वाराणसी हाइवे के रास्ते पश्चिम बंगाल और फिर वहां से पशुओं को पहुंचाया जाता है बांग्लादेश

देशकीप्रचीननगरीकेसाथहीसांस्कृतिकराजधानीवाराणसीअबपशुओंकीस्मगलिंगकागढ़बनताजारहाहै।आस-पासकेजिलोंसेपशुओंकोग्रामीणइलाकोंकेरास्तेसेवाराणसीकीसीमामेंलायाजाताहैऔरयहांसेहाइवेकेरास्तेपश्चिमबंगाललेजायाजाताहै।वहांसेपशुओंकोबार्डरपारकराकरबांग्लादेशपहुंचादियाजाताहै।

इसकाखुलासाबॉर्डरसिक्योरिटीफोर्स(BSF)कीरिपोर्टसेहुआहै।जानकारीकेअनुसार,बॉर्डरपरबीएसएफकेजवानप्रतिदिनलगभग250पशुओंकोबॉर्डरपारकरानेकेप्रयासकेदौरानपकड़तेहैं।पशुतस्करोंकेहौसलेइतनेबुलंदहैंकिटीमकोदेखकरउन्हेंकुचलनेकाप्रयासतककरनेसेनहींचूकतेहैं।

ऐसेहुआमामलाउजागर

मार्चमेंहोलीकेबादवाराणसीकेराजातालाबतहसीलकेपासप्रयागराज-वाराणसीहाइवेपरकोलकाताकीओरजारहेकंटेनरमेंलगीआगकेबादतस्करोंकीकरतूतसामनेआईथी।आगलगतेहीचालकऔरखलासीमौकेसेफरारहोगए।ऐसाइसलिएहुआक्योंकिवेजानतेथेकिकंटेनरकोबचानेसेज्यादाजरूरीअपनीपहचानछिपानाथा।कंटेनरकानंबरगुजरातकाथा।अभीतकपुलिसयहपतानहींलगापाईहैकिकंटेनरकिसकाथाऔरकहांसेकहांजारहाथा।

केस01-साल2021मेंरोहनियाथानेकीपुलिसनेचेकिंगकेदौरानकंटेनरकोरोकनेकाप्रयासकिया,तोचालकनेपुलिसकर्मियोंकोकुचलनेकाप्रयासकिया।हालांकि,बादमेंउसकीघेराबंदीकरपुलिसनेतीनपशुतस्करोंकोपकड़लियाथा।उससमयभीकंटेनरसे25गोवंशमिलेथे,जिसमेंसेतीनकीमौतहोगईथी।

केस02-प्रयागराजकेघूरपुरपुलिसनेपांचगोवंशसेभरेपिकअपकोहालहीमेंजब्तकरतेहुएदोपशुतस्करोंकोपकड़ाथा।पिकअपमेंगोवंशोंकोबेरहमीसेभरागयाथाऔरउनकीहालतबहुतखराबथी।हालांकि,इसकेबादभीइलाकेमेंपशुतस्करीकीसूचनाएंमिलतीरहतीहैं।

कर्मनाशानदीकोपारकराकरपहुंचातेहैंबिहार

पिछलेएकसालमेंलंका,रामनगर,रोहनियांऔरमिर्जामुरादथानाकीपुलिसनेकईदर्जनपशुतस्करोंकोपकड़ाहै।मिर्जापुर,चंदौलीमेंभीपशुतस्करोंकीगाड़ियांपकड़ीगईहैं।तस्करीकेमामलेमेंरामपुरपुलिसचौकीक्षेत्रहमेशासेहीबदनामहै।गांवकेरास्तेपशुतस्करअपनेवाहनोंकोबिहारमेंपहुंचादेतेहैं।पशुओंकोकर्मनाशानदीकेरास्तेभीबिहारपहुंचायाजाताहै।

आंकड़ेचौंकानेवालेहैं

भारतसेबांग्लादेशतकगोवंशकीतस्करीकेआंकड़ेभीचौंकातेहैं।बीएसएफकेमुताबिक,भारतसेहरसालकरीबसाढ़ेतीनलाखगोवंशकोबांग्लादेशकीसीमापारकरायाजाताहै।इसकासालानाकारोबार15हजारकरोड़रुपएसेअधिककाहै।बीएसफसूत्रोंकेअनुसार,बांग्लादेशबॉर्डरएरियासेतस्करीकेप्रयासमेंप्रतिदिनबीएसएफकेजवानलगभग250गोवंशोंकोबरामदकरतेहैं।

इनरास्तोंसेहोकरगुजरतेहैंपशुतस्कर

पुलिससूत्रोंकेअनुसार,इलाहाबादऔरकानपुरसेगाय-बैललादकरआनेवालेवाहनभदोहीकेऊंज,गोपीगंजऔरऔराईहोतेहुएजिलेकेमिर्जामुराद,रोहनिया,लंकाऔररामनगरहोतेहुएचंदौलीमेंप्रवेशकरतेहैं।वहांसेअलीनगर,चंदौलीथानेसेसैयदराजाकाबॉर्डरक्रॉसकरबिहारमेंघुसजातेहैं।बिहारमेंघुसनेकेबादवेसीधेपश्चिमबंगालकारास्तापकड़लेतेहैं।कंटेनरकेअंदरबेरहमीसेगोवंशभरेहोतेहैं।वेएकदूसरेपरचढ़ेहुएऔरबहुतबुरीदशामेंबांधेहुएहोतेहैं।

पुलिसकीसख्तीकेबादबदलदियातस्करीकातरीका

वाराणसीकमिश्नरेटकेगठनकेबादपुलिसनेसख्तीकीऔरस्मगलिंगरोकनेकाप्रयासभीकिया।सख्तीबढ़ी,तोस्मगलरोंनेतरीकाबदललियाऔरपुलिसकेसाथसभीकोलगाकिस्मगलिंगपररोकलगगईहै।कंटेनरकीघटनानेपुलिसकीकार्यशैलीपरभीसवालउठायादिया।हालातयहहैंकिआजभीसुबहऔरदेररातकंटेनरसेपशुओंकीस्मगलिंगहोरहीहै,लेकिनइसेकहींभीचेकनहींकियाजाताहै।वहहाइवेकेरास्तेपश्चिमबंगालतकपहुंचजातेहैंऔरवहींसेबांग्लादेशकेलिएपशुओंकीतस्करीहोजातीहै।

3.5लाखगोवंशकोचोरीछिपेबांग्लादेशकीसीमापारबेचाजाताहै।15हजारकरोड़रुपएसेअधिकतस्करीकायहकारोबारकाहै।250गोवंशोंकोरोजबरामदकरतेहैंबांग्लादेशसीमापरतैनातबीएसएफकेजवान।