वेंटिलेटर कमरों में कैद, अंबू बैग देता सांसें

जागरणसंवाददाता,फतेहपुर:टूटतीसांसोंकोवेंटिलेटरकेजरिएबचानेकीसुविधातोहै,लेकिनइनकेसंचालनकोअधिकृतस्टाफनहोनेकेकारणआजभीओटीवआइसीयूमेंअंबूबैगसेहीसांसेंदीजारहीहैं।करोड़ोंकेखर्चपरआएवेंटिलेटरतालेमेंकैदहैं।जीहां,यहहालातजिलाअस्पतालवसीएचसीबिदकी,थरियांववखागाकेहैं।

गंभीरमरीजकीसांसेंरुकनेलगेंतोउसेवेंटिलेटरमेंलगाकरमशीनसेसांसेंदेकरजानबचाईजासकतीहै।निजीअस्पतालोंमेंऐसाहोताभीहै।जिलाअस्पतालपुरुषवमहिलाकेअलावाकोरोनाउपचारकेलिएतैयारसामुदायिकअस्पतालथरियांव,बिदकीतथाइंजीनियरिगकालेजखागामेंमरीजोंकेप्रयोगकेलिएवेंटिलेटरलगेभीहैं,लेकिनइनकोचलानेवालाकोईनहींहै।नतीजाकिबीतेएकसालसेइनमशीनोंपरकपड़ाडालकररखदियागयाहै।जिलाअस्पतालकेट्रामासेंटरकीऊपरीमंजिलमेंविशेषकक्षऔरजिलाअस्पतालनेबनेंआइसीयूकक्षमेंवेंटिलेटरतोलगादिएगएहैं,लेकिनसंचालननहींहोपारहाहै।अस्पतालोंमेंअव्यवस्थाएंखत्महोनेकानामनहींलेरहीं।सुविधाओंसेलैसअस्पतालोंमेंमरीजोंकीजानबचानेकेलिएतीमारदारअबभीअंबूबैगसेआक्सीजनदेनेकोमजबूरहैं।

पैरवीकेबादभीनहींमिलास्टाफ

वेंटिलेटरचलानेकेलिएप्रशिक्षितस्टाफजिलेकोमिलेइसकेलिएकेंद्रीयमंत्रीसाध्वीनिरंजनज्योतिएवंडीएमअपूर्वाप्रयागराजमंडलतकपैरवीकरचुकींहैं,कमिश्नरकीतरफसेआश्वासनभीमिलाथा।लेकिनआजतकजिलेकोवेंटिलेटरचलानेकेलिएप्रशिक्षितस्टाफनहींमिलसकाहै।एनेस्थीसियाकेडाक्टरचलारहेथेवेंटिलेटर

सीएमओराजेंद्रसिंहनेकहाकोरोनाअस्पतालफिलहालबंदहैं,लेकिनजबदूसरीलहरकेदौरानयहचलरहेथेतोजरूरतपड़नेपरएनेस्थीसियावालेचिकित्सकोंसेवेंटिलेटरचलवाएगएथे।जरूरतपड़नेपरयहफिरचलाएंगे।जिलाअस्पतालकेवेंटिलेटरकैसेचलरहेहैंयहसीएमएसबतासकतेहैं।फिजीशियनकोदिलायागयाथाप्रशिक्षण

सीएमएसडा.प्रभाकरजिलाअस्पतालमें12वेंटिलेटरहैं,चलानेकोअलगसेस्टाफनहींमिलाहै,लेकिनअस्पतालकेफिजीशियनवएनेस्थीसियाकेडाक्टरोंकोप्रशिक्षणदिलाकरवेंटिलेटरसंचालनकासंचालनकरनेकानिर्देशदियागयाहै।जोडाक्टरयहनहींकररहेहैंउनकेखिलाफकार्रवाईकीजाएगी।

वेंटिलेटरसुविधाएकनजर

कुलवेंटिलेटरकीसंख्या-41

जिलाअस्पतालमेंलगे-12

तीनकोरोनाअस्पतालोंमेंलगे-27

रिजर्वमेंरखेगएहै------------02यहांहैवेंटिलेटरकीसुविधा

जिलाअस्पतालट्रामासेंटर,जिलाअस्पताल,महिलाअस्पतालबेबीबार्नयूनिट,सीएचसीथरियांव,सीएचसीबिदकी,कोरोनाअस्पतालइंजीनियरिगकालेजखागा।