UP: नगरीय निकायों के सामने खड़ा हो सकता वित्तीय संकट, धनराशि में 1922 करोड़ की होगी कटौती

लखनऊ[राज्यब्यूरो]।उत्तरप्रदेशसरकारराज्यवित्तआयोगकेजरियेनगरीयनिकायोंकोदीजानेवालीधनराशिमेंभारी-भरकमकटौतीकरनेजारहीहै।सरकारनेअलग-अलगयोजनाओंमेंभुगतानकेलिएकरीब1922.37करोड़रुपयेकीकटौतीकानिर्णयकियाहै।इससेनगरीयनिकायोंकेसामनेबड़ावित्तीयसंकटखड़ाहोसकताहै।हालांकियहरकमसीवेजट्रीटमेंटप्लांट,वाटरट्रीटमेंटप्लांट,आवाराकुत्तोंकेजनसंख्यानियंत्रणवबिजलीबकायेआदिपरखर्चकीजाएगी।

दरअसल,राज्यवित्तआयोगसेमिलनेवालीधनराशिकाइस्तेमालनगरीयनिकायअवस्थापनासुविधाओंकेविकासमेंकरतेहैं।साथहीइसकाइस्तेमालनिकायस्तरपरशुरूकीगईयोजनाओंपरकरतेहैं।अबसरकारनेइसमेंकटौतीकाफैसलाकियाहै।

अपरमुख्यसचिवनगरविकासडा.रजनीशदुबेकीओरसेजारीआदेशकेमुताबिकएसटीपीकेरखरखावकेलिए350करोड़,वाटरट्रीटमेंटप्लांटकेलिए100करोड़औरश्वानोंकीजनसंख्यानियंत्रणकेलिए10करोड़रुपयेकाइस्तेमालकरकेराज्यस्तरीयनिधिबनाईजाएगी।460करोड़रुपयेकीराज्यस्तरीयनिधिइनतीनयोजनाओंमेंहीखर्चकीजाएगी।

साथहीविद्युतमार्गप्रकाशसमेतअन्यबिजलीबकायेकेलिए1237.50करोड़रुपये,पालिकाकेंद्रीयतसेवाकेअधिकारियोंवकर्मचारियोंकीपेंशनभुगतानकेलिए100करोड़रुपये,पंडितदीनदयालउपाध्यायनगरविकासयोजनाकेतहतदिएगएकर्जकेलिए84.51करोड़रुपयेसहितकुछअन्यमदोंमेंकटौतीकानिर्णयलियागयाहै।इसमेंकुल1462.37करोड़रुपयेकीकटौतीकीगईहै।जानकारोंकामाननाहैकिइतनीअधिकधनराशिकीकटौतीसेनगरीयनिकायोंमेंवित्तीयसंकटखड़ाहोसकताहै।