचिंग में लगभग रोज ही किसी न किसी शो में बिजी थीं। जब फंग ली प्रेग्नेंट थीं, तब भी वह स्प्रिंग फेस्टिवल में गाती दिखीं। इस बीच, उनकी बेटी शी मिंग ची ने जन्म लिया। इसी दौर में चीनी मीडिया में ऐसी खबरें भी आईं कि शी का किसी और से अफेयर है। बेटी मिंग ची इस समय हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ रही हैं, लेकिन चीनी मीडिया में उसकी जानकारी शायद ही दिखे।घर में आम महिलाफंग ली का सबसे मशहूर गाना रहा - पीपल फ्रॉम अवर विलेज। चीन की वह पहली लेडी हैं, जिन्होंने अपने देश के एथनिक म्यूजिक में मास्टर्स डिग्री हासिल की है। हॉबीज के बारे में बात करें तो फंग ली किसी आम महिला-सी दिखती हैं। उन्हें घर पर पति के साथ टीवी देखना और कुकिंग पसंद है, जबकि शी को फुटबॉल देखना और चाइनीज गेम 'गो' खेलना पसंद है। फोर्ब्स की पावरफुल विमिन लिस्ट में इस साल वह 57वीं पोजिशन में रहीं। पिछले साल टाइम की सबसे प्रभावशाली लोगों की फेहरिस्त में भी वह शुमार थीं। मिशेल और मिडलटन से तुलनाआम तौर पर फंग ली जिस तरह चीन के राष्ट्रपति के साथ अपने स्टाइल में देश-विदेश का दौरा कर रही हैं, वह चीन में फर्स्ट लेडी की नई छवि पेश कर रहा है। पहले राष्ट्रपति की पत्नी से शांत और खुद को रस्म अदायगी तक सीमित रखने की उम्मीद की जाती थी, लेकिन फंग ली ने इस छवि को पूरी तरह बदल दिया है। आज उनकी तुलना मिशेल ओबामा और केट मिडलटन से हो रही है।
  • ओम नम: शिवाय: सेक्टर चार शिव मंदिर

    सेक्टरचारस्थितहाउ¨सगबोर्डकॉलोनीमेंसातसालपुरानाशिवमंदिरलगातारआस्थाकाकेंद्रबनाहुआहै।यहांसेक्टरचार,हाउ¨सगबोर्डकॉलोनीकेसाथइस […]

    Continue reading

  • नियमों के उल्लंघन पर अब तक किया 28 लाख जुर्मा

    जेएनएन,होशियारपुर:मिशनफतेहकेअंतर्गतजहांकोविड19केमद्देनजरसावधानियांअपनानेकेलिएजागरूकताफैलाईजारहीहै,वहींमास्कवसार्वजनिकस्थ […]

    Continue reading

  • वर्षों बाद मिला परिवार संग ईद मनाने का मौका

    बस्ती:कोरोनाकेचलतेहुएलॉकडाउननेउनलोगोंकोवर्षोंबादअपनेपरिवारकेसाथईदमनानेकामौकादियाहै,जोरोजी-रोटीकीतलाशमेंवर्षोंसेपरिवारसेद […]

    Continue reading

  • बिखरा नहीं है हुड्डा का 'कांग्रेसी कुनबा'

    महेशकुमारवैद्य,रेवाड़ीअहीरवालक्षेत्रकेचारविधानसभाक्षेत्रोंमें12से15अगस्ततकजनक्रांतियात्रारथलेकरपहुंचरहेपूर्वमुख्यमंत्रीभू […]

    Continue reading

  • गांव में काम करने की जगह ब्लॉक में बाबूगीरी क

    सीतापुर:विकासक्षेत्रकी98ग्रामपंचायतोंमेंसफाईकर्मियोंकीतैनातीहै।फिरभीगांवोंमेंगंदगीकायमहै।साफसफाईकीस्थितिठीकनहींहै।कोरोना […]

    Continue reading

  • विकास को अधिसूचना का इंतजार

    सुनीलचौहान,धारूहेड़ानंदरामपुरबासरोडस्थितसंतोषकॉलोनीकोनियमितकरनेकीघोषणाहुएतोकरीबएकसालकासमयबीतचुकाहै,लेकिननोटिफिकेशननहींकिए […]

    Continue reading

  • घर से पैसे मंगा गांव लौटने को हुए मजबूर

    बस्ती:यकीनमानिए,इनदिनोंराजमार्गसेलेकरसंपर्कमार्गतकबेबसजिदगीकाकारवांलंबाहै।मुंबई,गोवा,बंगाल,दिल्ली,नासिकआदिमहानगरोंसेआनेव […]

    Continue reading

  • डिप्टी स्पीकर के घर से गाड़ी चोरी

    डिप्टीस्पीकरकेघरसेगाड़ीचोरीप्रमुखसंवाददाता॥नईदिल्ली:राजधानीमेंऑटोलिफ्टरोंसेआमनागरिकहीनहीं,बल्किराजनेताभीपरेशानहैं।वाहनचो […]

    Continue reading

  • डीसीएम से 20 गोवंश बरामद, दो गिरफ्तार

    कुशीनगर:तरयासुजानपुलिसनेरविवारकोक्षेत्रकेसलेमगढ़स्थितटोलप्लाजाकेसमीपएकडीसीएमसे20गोवंशबरामदकरदोतस्करोंकोगिरफ्तारकिया।उनकी […]

    Continue reading

  • गहलोत ने प्रवासी श्रमिकों के सुरक्षित आवागमन

    जयपुर,29अप्रैल(भाषा)राजस्थानकेमुख्यमंत्रीअशोकगहलोतनेप्रधानमंत्रीनरेन्द्रमोदीकोपत्रलिखकरकेन्द्रीयगृहमंत्रालयद्वाराप्रवासी […]

    Continue reading

  • भारत-पाकिस्तान संबंध में सुधार को लेकर बहुत अ

    नयीदिल्ली,13अगस्त(भाषा)भारतमेंपाकिस्तानकेपूर्वराजदूतअब्दुलबासितनेशुक्रवारकोकहाकिवहवर्तमानमेंभारत-पाकिस्तानसंबंधोंमेंसुधा […]

    Continue reading

  • भगवान शिव का सारे विश्व में होता है अभिषेक

    कांवड़शिवकीआराधनाकाएकरूपहै।इसयात्राकेजरिएजोशिवकीआराधनाकरलेताहै,वहधन्यहोजाताहै।वेद-पुराणोंसहितभगवानभोलेनाथमेंभरोसारखनेवालो […]

    Continue reading

  • उत्तराखंड: पुलिसकर्मी थाने-चौकियों में नहीं क

    देहरादून,एबीपीगंगा।भारीबरसात,भीषणगर्मीयाशर्दियोंकीशीतलहरकाप्रकोपहो,पुलिसकर्मीकीनड्यूटीबदलतीहैनहीकिरदार।आलमयेहैकिअबपुलिसक […]

    Continue reading

  • आज से 94 केंद्रों पर होगी धान खरीद

    सीतापुर:गुरुवारसेजिलेभरमेंसरकारीकेंद्रोंपरधानखरीदकीजाएगी।धानखरीदकाजिम्मापांचएजेंसियोंकोसौंपागयाहै।जिलेमेंधानखरीदकेलिए94क […]

    Continue reading

  • लोगों ने खूब की मनमानी, दर्ज हुए 73 मामले

    कुशीनगर:जिलेमेंकोरोनासंक्रमितमरीजबढ़नेकेबादहरजगहदहशतकामाहौलहै।संक्रमणरोकनेमेंप्रशासनिकमशीनरीदिनरातएककरजुटीहुईहै।नागरिकों […]

    Continue reading

  • कोरोना तनाव से मुक्ति में मनोवैज्ञानिक सलाह उ

    कुशीनगर:बुद्धपीजीकालेजकुशीनगरकेमनोविज्ञानविभागकीप्रोफेसरडॉ.सीमात्रिपाठीनेकहाकिजीवनमेंतनावकीबहुतसीपरिस्थितियांआतीहैं,परवे […]

    Continue reading

  • न्यूयॉर्क में ऋषि कपूर को सता रही घर की याद,

    नईदिल्ली,एबीपीगंगा।न्यूयॉर्कमेंअपनाइलाजकरारहेबॉलीवुडएक्टरऋषिकपूरअपनेघरकोबहुतमिसकररहेहैं।पिछलेकरीब10महीनेसेन्यूयॉर्कमेंऋष […]

    Continue reading

  • लंदन में फंसे भारतीयों की वापसी सात मई से शुर

    (अदितिखन्ना)लंदन,पांचमई(भाषा)भारतलॉकडाउनकेकारणदुनियाकेविभिन्नहिस्सोंमेंफंसेहुएभारतीयोंकोनिकालनेकीप्रक्रियाशुरूकररहाहै,और […]

    Continue reading

  • अब से नहीं बिकेंगी फटाफट आराम देने वाली सेरिड

    नईदिल्लीसरकारने328फिक्सडोजकॉम्बिनेशन(एफडीसी)दवाओंपरतत्कालप्रभावसेरोकलगादीहै।इनदवाओंकोअबदेशमेंबनायायाबेचानहींजासकेगा।बैनद […]

    Continue reading

  • अभिभावक बच्चों की पढ़ाई का ध्यान रखें : विधाय

    सीतापुर:क्षेत्रकेप्राथमिकविद्यालयज्योतिशाहआलमपुरमेंबुधवारकोछात्र-छात्राओंकोनिश्शुल्कड्रेसवितरितकीगई।विधायकमहेंद्रयादव,ब् […]

    Continue reading

1