पत न बनने के करण

  • रविवार को सिविल लाइंस कोतवाली में एसएसपी सेंथिल अवूदई कृष्ण राज एस ने बताया कि 14 फरवरी को करौंदी गांव निवासी विजय कुमार ने तहरीर देकर भगवानपुर थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। जिसमें बताया था कि भगवानपुर के पीएनबी के एटीएम में उनका कार्ड बदलकर खाते से एक लाख की रकम साफ कर दी थी। मुकदमा दर्ज करने के बाद से पुलिस मामले की छानबीन में लगी थी। पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे की जांच की तो इस मामले में लहबोली कोतवाली मंगलौर निवासी अनुज का नाम सामने आया। रविवार को थाना प्रभारी पीडी भट्ट, उप निरीक्षक ब्रजपाल सिंह की टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के बाद उसके एक और साथी अंकित निवासी ग्राम मरतोली, थाना देवबंद जिला सहारनपुर का नाम भी सामने आया। पुलिस ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया। आरोपितों के कब्जे से 90 हजार की नकदी, छह एटीएम कार्ड और एक सियाज कार बरामद की गई। आरोपितों ने बताया कि इस गैंग में उसके दो अन्य साथी है। जिनके नाम नीटू निवासी चरथावल जिला मुजफ्फरनगर तथा परवेज निवासी बहादाबाद है। नीटू एक मामले में मुजफ्फरनगर जेल में बंद है। जबकि परवेज हरिद्वार की रोशनाबाद जेल में बंद है। अनुज ने पुलिस को बताया कि वह 2020 में एटीएम कार्ड बदलने के चक्कर में मुजफ्फरनगर जेल में रह चुका है। दो माह पहले ही वह छूट कर आया है। आरोपित ने बताया कि उसका साथी अंकित रेकी करता था। जबकि वह झांसा देकर कार्ड बदलता था। आरोपितों ने बताया कि उन्होंने राजस्थान के जयपुर में एटीएम कार्ड बदलकर ठगी की कई वारदात की है। इस पर पुलिस ने जोधपुर पुलिस को सूचना दे दी है। शीघ्र ही जोधपुर थाने की पुलिस भी आकर आरोपितों से पूछताछ करेगी। एसएसपी ने पुलिस टीम को ढाई हजार के इनाम की घोषणा की है। एसएसएपी ने बताया कि आरोपितों से अन्य घटनाओं की जानकारी ली जा रही है। इस मौके पर एसपी देहात प्रमेंद्र डोबाल, सीओ बहादुर सिंह चौहान मौजूद रहे।
  • अंकित गोयल को एडीए बनने पर किया सम्मानित

    जेएनएन,धूरी,संगरूर:सिविलकोर्टधूरीमेंबतौरएडवोकेटअपनीसेवाएंनिभानेवालेअंकितगोयलकोजिलासहायकअटार्नीबननेपरइंडस्ट्रीचैंबरकेप्रध […]

    Continue reading

1