Mother's Day 2021: कड़क खाकी में छिपा हैं मां की ममता का दुलार, बच्चों को चंद घंटे ही दे पाती हैं प्यार की छांव

प्रयागराज,जेएनएन।किसीनेठीकहीकहाहै-मतपूछोपुलिसपरक्यागुजरतीहैहुजूर,तीरभीचलानाहैपरिंदेभीबचानाहै।अबजबमहामारीकोरोनाकादौरचलरहाहैतोसंक्रमणकोफैलनेसेरोकनाकाजिम्मापुलिसपरआगयाहै।ऐसेमेंमहिलापुलिसकर्मियोंकेसामनेनईचुनौतियांहैं।खासकरउनकेलिए,जिनकेघरमेंछोटे-छोटेबच्चेहैं।उन्हेंअपनीमांकेघरआनेकाबेसब्रीसेइंतजाररहताहै।मगरघरकीदहलीजपरकदमरखतेहीमासूमबच्चोंकीआवाजसुनकड़कखाकीमेंछिपामांकादुलारबाहरआजाताहै।वहगलेलगानाचाहतीहैं,लेकिनसंक्रमणकाखौफदूरीबनादेताहै।कोविडगाइडलाइनकेअनुसारहीचंदघंटेहीप्यारकीछांवदेपातीहैं।

ऐसीहीकुछकहानीहैमहिलाथानाप्रभारीदीपासिंहऔरदारोगानीलमराघवकी।कंधेपरसमाजकोबेहतरबनानेऔरकानूनकीजिम्मेदारीहैतोगोदमेंबच्चोंवपरिवारकीजिम्मेदारी।पुलिसकीड्यूटीकीतरहवहखुदकोमांकेकर्तव्यसेविमुखनहींहोनेदेतीहैं।24घंटेकीकठिनड्यूटीकेबावजूदथोड़ीदेरमेंबच्चोंपरपूराप्यारउड़ेलदेतीहैं।दीपासिंहकी13सालकीबेटीऔरसातवर्षकाबेटाअंशहै।पतिकानपुरमेंरहतेहैं।ऐसेमेंउनपरमांकेसाथहीकुछपितावालेफर्जभीनिभानेपड़जातेहैं।बकौलदीपा-रातकोजबघरपहुंचतीहैंतोबेटादौड़करआजाताहै।जीकरताहैकिउसेउठाकरगलेसेलगाकरचूमलूं।मगरकोरोनाकेचलतेपहलेस्नानऔरफिरघरमेंसैनिटाइजेशनकरनेकेबादबच्चोंकेपासजातीहैं।संक्रमणसेबचानेसेलेकरउनकीछोटी-छोटीखुशियोंकाख्यालरखनाहोताहै।कीडगंजथानेमेंतैनातदारोगानीलमराघवकेदोपुत्रहैं।आठसालकाप्रवीणऔर11सालकालवलेश।नीलमरोजानासरायइनायतसेकीडगंजड्यूटीकरनेकेलिएआतीहैं।मगरवहफोनपरबच्चोंसेबातचीतकरतीरहतीहैंऔरफिरजबघरपहुंचतीहैंतोममताकीचादरमेंखुशियांलपेटकरबच्चोंकाआलिंगनकरलेतीहैं।