सुखेत में कृषि विज्ञान केंद्र की स्थापना से किसानों में खुशी

मधुबनी।झंझारपुरकोभलेहीजिलाबनानेकीघोषणानहींकीगईहो।किन्तुविकासकीसीढ़ीपररेंगतेहुएयहांकेलोगोंकोजिलाकादर्जादिलानेकेकरीबअवश्यपहुंचानेलगाहै।झंझारपुरमेंएडीजेकोर्टकीस्थापनाकेसाथहीप्रस्तावितमेडिकलकॉलेजआदिविकासात्मककार्योंसेजिलाकासपनासाकारहोतेअवश्यदिखाईदेनेलगाहै।इतनाहीनहींविकासकेइसकड़ीमेंकृषिविज्ञानकेंद्रकीस्थापनानेयहांकेलोगों,खासकरकिसानोंकेलिएआनेवालेदिनोंमेंसंजीवनीकाकार्यकरेगा।मालूमहोकिअनुमंडलमुख्यालयसेसटेसुखेतपंचायतस्थितराजकीयबीजगुणनप्रक्षेत्रकोकृषिविज्ञानकेंद्रकेरूपमेंभारतसरकारद्वाराउद्घाटनकरदियागयाहै।कहाजाताहैयहकेंद्रइसअनुमंडलहीनहींसंपूर्णजिलाकेकिसानोंकेलिएसंजीवनीसाबितहोगा।सुखेतगांवमेंकृषिविज्ञानकेंद्रकीस्थापनाकेलिएतत्कालीनस्थानीयसांसदवीरेंद्रकुमारचौधरीकेद्वाराभारतसरकारकोप्रस्तावभेजागयाकीइसजिलामेंमात्रएकहीकेभीकेबसैठचैनपुरमेंस्थापितहै।जिसकेकारणजिलाकेपूर्वीभागकेकिसानकोकृषितकनीकीकालाभनहींमिलपाताऔरनहीआधुनिकवैज्ञानिकखेतीसेकिसानलाभान्वितहोपातेहैं।इसविषयकीगहनअध्ययनकेबादभारतसरकारकेतत्कालीनकृषिमंत्रीराधामोहनसिंहनेविभागकेवैज्ञानिकोंएवंपदाधिकारीकेटीमद्वारा2015मेंहीस्थलनिरीक्षणकरासकारात्मकरिपोर्टबिहारसरकारऔरभारतसरकारकोप्रेषितकियागयाथा।उसकेवादविहारसरकारजिलाकेपूर्वीभागमेंएकमात्रकेभीकेकीआवश्यकताएवंकृषिविकासकी²ष्टिसेराजकीयबीजगुणनप्रक्षेत्रकोकृषिविज्ञानकेंद्रसुखेतकेलिएअपनीस्वीकृतिप्रदानकरदियागया।कृषिनिदेशालयबिहारकेप्रधानसचिवकृषिविभागपटनाद्वारापत्रांक1014दिनांक15फरवरी2019कोकुलपतिडॉ.राजेन्द्रप्रसादकेंद्रीयकृषिविश्वविद्यालयपूसासमस्तीपुरकोकेभीकेकेलिएभूमिसंरचनाओंतथाउपकरणोंकोअधिकारमेंरखनेकीअनुमतिदेदीऔरइसकार्यकेसफलसंचालनहेतुराजेन्द्रकृषिविश्वविद्यालयकेद्वाराचलरहेधानअनुसंधानकेंद्रझंझारपुरकेवैज्ञानिकसहप्रभारीडॉ.सुधीरदासकोप्रभारीकेतौरपरनियुक्तकियागया।किसानसलाहकारसहबीजगुणनप्रक्षेत्रसुखेतकेप्रभारीअजयकुमारदासनेजानकारीदेतेहुएबतायाकिइसकेंद्रकीस्थापनाकेलिए10हेक्टेयरभूमिउपलब्धहै।रब्बी2018-19तकविहारसरकारकेद्वाराबीजकाउत्पादनकार्यकियागयाहै।खरीफ2019सेनवतकनीकीऔरनईदिशाकेसाथकृषिविज्ञानकेंद्रकेद्वाराखेतीकार्यप्रारंभकियाजानासंभावितहै।उन्होंनेबतायाकिमुख्यरूपसेयहांकिसानोंकोप्रशिक्षणकार्य,मिट्टीजांच,अनुसंधानकार्य,नवतकनीकीकाकिसानोंकोप्रत्यक्षणदिखाकरतुलनात्मकअध्ययनकरानाहै।सुखेतमेंकेभीकेकीस्थापनासेयहांकिसानोंमेंकाफीखुशीहै।केभीकेकीस्थापनापरप्रखण्डआत्माकेअध्यक्षश्यामचंद्रसाहु,प्रगतिशीलकिसानसहबैज्ञानिकबेनामप्रसाद,तत्कालीनजिलापार्षदरमणकुमारदास,महेश्वरठाकुर,शिवकुमारमहतो,विदेश्वरराउत,पिटूदास,उत्तनेश्वरसिंह,जयप्रकाशमहतो,सूर्यनारायणठाकुर,श्यामनारायणयादव,वैद्यनाथझा,मिश्रीलालयादवआदिनेप्रसन्नताव्यक्तकरतेहुएबतायाकिकेभीकेकीस्थापनाझंझारपुरजिलाकेलिएएककदमआगेबढ़ादियाहै।