पीएम 2.5 में वृद्धि ः दिल्ली के अस्पतालों में हर हफ्ते भर्ती के लिेए आते हैं सात से अधिक मामले

(गौरवसैनी)नयीदिल्ली,23जून(भाषा)वायुमेंमौजूदप्रदूषकतत्वपीएम2.5में10यूनिटकीवृद्धिकेचलतेश्वसनसंबंधीसमस्याकीवजहसेदिल्लीमेंहरसप्ताहअस्पतालोंमेंभर्तीहोनेकेसातसेअधिकमामलेआतेहैं।मौलानाआजादमेडिकलकॉलेजद्वाराकिएगएएकअध्ययनमेंयहबातकहीगईहै।स्वास्थ्यपरवायुप्रदूषणकेप्रभावकाआकलनकरनेसंबंधीयहअध्ययनअप्रैल2019मेंशुरूकियागयाथा।इससंबंधमेंएकअधिकारीनेकहाकि15महीनेकिएगएअध्ययनकीरिपोर्टलगभगतीनमहीनेपहलेदिल्लीप्रदूषणनियंत्रणसमिति(डीपीसीसी)कोसौंपीगई।डीपीसीसीनेहीमौलानाआजादमेडिकलकॉलेज(एमएएमसी)सेइससंबंधमेंअध्ययनकरनेकोकहाथा।एमएएमसीकेसामुदायिकऔषधिविभागकीपूर्वडीनएवंप्रमुखडॉक्टरनंदिनीशर्माकेनेतृत्वमेंकिएगएइसअध्ययनमेंबाबासाहेबआंबेडकरअस्पताल,लोकनायकअस्पताल,दीनदयालउपाध्यायअस्पताल,गुरुतेगबहादुरअस्पताल,लालबहादुरशास्त्रीअस्पतालऔरमदनमोहनमालवीयअस्पतालसेआंकड़ेएकत्रकिएगए।रिपोर्टकेअनुसारअस्पतालोंमेंहृदय-श्वसनसंबंधीदिक्कतोंकेचलतेभर्तीहोनेकेमामलोंकेसंदर्भमेंवायुगुणवत्तासूचकांकऔरप्रदूषकतत्वोंकेस्तरमेंबदलावकेप्रभावकामूल्यांकनकियागया।अध्ययनमेंपताचलाकिपीएम2.5में10यूनिटकीवृद्धिहरसप्ताहश्वसनसंबंधीदिक्कतोंकेचलतेकुलमिलाकरअस्पतालोंमेंभर्तीहोनेके7.09नएमामलोंकेलिएजिम्मेदारहै।इसअध्ययनमेंयहसाक्ष्यहासिलहुआहैकिअस्पतालोंमेंहृदयएवंफेफड़ोंसंबंधीदिक्कतोंकेचलतेभर्तीहोनेकेमामलोंमेंवायुप्रदूषणबढ़नेकेसाथहीवृद्धिहोतीहै।अध्ययनमेंशामिललोगोंनेदिल्लीमेंवायुप्रदूषणकाप्रमुखकारणमोटर-वाहनोंऔरउद्योगोंकोमाना।कुछलोगोंनेइसकाकारणपरालीजलाएजानेतथापटाखोंकोमाना।