नैनो यूरिया के इस्तेमाल से हो सकती है अच्छी पैदावार

-------------------------------------------संवादसूत्र,राघोपुर(सुपौल):प्रखंडक्षेत्रस्थितकृषिविज्ञानकेंद्रकेकिसानसभाभवनमेंमंगलवारकोइफकोकीओरसेजिलेभरकेलाइसेंसधारीखादविक्रेताएवंसभीपैक्सअध्यक्षकाएकदिवसीयप्रशिक्षणकार्यक्रमआयोजितकियागया।कार्यक्रममेंजिलेभरकेसहकारीसमितियोंकेअध्यक्षकेसाथकईकिसानउपस्थितहुए।कार्यक्रमकाशुभारंभदीपप्रज्ज्वलितकरइफकोराज्यविपणनप्रबंधकसोमेश्वरसिंह,प्रबंधकमोहितकुमारझा,वरीयवैज्ञानिकसहप्रधानइंजीनियरप्रमोदकुमारचौधरी,शस्यविज्ञानीडा.मनोजकुमारनेसंयुक्तरूपसेकिया।मौकेपरविपणनप्रबंधकनेकहाकिमौजूदास्थितिमेंदानेदारयूरियाकेलिएकिसानपरेशानदिखतेहैं।जबकिइफकोद्वारानैनोयूरियाइस्तेमालकरकिसानअच्छीफसलकाउपायप्राप्तकरसकतेहैं।बाजारमेंपरंपरागतयूरियाकीकीमत266-50पैसाप्रतिबोरीहै।जोकिसानअदाकरताहै।इसकेअलावाऔरउसपरभारीरकमकीसब्सिडीहोतीहै।जोभारतसरकारद्वाराअदाकीजातीहै।लेकिननैनोयूरियाबिनाकिसीअनुदानकेपरंपरागतयूरियासे10त्‍‌नसस्ताहै।इसकीकीमत240रुपयेप्रति500एमएलबोतलहै।फसलमेंइसकीउपयोगितादक्षतापचासीसे90त्‍‌नहै।जोपरंपरागतयूरियासेअधिककारगरहै।नैनोएरियाकेप्रयोगसेकिसीतरहकाकोईप्रदूषणनहींहोताहै।वहींकेंद्रकेप्रधाननेसंतुलितखादकेउपयोगकेबारेमेंविस्तारपूर्वकचर्चाकरप्रशिक्षणदिया।डा.मनोजकुमारनेइफकोकेविभिन्नउत्पादोंकेबारेमेंलोगोंकोअवगतकराया।उन्होंनेसभीअध्यक्षोंसेकहाकिकिसानोंकोखाददेनेकेसाथएवंनैनोयूरियादेनेकेसाथउसकेफायदेएवंनुकसानकोअवश्यहीबताएं।जिससेकमकीमतमेंनैनोयूरियाकाइस्तेमालकरअधिकउपजप्राप्तकियाजासकताहै।मौकेपररंजीतयादव,पैक्सअध्यक्षनागेंद्रसिंह,रंजीतदास,संजीवयादव,अमितकुमार,रमेशकुमार,ओमप्रकाशसिंह,गौतमकुमार,चंद्रप्रकाशभगतसहितजिलेभरकेविक्रेताएवंअध्यक्षउपस्थितथे।