टोला सेवक के भरोसे बच्चों की शिक्षा

मधुबनी।संस:शिक्षक-शिक्षिकाओंकीलापरवाहीऔरआमलोगोंकीउदासीनतासेविद्यालयोंमेंपढ़ाईकीबसखानापूर्तिकीजारहीहै।सरकारप्राथमिकशिक्षाकेनामपरपैसापानीकीतरहबहारहीहै।मगरप्रखंडमेंप्राथमिकशिक्षाकाहालदेखकरऐसाहीलगताहैकिसारापैसापानीमेहीजारहाहै।एमडीएमकेनामपरस्कूलोंमेंलूटकाखुलाखेलजारीहै।सरकारीउदासीनताऔरविभागीयलापरवाहीकेकारणप्रखंडमेंशिक्षाव्यवस्थापूरीतरहबदहालहोचुकीहै।अधिकारियोंकीउदासीनतासेपूरेप्रखंडक्षेत्रकेविद्यालयोंमेंशिक्षाऔरमध्याह्नभोजनयोजनापूरीतरहपटरीसेउतराहुआदिखताहै।प्राथमिकशिक्षाकासूरतेहालजाननेकेलिएजागरणनेबुधवारकोनवसृजितप्राथमिकविद्यालयडुमराएराजीकाजायजालिया।स्कूलकाहालदेखकरहमभौंचकरहगए।महादलितबच्चोंकेशिक्षास्तरमेंसुधारकेलिएसरकारकीसारीकोशिशोंकाकिसतरहशिक्षकोंऔरशिक्षाविभागद्वारामजाकउड़ायाजारहाहैइसकीसच्चीतस्वीरयहांदेखनेकोमिली।

बुधवारकीसुबहकरीबदसबजेहमडुमराएराजीविद्यालयपहुंचे।स्कूलकेहरकमरेमेंतालालगामिला।साथहीस्कूलकाकार्यालयकक्षभीभीबंदथा।हमथोड़ाअंदरकीतरफगए।वहांएकक्लासरूमखुलाथा।करीब20बच्चेक्लासरूममेंमौजूदथे।दोलोगक्लासरूममेंबच्चोंकोपढ़ारहेथे।हमनेउनकोअपनापरिचयदिया।पताचलाकिवेलोगटोलासेवकहैं।जानकारीमिलीकिटोलासेवकसंजयकुमारसाफीऔरओमप्रकाशसाफीकेऊपरबच्चोंकाभारदेप्रधानाध्यपिकमीराकुमारीकिसीकामसेघरगईथीं।स्कूलमेंकुल2शिक्षिकाहीहैं।दोनोंबुधवारकोस्कूलसेअनुपस्थितथीं।दूसरीशिक्षकाभीकरीब10दिनोंसेमेडिकललीवपेहै।स्कूलमेंनामांकितबच्चोंकीसंख्याकरीब100बताईगई।जबकिबुधवारकोस्कूलमेंमात्र25बच्चेउपस्थितमिले।एकहीकमरेमेंबच्चोंकोबैठायागयाथा।

हमरसोईकक्षमेंगए।रसोईकक्षकाछप्परउड़ाहुआथा।उससमयगांवकाकोईऔरवहांखानाबनारहाथा।पताचलाकिबच्चोंकोसुबह9बजेहीएमडीएमखिलादियागया।बच्चोंनेबतायाकीदाल,हरीसब्•ाीऔरफलयाअंडेकभीनहींमिलताहै।औरएमडीएमभीहफ्तेमेंतीनयाचारदिनहीमिलताहै।फलयाअंडेकेबारेमेंपूछनेपरकहाजाताहैकिइसकापैसाअबतकनहींमिलाहै।

स्कूलमेंसभीकमरोंमेतालालगाहुआथा।बतायागयाकुछक्लासऊपरचलतीहै।हमजायजालेनेऊपरगए।ऊपरसारेकमरेबंदथेऔरउनपेतालालटकरहाथा।सीढि़योंकेपासबहुतसाराकूड़ाकचराबांधकेरखाहुआथा।चारोंतरहगंदगी,मकड़ीकेजालेऔरकचराजमाहुआथा।ऐसालगरहाथाजैसेसालोंसेकोईऊपरनहींआयाहो।ऊपरकेकमरेभीकाफीगंदेथे।ऊपरकोईविस्तारलगाकरआरामसेसोयाहुआथा।स्कूलकाएकमात्रशौचालयखराबपड़ाथा।पताचलाकिबच्चोंऔरशिक्षकोंकोशौचकेलिएआधाकिलोमीटरदूरजानापड़ताहै।एकचापाकलसहीहालातमेंथा।मगरउसकेपासभीकाफीगंदगीजमाहुआथा।स्कूलकेबच्चेकिसीभीसवालकासहीजवाबनहींदेपारहेथे।एकभीबच्चाशुद्ध-शुद्ध¨हदीनहीपढ़पारहाथा।नाकिसीकोजिला,राज्य,राजधानीकापताथानकोईबच्चागणितकेसाधारणसवालोंकाजबाबदेनेमेंसक्षमथा।पताचलाशायदहीकोईअधिकारीयहांकिसीभीतरहकीजांचकेलिएकभीपहुंचताहो।ऐसेमेंसहजहीकल्पनाकीजासकतीहैकिप्रखंडमेंप्राथमिकशिक्षाकेनामपरकिसतरहहमारेनौनिहालोंकाभविष्यबर्बादकियाजारहाहैऔरबच्चोंकेनामपरविद्यालयोंमेंएमडीएमकेनामपरकिसतरहखुलेआमबच्चोंकेहककोलूटाजारहाहै।