राहत : स्कूल खुले, खिले बच्चों के चेहरे

जागरणसंवाददाता,पलवल:नवंबर2020सेनौवींसे12वींऔरजनवरी2021सेछठीसेआठवींतककेविद्यार्थियोंकेलिएस्कूलखुलनेकेबादबीतेकरीबएकसालसेघरपरबैठेकक्षातीसरीसेपांचवींतकविद्यार्थियोंकेलिएभीबुधवारकोस्कूलखुलगए।स्कूलोंमेंविद्यार्थियोंकोलंबेसमयबाददेखकरशिक्षकोंऔरप्रधानाचार्योंकेचेहरेभीखिलउठे।वहीं,इतनेसमयबादस्कूलपहुंचकरशिक्षकोंऔरसहपाठियोंसेमिलकरछात्रोंकेचेहरेकीखुशीभीदेखनेलायकथी।

बतादेंकिकोरोनासंक्रमणकेकारणस्कूलमार्च2020सेबंदहुएथे,जिसकेबादछात्रआनलाइनमाध्यमसेहीपढ़ाईकररहेथे।पहलेदिनजहांनिजीस्कूलोंमें75फीसदबच्चोंनेउपस्थितिदर्जकराई।वहीं,सरकारीस्कूलमेंभीछात्रोंकीसंख्या80फीसदरही।इसबारविभागनेविद्यार्थियोंकोराहतदेतेहुएमेडिकलजांचकेप्रमाणपत्रकीअनिवार्यताखत्मकरदीहै।हालांकिविद्यार्थियोंसेस्कूलपहुंचनेपरअभिभावकोंकासहमतिपत्रजरूरमांगागया।विद्यार्थियोंकाकियास्वागत

लंबेसमयबादस्कूलमेंछात्रोंकोदेखकरप्रधानाचार्यऔरशिक्षकखुशदिखे।शिक्षकोंनेबच्चोंखुलेदिलसेस्वागतकिया।दिल्ली-मथुरारोडअलावलपुरस्थितस्वामीविवेकानंदसीनियरसेकेंडरीस्कूलकीचेयरमैनज्योतिदहियानेबतायाकिछात्रोंइसदिनकालंबेसमयसेइंतजारकररहेथे।अबजबवोघड़ीआगईहैतोउनकोविशेषसत्कारकरनेकीजरूरतथी।लंबअंतरालकेबादस्कूलआनेकीखुशीबच्चोंकेचेहरेमेंसाफदिखाईदी।स्कूलकाजायजालेनेअभिभावकभीपहुंचे

लंबेसमयबादस्कूलखुलनेसेकईअभिभावकोंमेंअपनेबच्चोंकोस्कूलभेजनेकीचिताइसकदरदिखीकिकईअभिभावकस्कूलकेपहलेदिनजायजालेनेपहुंचेहुएथे।अभिभावकोंनेस्कूलमेंजाकरकोरोनासेबचावकेसभीजरूरीइंतजामदेखे।उन्होंनेस्कूलप्रशासनसेभीबातकी।तीनघंटेलगीकक्षाएं

स्कूलोंमेंछात्रोंकीप्रार्थनासभानहींहुई।छात्रस्कूलपहुंचकरसीधाकक्षाओंमेंप्रवेशकरगए।सरकारीकीगाइडलाइनकेमुताबिकसुबहदससेडेढ़बजेतकतीनघंटेकक्षाएंचलीं।वहीं,छात्रोंकोएकदूसरेसेकापी,किताबवकोईअन्यसामग्रीभीसाझाकरनेसेमनाकियागयाहै।साथहीछात्रएक-एकसीटछोड़करकक्षामेंबैठेथे।स्कूलकेगेटपरहीसभीविद्यार्थियोंकीथर्मलस्क्रीनिगकीगई।हाथोंकोसैनिटाइजकरायागया।जोबच्चेमास्कपहनकरनहींआए,उन्हेंमास्कउपलब्धकरायागया।