सेहत ज्ञान के साथ करतीं रक्तदान

जागरणसंवाददाता,फर्रुखाबाद:शहरकेरामानंदबालिकाइंटरकॉलेजमेंव्यायामशिक्षिकादीपावलीकुमारबालिकाओंकोकॉलेजमेंशिक्षातोदेतीहीहैं,जरूरतमंदोंकोरक्तदानभीकरतीहैं।अबतकवहछहलोगोंकोरक्तदेकरजानबचाचुकीहैं।खुदतोरक्तदानकरतीहैं,सेनामेंतैनातअपनेपतिसुनीलकुमारकोरक्तदानकेलिएप्रेरितकिया।जबवहछुट्टीपरघरआतेहैंतोउनसेरक्तदानकरवातीहैं।दीपावलीकुमारबतातीहैंकिजबउनकेबेटीहुईतोउन्हेंरक्तकीजरूरतपड़ीथी।तबरक्तकामोलउन्होंनेमहसूसकियाऔरलोगोंकोइसकादानकरनाशुरूकरदिया।

शहरकोतवालीक्षेत्रकेमोहल्लाभाऊटोलाकीरहनेवालीदीपावलीकुमाररामानंदबालिकाइंटरकॉलेजमेंव्यायामकीशिक्षिकाहैं।उनकेपतिसुनीलकुमारसेनामेंतैनातहैं।उनकेतीनबच्चेहैं।इनमेंदोबेटेऔरएकबेटीहै।जबउनकेबेटीहुईतोउन्हेंखूनकेमोलकाएहसासहुआ।इसकेबादसेवहजरूरतमंदोंकोखूनदेनेलोहियाअस्पतालयाफिरअन्यजगहपरपहुंचजातीहैं।वहकहतीहैंकीबेटीकेजन्मकेदौरानउन्होंनेखूनकीकमीकोमहसूसकियाहै।अबवहचाहतीहैकिसीकीखूनकीकमीसेमौतनाहोपाए।अगरउन्हेंअस्पतालसेसूचनामिलतीहैतोवहब्लडबैंकमेंखूनदेनेपहुंचजातीहैं।