वायरल फीवर ने जकड़े धर्मशाला के बच्चे

संवादसहयोगी,धर्मशाला:धर्मशालावआसपासक्षेत्रोंकेनौनिहालवायरलफीवरकीचपेटमेंआगएहैं।क्षेत्रीयअस्पतालधर्मशालामेंहररोजसुबह10सेशामतकशिशुरोगओपीडीमेंमरीजोंकीलंबीकतारेंलगरहीहैं।अस्पतालमेंदिनभरअन्यबीमारियोंकेमरीजोंकीसंख्याऔसतन50से70केकरीबपहुंचरहीहै,वहींदूसरीओरसेचाइल्डओपीडीमेंजांचकरवानेवालेमरीजोंकीसंख्यादोसौसेपारपहुंचरहीहै।अस्पतालमेंयहक्रमएकसप्ताहसेजारीहै।

बुधवारकोचिल्ड्रनओपीडीकेबाहरअपनेबच्चोंकोलेकरबारीकाइंतजारकरनेबैठीपासुसेसुमनादेवी,सुनीता,खनियारासेरमादेवी,गुमरूसेदीक्षाकाकहनाहैकिएकसप्ताहसेउनकेबच्चोंकोबुखारहै।शुरूमेंगांवमेंहीदवाइयांलीं,लेकिनकोईफायदानहोनेपरवेक्षेत्रीयअस्पतालधर्मशालापहुंचीहैं।सुबहकरीबसाढ़े10बजेपर्चीबनवाईहै,लेकिनभीड़ज्यादाहोनेतकअभीतकबारीनहींआईहै।

कैसेहोताहैवारयलफीवर

मौसमकेबदलनेकेसमयवायरलफीवरहोताहै।जबभीमौसमबदलताहैतबतापमानकेउतार-चढ़ावकेकारणशरीरकाइम्यूनसिस्टम(रोगप्रतिरोधकक्षमता)थोड़ाकमजोरहोजाताहैजिसकेकारणवायरससेशरीरजल्दसंक्रमितहोजाताहै।वैसेतोवायरलफीवरकेलक्षणअन्यआमफीवरकीतरहहीहोतेहैं,लेकिनइसकोनजरअंदाजकरनेपरअवस्थागंभीरहोसकतीहै।

धर्मशालाअस्पतालमेंचाइल्डओपीडीकाआंकड़ा

7अक्टूबरशनिवार:201

9अक्टूबरसोमवार:265

10अक्टूबरमंगलवार:215

11अक्टूबरबुधवार:184

वीरवारदोपहरतककरीब150

थकानहोने,मासपेशियोंयाबदनमेंदर्दहोने,लंबेसमयतकतेजबुखार,खासी,जोड़ोंमेंदर्द,दस्त,त्वचाकेऊपररैशज,सर्दी,गलेमेंदर्द,सिरदर्द,आखोंमेंलालीऔरजलनहोनाइसकेलक्षणहोतेहैं।

बचावएवंविशेषज्ञसलाह

बच्चोंकोबुखारहोनेपरडॉक्टरसेजांचकरवाएंऔरदवाईलें।बच्चोंकीडाइटबढ़ादें,ताकिउनकीरोगप्रतिरोधकक्षमताबढ़सके।बच्चेयदिखानाखानेकेलिएमनाकरेंतोखानाबंदयाकमनखानेदें।पोष्टिकखानावसूपकासेवनकरवाएं।वायरलफीवरहोनेपरसबसेबड़ीबातकाध्यानरखेंकिबच्चोंकोस्कूलनभेजें,क्योंकिइससेवायरलफीवरअन्यबच्चोंमेंभीफैलजाताहै।

डॉ.अतुलगुप्ता,शिशुरोगविशेषज्ञजोनलअस्पतालधर्मशाला।