स्कंदमाता देती हैं धैर्य का संदेश : प. पवन गौड़

संवादसहयोगी,मोगा

श्रीसनातनधर्महरिमंदिरमेंनवरात्रकेउपलक्ष्यमेंदुर्गास्तुतिकेपाठजारीहैं।इसकेतहतबुधवारकोभक्तोंनेमांदुर्गाकेपांचवेंस्वरूपस्कंदमाताकीपूजा-अर्चनाकी।

मंदिरकेपुजारीएवंकथावाचकपवनगौड़नेबतायाकिनवरात्रकापांचवादिनस्कंदमाताकीउपासनाकादिनहोताहै।भगवतीकीशक्तिसेउत्पन्नसनतकुमारअर्थातस्कंदकीमाताहोनेसेवहस्कंदमाताकहलाई।स्कंदमाताहरस्थितिमेंधैर्यबनाएरखनेकासंदेशदेतीहैं।यहमोक्षकेद्वारखोलनेवालीपरमसुखदायीमाताहै।मांअपनेश्रद्धालुओंकीसमस्तइच्छाओंकीपूर्तिकरतीहैं।नवदुर्गाकीपूजाकरनेसेउत्तमफलकीप्राप्तिहोतीहै।वहींकईजन्मोंकेपापखत्महोतेहैं।नवरात्रमेंमाताकीपूजावगुणगानकरनेसेसमस्तमनोकामनाएंपूर्णहोतीहैं।व्यक्तिजिसरूपमेंनवदुर्गाकीपूजाकरताहै,उसीरूपमेंफलप्राप्तकरताहै।मांकाध्यानजीवनकेकठिनसमयमेंभीहमारेभीतरआशावविश्वासकीज्योतिजलाताहै।

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!