New Farm Acts: किसानों का भाग्य पलट सकता है कांट्रैक्ट खेती कानून, जानिए, क्या होगा बदलाव

सुरेंद्रप्रसादसिंह,नईदिल्ली। कांट्रैक्टखेतीकेप्रावधानसेकिसानोंकाभाग्यपलटसकताहै।कांट्रैक्टकेसहारेहीकंपनियांछोटेकिसानोंकोअपनीउपजकीमार्केटिंगकेगुरसिखासकतीहैं,जिससेउनकीआमदनीमेंइजाफाहोनातयहै।कृषिमामलेमेंविशेषज्ञताकेबावजूदअपनीउपजबेचनेकेमामलेमेंकिसानहमेशासेमातखातारहाहै।कृषिक्षेत्रकीइसकमजोरकड़ीकोकांट्रैक्टखेतीकेकानूनीप्रावधानोंसेबड़ाबलमिलेगा।

देशके87फीसदछोटेकिसानोंको मिलेगा कांट्रैक्टफार्मिंग एक्टकासीधालाभ

कृषिसुधारकेलिएसंसदसेपारितकानूनोंमेंकांट्रैक्टफार्मिंग एक्टकाफीमहत्वपूर्णहै।खासतौरपरदेशके87फीसदछोटेकिसानोंकोइसकासीधालाभमिलेगा,जिनकीपहुंचमंडियोंतकनहींहै।कृषिकानूनोंकेकुछप्रावधानोंपरकिसानोंकोसंदेहहै।उन्हेंआशंकाहैकिकांट्रैक्टफार्मिंग केबहानेउनकीजमीनोंपरकारपोरेटसेक्टरकाकब्जाहोजाएगा।सरकारकोइसआशंकाकोनिर्मूलसाबितकरनेकेपुख्ताकानूनीबंदोबस्तकरनेहोंगे,ताकिकांट्रैक्टकरनेकीदिशामेंकिसानोंकाविश्वासबढ़सके।

कानूनमेंकिसानोंकीजमीनोंकीसुरक्षाकेकड़ेप्रबंध

कृषिमंत्रीनरेंद्रतोमरनेइसबारेमेंबताया,'संसदसेपारितइसकानूनमेंकिसानोंकीजमीनोंकीसुरक्षाकेकड़ेउपायकिएगएहैं।किसीभीहालमेंकिसानोंकीजमीनोंपरदूसरेपक्षकाकब्जानहींहोसकताहैऔरनहीकिसानोंकोकांट्रैक्टकेनामपरबंधकबनायाजासकताहै।विवादकेनिपटारेकेलिएएसडीएमकोर्टकीजगहसिविलकोर्टमेंसुनवाईकाप्रावधानकियाजासकताहै।'

निजीनिवेशकाआनाअत्यंतजरूरी

दरअसलजिसतेजीसेलोगोंकीजीवनशैलीऔरखानपानमेंबदलावआरहाहै,उसहिसाबसेखेतीकेस्वरूपमेंपरिवर्तनभीजरूरीहै।उपभोक्ताओंकीआमदनीबढ़नेकेसाथहीपरंपरागतअन्नाहारकीजगहअन्यपौष्टिकउत्पादोंकीमांगबढ़ीहै।डेयरीउत्पाद,मीट,मछली,पोल्ट्री,फलऔरसब्जियोंकीजरूरतेंबढ़ीहैं।इनजिंसोंवउत्पादोंकीखेतीकरनेमेंछोटेकिसानोंकोमहारतहासिलहै,लेकिनइनकिसानोंकेपासअपनीजिंसोंकीनतोमार्केटिंगकीक्षमताहैऔरनहीप्रोसेसिंगकी।इसीलिएअबतकइसकालाभबिचौलिएहीउठातेरहेहैं।इसकेलिएनिजीनिवेशकाआनाअत्यंतजरूरीहैजोकांट्रैक्टखेतीकेरास्तेआसकताहै।

खेतोंसेहीउपजकोखरीदपाएंगीकंपनियांयाबडे़उपभोक्ता

किसानोंसेकांट्रैक्ट(अनुबंध)करनेवालीकंपनियांयाबडे़उपभोक्ताउनकेखेतोंसेहीउपजकोखरीदसकतेहैं।पंजाबऔरहरियाणाजैसेराज्योंमेंइसतरहकीखेतीकाप्रावधानबहुतपहलेसेहीचलाआरहाहै,जिसकालाभवहांकेकिसानोंकोमिलभीरहाहै।लेकिनकेंद्रकेकानूनपरउन्हेंकुछआपत्तियांहैं,जिसमेंसुधारकेलिएकेंद्रसहमतहोगयाहै।किसानोंकीजमीनोंकीसुरक्षाकीपुख्तागारंटीदेनीहोगी।

कांट्रैक्टकरनाअथवानकरनाकिसानकीमर्जीपरनिर्भरकरेगा

कांट्रैक्टखेतीकानयाकानूनकिसानोंकीजमीनकोबेचने,लीजपरदेनेऔरकिसानोंकोबंधकबनानेपररोकलगाएगा।कानूनमेंयहभीप्रावधानहैकिकांट्रैक्टकरनाअथवानकरनाकिसानकीमर्जीपरनिर्भरकरेगा।किसानजबभीचाहेअपनाकांट्रैक्टरदकरसकताहै।किसानोंकेहितसंरक्षणमेंकईप्रावधानकिएगएहैं।