निर्माणाधीन अगुवानी सुल्तानगंज महासेतु अब सवालों की जद में

संवादसूत्र,परबत्ता(खगड़िया):बीते29अप्रैलकीरातखगड़ियासेलेकरसुल्तानगंजतक40-50किलोमीटरकीरफ्तारसेहवाचली।इसकेबाद30अप्रैलकीअलसुबहगंगानदीपरनिर्माणाधीनअगुवानी-सुल्तानगंजमहासेतुकेपायानंबरपांचकेपाससुपरस्ट्रक्चरकासेगमेंट50मीटरमेंगिरगया।इसकेबादसेहड़कंपमचाहुआहै।अबमहासेतुनिर्माणकीगुणवत्तापरसवालखड़ेहोनेलगेहैं।आखिरमामूलीआंधीकेबादसुपरस्ट्रक्चरकाढांचाकैसेगिरा?कुछदिनोंपहलेएनआइटीपटनाकीटीमवहांपहुंचकरजांचकरचुकीहै।अबसभीकीनजरआइआइटीकीजांचटीमपरटिकीहुईहै।जोसोमवारकोसमाचारलिखेजानेतकनहींपहुंचीथी।जिसकेकारणपायानंबरपांचकेपासकामरुकाहुआहै।जबतकटीमनहींपहुंचेगीऔरजांचनहींकरेगी,तबतकयहांकामनहींहोगा।पायानंबरपांचसेछहकीदूरी125मीटरहै।कहनेकामतलबअब125मीटरमेंसुपरस्ट्रक्चरकाढांचातैयारकरनेमेंवक्तलगेगा।इसमेंकमसेकमतीनमाहलगजाएगा।ऐसेमेंपुलनिर्माणसमयपरपूराहोनाभीचुनौतीहै।मालूमहोकिअगुवानी-सुल्तानगंजमहासेतुहेंगिगब्रिजहै।यहआधुनिकतमतकनीकहै।अबदेखनाहैकिआइआइटीकीटीमकबयहांआतीहैऔरजांचकरक्याकहतीहै।

बतातेचलेंकिमहासेतुकानिर्माणएसपीसिगलाकंपनीकररहीहै।एसपीसिगलाकेप्रोजेक्टडायरेक्टरआलोककुमारझानेगुणवत्तापूर्णकार्यकादावाकियाहै।क्षतिग्रस्तस्थलपरबिहारराज्यपुलनिर्माणनिगमकेकार्यपालकअभियंतायोगेंद्रकुमारलगातारदल-बलकेसाथकैंपकिएहुएहैं।पायानंबरचार,पांचऔरछहकेस्लेबक्षतिग्रस्तहोजानेऔरढांचागिरनेकेमामलेकोलेकरविशेषमंथनकियाजारहाहै।इधरएसपीसिगलाकेप्रोजेक्टडायरेक्टरआलोककुमारझानेकहाकिघटनाहोनेकेबादअबनिर्माणकार्यमेंथोड़ीदेरहोरहीहै।