नदी में समाए छह लोगों के आशियाने, स्कूल के अस्तित्व पर खतरा

गोंडा:नदियोंकाजलस्तरघटनेसेकटानतेजहोगईहै।छहलोगोंकेआशियानेनदीमेंसमागएहैं।वहीं,स्कूलकेअस्तित्वपरखरामंडरारहाहै।कटानवबारिशकेकारणलोगोंनेसुरक्षितस्थानोंकीतरफपलायनशुरूकरदियाहै।

तरबगंजतहसीलकेऐलीपरसौलीमेंनदीकाजलस्तरघटनेसेकटानहोरहीहै।शनिवारकोसुबहलकड़हनपुरवामेंकटानशुरूहोगई।देखतेहीदेखतेसंतबक्शयादव,दीनदयालवननकेकीझोपड़ीनदीमेंसमागई।येलोगगोड़ियानामेंसुरक्षितस्थानपररहनेकेलिएचलेगएहैं।लेखपालअंकितवर्मानेबतायाकितीनदिनपहलेनदीकेकटानसेकेवटाहीकेफूलचंद,साहबवगुरुप्रसादकापक्कामकानकटगयाथा।इनलोगोंकोतिरपालवितरितकियागयाहै।घाघरानदीमेंहोरहीकटानसेप्राथमिकविद्यालयऐलीमाझाकाभवनधीरे-धीरेनदीमेंगिररहाहैं।नदीमेंपानीकास्तरघटरहाहै।विद्यालयमेंलगेपीपलकेपेड़केचारोंतरफनदीकटानकररहीहैं।इसविद्यालयके13मेंसेचारकमरेनदीमेंबहचुकेहैं।केंद्रीयजलआयोगकेअनुसारसरयूवघाघरा,दोनोंनदियोंकाजलस्तरखतरेकेनिशानसेनीचेहैं।एल्गिनब्रिजपरघाघरानदीखतरेकेनिशानसे33सेंटीमीटरवअयोध्यामेंसरयूनदी66सेंटीमीटरनीचेबहरहीहै।घाघरानदीमें1.66लाखक्यूसेकपानीछोड़ागयाहै।तहसीलदारतरबगंजपैगामहैदरनेबतायाकिलेखपालकेरिपोर्टकेआधारपरबाढ़पीड़ितोंकीमददकीजारहीहैं।