पौने दो साल बाद स्कूल गए नौनिहाल, दोस्तों को देख हुए खुश

सरकारकेआदेशकेबादसोमवारसेपौनेदोसालबादनिजीवसरकारीस्कूलोंमेंपहलीऔरदूसरीकक्षाकेछात्रोंकोभीबुलायागया।कुछछात्रऔरछात्राएंस्कूलमेंपहलीबारआतेदिखे।सभीछात्रअभिभावकोंकीअनुमतिसेस्कूलपहुंचेथे।इसदौरानबच्चोंकोअभिभावकस्कूलछोड़नेभीपहुंचे।छोटेबच्चोंकेआनेकेसमयस्कूलकेमुख्यद्वारपरकोरोनानियमोंकापालनकरतेहुएस्क्रीनिंगकरनेकेबादहाथसैनिटाइजकरवाकरप्रवेशदियागया।दोसालबादस्कूललौटेनौनिहालोंकीचहल-पहलसेरौनकदिखी।

वहींकक्षाओंमेंसभीबच्चोंकोकोरोनानियमोंकापालनकरतेहुएकतारमेंबैठायागया।एकबैंचपरएकहीबच्चेकोबैठायागया।दूसरीकक्षाकेछात्रस्कूलमेंकाफीखुशदिखे,वहींपहलीकक्षाकेछात्रपहलीबारस्कूलपरिसरवकक्षाकोदेखरहेथे।छात्रोंनेकहाकिवहअपनेदोस्तोंकोइतनेसमयसेफोनपरहीदेखतेथे,मगरअबदोसालकेअंतरालकेबादउन्हेंदेखकरखुशहैं।

प्रस्तुति:संवादसूत्र,शिमला।स्कूलकोहरदिनछुट्टीकेबादसैनिटाइजकियाजाताहै।कईअभिभावकोंकाकहनाहैकिवेअभीबच्चोंकोस्कूलनहींभेजेंगे।खासतौरपरनिजीस्कूलोंकेअभिभावकोंकायहमाननाहैकिउनकेबच्चोंकीपरीक्षाएंअभीआनलाइनहोनीचाहिए।

सुनिताचौहान,प्रधानाचार्यपरिमहलराष्ट्रीयविद्याकेंद्रस्कूल।येबोलेनौनिहाल

उसकाइसस्कूलमेंपहलादिनहै।स्कूलमेंआकरखुशीहोरहीहै,साथहीवहइसस्कूलकामाहौलदेखकरआनंदितमहसूसकररहीहै।घरमेंखेलनेकेलिएकुछनहींमिलताथा,यहांइतनेसारेबच्चेहैं।

-चारुलशर्मा,कक्षापहली।इससेपहलेवहअंकुरडेप्लेस्कूलमेंपढ़तीथी।अंकुरडेस्कूलभीबहुतअच्छाथा।वहअपनीसबसेखासअध्यापिकासुमनमैमसेमिलकरबहुतखुशहूं।स्कूलआकरअच्छालगरहाहै।

कनिकादेव,छात्रा।वहपहलेभीइसीस्कूलमेंपढ़ताथा।सुमनमैमसेमिलकरखुशहूं।उसेसबसेज्यादाखेलकूदकरनाअच्छालगताहैवसबसेज्यादाउसनेखेलकूदकोयादकिया।अबस्कूलमेंपढ़ाईभीकरूंगा।

अर्जुनठाकुर,छात्र।कोरोनासेपहलेवहउसीस्कूलमेंकेजीकक्षामेंपढ़तीथी।उससमयउसकीपसंदीदाटीचरआशामैमथीं।घरपरउसनेसबसेज्यादाउन्हेंयादकिया।अबउनसेफिरसेपढ़नेकामौकामिला।

निष्ठाशर्मा,छात्रापहलीकक्षा।वहपहलेभीइसीस्कूलमेंपढ़ताथा।उसनेसबसेज्यादाशिवानीमैमकोयादकिया।केजीकक्षामेंउसकीवर्चुअलक्लासलगीथीमगरउसेसबसेअच्छीआफलाइनकक्षालगतीहै।

दैविकदुप्टा,छात्रदूसरीकक्षा।आफलाइनपढ़नेमेंअच्छालगताहै।उसेअपनेसहपाठियोंकेसाथखेलनावसमयबितानाभीअच्छालगताहै।घरपरउसनेसबसेज्यादारीनामैमकोयादकिया।रीनामैमहिदीकीअध्यापिकाहैंवउसकासबसेप्रियविषयहिदीहै।

आरुषधीमान,छात्र।वहइससेपहलेअंकुरडेमेंपढ़तीथी।उसनेशिवानीऔररीनामैमकोसबसेज्यादायादकिया।आनलाइनपढ़नेमेंअच्छानहींलगताथा।अबस्कूलमेंपढ़ाईअच्छेसेकरपाऊंगी।

-दीक्षिताचौहान,छात्रा।

उसेस्कूलमेंआकरबहुतअच्छालगा।आनलाइनपढ़ानेकरनेपरकुछसमझनहींआताथा।स्कूलआकरअच्छालगरहाहै।आफलाइनपढ़ाईसेकाफीराहतमिलेगी।

-आहानाशर्मा,छात्रा।

राजकीयवरिष्ठमाध्यमिकपाठशालाछोटाशिमलावहइससेपहलेसरस्वतीस्कूलमेंपढ़तीथी।वहांकामाहौलभीअच्छाथा।मैंअपनीअध्यापिकासेमिलकरखुशहूं।उसेसहपाठियोंकेसाथमिलकरपढ़नावखेलनाअच्छालगा।

वंशिकाकन्याल,छात्रापहलीकक्षा।पहलेवहशनानपब्लिकस्कूलमेंपढ़तीथी।उसेसहपाठियोंकेसाथपढ़नावखेलनाअच्छालगताहै।आजस्कूलकापहलादिनथा,काफीअच्छालगरहाहै।

वंदनाप्नाईक,छात्रा।

वहपहलेआरवीकेस्कूलमेंपढ़तीथी।दोनोंहीस्कूलोंकामाहौलअच्छाहै।आजअभिभावकोंकेसाथआकरस्कूलमेंअच्छालगा।आफलाइनपढ़नेसेसमझनाआसानहोगा।

खुशप्रीतकौर,छात्रा।उसकोसबसेअच्छाआफलाइनकक्षामेंसभीकेसाथपढ़नाअच्छालगताहै।आनलाइनपढ़ाईमेंकभीमोबाइलफोननहींचलतातोकभीअन्यपरेशानीरहती।अबस्कूलमेंपढ़नेकेसाथखेलभीसकेंगे।