शहीदों की कुर्बानियां कभी न भूलें : प्रिसिपल

संवादसूत्र,मलोट(श्रीमुक्तसरसाहिब)

न्यूगोबिदनगरस्थितचंद्रमॉडलहाईस्कूलमेंश्रद्धाकेफूलअर्पितकरअमरशहीदभगतसिंहजीकाजन्मदिवसमनायागया।इसअवसरपरस्कूलप्रिसिपलचंद्रमोहनसुथारवमुख्याध्यापिकारजनीसुथारनेविद्यार्थियोंकोसंबोधनकरतेकहाकिशहीदोंकीखातिरहमअमनचैनकीजिदगीव्यतीतकररहेहैंओरदेशकोआजादकरवानेकेलिएमहानशहीदोंकापूर्णसहयोगहै।उन्होंनेकहाकिगुलामीकीजंजीरोंसेआजादकरवानेवालेमहानशहीदोंकीकुर्बानियोंकोकभीभीभूलानानहींचाहिएबल्किउनकेद्वारादिखाएमार्गपरचलतेहुएसमाजसेवावदेशसेवामेंअपनापूर्णसहयोगदेनाचाहिएओरयहीमहानशहीदोंकोअसलीश्रद्धांजलिहै।उन्होंनेकहाकिदेशभक्तिप्रत्येकनागरिकमेंहोनीचाहिएइसकेबिनाहमदेशसेवामेंअपनासहयोगनहींकरसकते।स्कूलस्टाफसदस्योंनेअमरशहीदभगतसिंहकोश्रद्धाकेफूलअर्पितकरश्रद्धांजलिदी।

इसअवसरपरस्टाफसदस्यवीरपालकौर,नीनारानी,रमनदीपकौर,अनकोल,रजनीबाला,अमनदीप,रितुबाला,किरनबाला,ज्योतिबाला,शवीनारानी,दीपारानीवकुलदीपसिंहउपस्थितथे।

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!