मंत्री बनने पर चौधरी छोटूराम ने किसानों और मजूदरों को साहूकारी प्रथा से निजात दिलाई

जागरणसंवाददाता,रोहतक:चौधरीछोटूरामकीपुण्यतिथिपरजाटहाईस्कूलमेंहवनवशांतिसभाकाआयोजनकियागया।स्कूलमेंसमाधिस्थलपरहुएहवनमेंउचानाकीपूर्वविधायकप्रेमलताभीशामिलहुई।उन्होंनेचौधरीछोटूरामकेजीवनसेजुड़ेपहलुओंकीजानकारीदी।पूर्वविधायकनेबतायाकिचौधरीछोटूरामनिर्भिकवस्वाभिमानीथे।बचपनमेंसाहूकारोंकेव्यवहारसेउनकानजरियाबदला।सरकारमेंमंत्रीबननेपरकिसानोंऔरमजदूरोंकोसाहूकारीप्रथासेनिजातदिलाई।ब्रिटिशअधिकारीभीउनसेघबरातेथे।वहलोगोंकेअधिकारोंकेलिएशासनसेभिड़जातेथे।शिक्षाकेप्रचारकेलिएशिक्षणसंस्थाओंकीस्थापनाकी।येशिक्षणसंस्थाएंवर्तमानमेंउत्तरभारतकीप्रतिष्ठितसंस्थाएंबनकरउभरीहैं।इसमौकेपरप्रधानाचार्यडा.सुरेखाखोखर,डा.रश्मिलोहचब,सुमनलताश्योराण,डा.आनंददेशवाल,सुशीलबाल्यान,सुनीलदलाल,डा.दिलबागकादियान,वीरेंद्रसिंहतोमरआदिमौजूदरहे।

दिल्लीसेलाहौरतकथेचौधरीछोटूरामकेअनुयायी:मलिक

जागरणसंवाददाता,रोहतक:

दीनबन्धुरहबर-ए-आजमसरछोटूरामकीपुण्यतिथिपरसैकड़ोंछात्रोंनेइनसोप्रदेशउपाध्यक्षछात्रनेतादीपकमलिककेनेतृत्वमेंजाटशिक्षणसंस्थापहुंचकरचौधरीछोटूरामकीप्रतिमापरपुष्पअर्पितकिए।

दीपकमलिकनेकहाकिचौधरीछोटूरामगुलामभारतकेइकलौतेऐसेनेताथे,जिन्होंनेहमेशाअंग्रेजोंकोझुकाकरकिसानोंकेलिएकानूनबनवाएं।ऐसेअनेकवाक्यहैं,जिनमेंचौधरीसाहबकेसामनेअंग्रेजोंकोमुंहकीखानीपड़ी।चौधरीछोटूरामहिन्दु-मुस्लिमएकताकेकट्टरसमर्थकथे,वेहरधर्मवजातिमेंपूजेजातेहैं।अकेलेभारतमेंहीनहींबल्किपाकिस्तानकेकिसानभीउनकीपूजाकरतेहैं।

इसमौकेपरप्रभारीसाहिलतहलान,जाटकालेजकेप्रधानमोहितसांगवान,सुखीपुनिया,अमितमाजरा,प्रदीपघुसकानी,अंकुशमोई,हैप्पीफौगाट,निक्कूअहलावत,सुखाबालन्द,पवनहुड्डा,राहुलशर्मा,रोहितसांगवानआदिमौजूदरहे।