शिशु मृत्यु दर का बड़ा कारण है हाथों की गंदगी : डीईओ

लोहरदगा:अंतरराष्ट्रीयहाथधुलाईदिवसकेअवसरपरराजकीयकृतमध्यविद्यालयनवाड़ीपाड़ामेंविद्यालयपरिवारकीओरसेलोगोंकोनियमितरूपसेहाथधोनेकेलिएप्रेरितकरनेकेलिएहाथधुलाईकार्यक्रमकाआयोजनकियागया।कार्यक्रममेंलोगोंकोस्वच्छताकेप्रतिप्रेरितकियागया।कार्यक्रममेंमुख्यअतिथिकेरूपमेंउपस्थितजिलाशिक्षापदाधिकारीरतनकुमारमहावारनेकहाकिहाथधुलाईकीसमस्यासिर्फभारतमेंनहींहै,बल्किविश्वकेअन्यदेशोंमेंभीहै।जहांबिनाहाथधोएभोजनआदिकाप्रयोगकरतेहैं।जिसकेकारणगंदगीपेटमेंचलीजातीहैऔरतरह-तरहकीबीमारियांउत्पन्नहोतीहैं।हाथोंकीगंदगीशिशुमृत्युदरकाएकबड़ाकारणहै।घरकेआसपासलोगोंकोभीहाथधुलाईकेफायदेबतलाएं।लोगोंकोहाथधुलाईकेलिएप्रेरितकरें।यूनिसेफकेप्रतिनिधिअर¨वदकुमार¨सहनेकहाकिशौचकेबादऔरभोजनसेपहलेसाबुनसेहाथकोअच्छीतरहअवश्यधोनाचाहिए।विद्यालयकेप्रधानाध्यापकअरुणरामनेकहाकिसबसेपुरानीसभ्यताऔरसंस्कृतिहड़प्पासभ्यतासंस्कृतिहै।हाथधुलाईनहींकरनेकेकारणडायरिया,अतिसारजैसीबीमारीहोतीहै।उपस्थितसभीबच्चोंनेहाथधुलाईकेसभीआयामोंकाप्रदर्शनकियाऔरस्वच्छताकीशपथली।कार्यक्रमकाधन्यवादज्ञापनशिक्षकप्रदीपकुमारनेकिया।कार्यक्रममेंशिक्षिकानिर्मलामिश्रा,अजयकुमार,नेमहंती¨मज,मनीषकुमार,मातासमितिकीसंयोजिकाअनीताउरांव,रसोईयासुनीतादेवी,सुमनदेवी,पुष्पादेवी,उर्सूलाइनप्राथमिकशिक्षकप्रशिक्षणमहिलामहाविद्यालयकीप्रशिक्षुशिक्षिकाएंमौजूदथी।