ऑक्सीजन की खरीद के लिए ‘जरूरी कदम नहीं उठाने’ पर केंद्र ने की केजरीवाल सरकार की खिंचाई

केंद्रनेअरविंदकेजरीवालनीतदिल्लीसरकारकोनगरकेविभिन्नअस्पतालोंकेलिएऑक्सीजनकीढुलाईकीखातिरटैंकरोंकीव्यवस्थाकरनेमेंकथितरूपसेविफलरहनेपरफटकारलगाईऔरकहाकिसमयसेकदमउठाएजानेपर"दुखदघटनाओंसेबचाजासकताथा.’’

केंद्रीयगृहसचिवअजयभल्लानेदिल्लीकेमुख्यसचिवविजयदेवकोलिखेएकतीखेपत्रमेंयहभीदावाकियाकिऑक्सीजनकीखरीदकेलिएविभिन्नजरूरीमुद्दोंकेहलकीखातिरदिल्लीसरकारकेप्रयाससमयकेअनुसार‘पर्याप्त’’नहींथेजबकिअन्यराज्यऔरकेंद्रशासितप्रदेशइससंबंधमेंबेहतरऔरपेशेवरतरीकेसेप्रयासकररहेहैं.

भल्लानेयहपत्र25अप्रैलकोलिखाथा.हालांकिमुख्यमंत्रीअरविंदकेजरीवालनेमंगलवारकोकहाकिउनकीसरकारथाईलैंडसे18‘क्रायोजेनिक’टैंकरोंऔरफ्रांससेतैयार21ऑक्सीजनसंयंत्रोंकाआयातकरेगी.केजरीवालनेकहाकिपिछलेसप्ताहकोविड​​-19मामलोंमेंभारीवृद्धिकेबीचऑक्सीजनकीकाफीकमीदेखीगईऔरपिछलेदोदिनोंमेंस्थितिमेंकाफीसुधारहुआहै.

केजरीवालनेएकऑनलाइनप्रेसवार्ताकेदौरानकहाकिअगलेमहीनेदिल्लीसरकारविभिन्नअस्पतालोंमें44ऑक्सीजनसंयंत्रस्थापितकरेगी,जिनमें21संयंत्रोंकाफ्रांससेआयातकियाजाएगा.केंद्र30अप्रैलतकआठऑक्सीजनसंयंत्रस्थापितकरेगा.मुख्यमंत्रीनेकहाकिकेंद्रनेदिल्लीकोपांचऑक्सीजनटैंकरउपलब्धकराएहैं.

उद्योगोंकोऑक्सीजनआपूर्तिरोकने,ऑक्सीजनटैंकरोंकीसुचारूआवाजाही,विदेशोंसेटैंकरमंगानेजैसेकेंद्रीयसरकारकेविभिन्नकदमोंकोरेखांकितकरतेहुएकेंद्रीयगृहसचिवनेकहाकिसभीराज्यसरकारेंऔरकेंद्रशासितप्रदेशपिछलेकुछदिनोंसेअपनेस्तरपरलगातारप्रयासकररहेहैं.इससंबंधमेंसड़कपरिवहनऔरराजमार्गमंत्रालयद्वाराएकविशेषडिजिटलसमूहकाभीगठनकियागयाहै.

भल्लानेअपनेपत्रमेंदिल्लीसरकारकेमुख्यसचिवसेइससंबंधमेंतत्कालकार्रवाईकरनेकाअनुरोधकरतेहुएकहा,"हालांकि,दिल्लीसरकारअबतकशायदहीकिसीटैंकरकीव्यवस्थाकरपाईहै,जबकिभारतसरकारद्वाराऑक्सीजनकेआवंटनकेकईदिनहोचुकेहैं."गृहसचिवनेकहाकिअभीचिकित्सीयऑक्सीजनकीआपूर्तिमेंकोईकमीनहींहैऔरदिल्लीसरकारकेअधिकारियोंकेसाथविचारविमर्शकेबाद21अप्रैलकोदिल्लीकेलिए480मीट्रिकटनजीवनरक्षकगैसकाआवंटनकियागयाथा.

उन्होंनेकहा,"हालांकि,मेरेध्यानमेंलायागयाहैकिभारतसरकारद्वारावास्तविकआवंटनकीतुलनामेंदिल्लीकोकमआपूर्तिमिलीहै,जोमुख्यरूपसेढुलायीसेसंबंधित(लॉजिस्टिक)वजहोंकेकारणहै,जिनकाराज्यसरकारद्वाराहलनहींकियागयाहै.’’भल्लानेकहाकिदिल्लीसरकारनेऑक्सीजनकेमुख्यआपूर्तिकर्ताओंमेंसेएकआइनॉक्सकोदिल्लीकेअंदरस्थित17अस्पतालोंको98एमटीगैसकीआपूर्तिकरनेकानिर्देशदियाथा,जबकिआईनॉक्सलंबेसमयसेदिल्लीकेभीतरस्थित45अस्पतालोंको105एमटीगैसकीआपूर्तिकररहीहै.

ऑक्सीजनगैसकीकमीकेकारणमरीजोंकीमौतकेसंबंधमेंभल्लानेकहा,"अगरदिल्लीसरकारद्वारासमयसेविभिन्नहितधारकों,खासकरआपूर्तिकर्ताओंऔरसंबंधितअस्पतालोंकेसाथउचित,प्रभावीऔरसार्थकविचार-विमर्शकियाहोतातोइससेबचाजासकताथा.’’

येभीपढ़ें:नितिनगडकरीनेमानादेशमेंहैऑक्सीजनकीकमी,बोले-संकटगहराहै,डॉक्टर-राजनेतासंवेदनशीलहोकरकरेंमदद