पीएम ने दोहराया भारत का रुख

विशेषसंवाददातानईदिल्ली।।गुरुवारकोकोपनहेगनरवानाहोनेकेपहलेप्रधानमंत्रीमनमोहनसिंहनेअपनेबयानमेंसाफकहाकिभारतऐसीकोईभीसंधिस्वीकारनहींकरेगाजिससेभारतकेकरोड़ोंगरीबोंकीबदहालीदूरकरनेकीकोशिशोंकोधक्कालगे।डेनमार्कमेंचलरहेजलवायुसम्मेलनकेअंतिमचरणमेंराष्ट्रप्रमुखोंकीबैठकमेंभागलेनेकेलिएरवानाहोनेकेअवसरपरअपनेविशेषबयानमेंमनमोहनसिंहनेकहाकिवहविकसितदेशोंसेरचनात्मकसुझावोंकीअपेक्षाकरतेहैं।कोपेनहेगनशिखरबैठकमेंअमेरिका,चीनजैसेदेशोंकेअलावाकईबड़ेऔरछोटेदेशोंकेराष्ट्रप्रमुखभागलेंगे।इसशिखरबैठकमेंपिछले7दिसंबरसेअबतकहुईबातचीतकेनतीजोंपरचर्चाहोगीऔरकोशिशहोगीकिपृथ्वीकातापमानबढ़नेसेरोकनेकेलिएग्रीनहाउसगैसोंकेउत्सर्जनमेंकटौतीकोलेकरकोईआमसहमतिबनेलेकिनयदियहमुमकिननहींहुआतोएकराजनीतिकघोषणापत्राजारीहोनेकीउम्मीदकीजारहीहै।प्रधानमंत्रीनेसाफकहाकिविकासशीलदेशोंमेंगरीबीबनेरहनेकीकीमतपरजलवायुबदलावकीसमस्यासेनहींनिबटाजासकताहै।जलवायुसम्मेलनमेंभारतनेअपनीओरसेयहप्रस्तावरखाहैकि2020तकग्रीनहाउसगैसोंकेउत्सर्जनमें20-25प्रतिशततककीकटौतीकरेगालेकिनइसपरअंतरराष्ट्रीयनिगरानीरखनेकीइजाजतनहींदीजाएगी।मनमोहननेकहाकिअंतरराष्ट्रीयसमुदायकेएकजिम्मेदारसदस्यकेतौरपरहमनेयहवादाकियाहै।हमऔरकरनेकोतैयारहैंलेकिनइसकेलिएविकसितदेशोंकोतकनीकीसहयोगकेसाथवित्तीयसहयोगभीविकासशीलदेशोंकोदेनाहोगा।विकसितदेशोंनेशुरूमें10अरबडॉलरकेवित्तीयसहयोगकीपेशकशकीथीलेकिनअबइसेबढ़ाकर22अरबडॉलरकरदियागयाहै।भारतनेकहाहैकिग्रीनहाउसगैसोंमेंकटौतीकाकोईकानूनीवादानहींकरेंगे।सम्मेलनमें120देशोंकेनेताभागलेरहेहैं।उम्मीदकीजारहीहैकिसिंहकीराष्ट्रपतिओबामाऔरचीनीप्रधानमंत्रीवनच्यापाओसेइसमसलेपरबातचीतहोगी।