Madhya Pradesh Politics: मध्य प्रदेश में विधानसभा सीटों के उपचुनाव के मायाजाल में फंसेगी कांग्रेस!

मध्यप्रदेश,सद्गुरुशरण। 2020MadhyaPradeshpoliticalcrisis कुछसालपहलेतकबसपाउपचुनावकेनामसेबिदकतीथी।पार्टीकिसीभीउपचुनावमेंउम्मीदवारनहींउतारतीथी,परपिछलेकुछमहीनोंसेकाफीबदली-बदलीदिखरहीपार्टीनेमध्यप्रदेशमेंअक्टूबरमेंसंभावितसभी27विधानसभासीटोंकेउपचुनावमेंउम्मीदवारलड़ानेकीघोषणाकरकेमुकाबलेमेंएकनयाकोणपैदाकरदियाहै।बसपापहलेभीमध्यप्रदेशकीचुनावीराजनीतिमेंहिस्सालेतीरहीहै,यद्यपिउसनेनतीजोंसेकभीचौंकायानहीं।बहरहालबुंदेलखंडऔरचंबलक्षेत्रमेंइक्का-दुक्कासीटेंजीतकर,जबकिकईसीटोंपरमुख्यमुकाबलेमेंरहकरपार्टीयहजरूरसाबितकरतीरहीकिमध्यप्रदेशमेंउसकेपासपैररखनेकेलिएजमीनकीकमीनहींहै।वहखुदचुनावभलेनजीतसके,परहार-जीतकेसमीकरणोंमेंउलटफेरकरनेकीहैसियतरखतीहै।

यहबातभीउल्लेखनीयहैकिउपचुनावकी27में16सीटेंग्वालियर-चंबलक्षेत्रकीहैं,जहांसामाजिक-राजनीतिककारणोंसेबसपाकीजमीनअधिकतरअन्यअंचलोंकेमुकाबलेमजबूतहै।इसपृष्ठभूमिमेंबसपाद्वारासभीसीटोंपरचुनावमैदानमेंउतरनेकेनिश्चयसेनसिर्फराजनीतिकसरगर्मीबढ़गईहै,बल्किउसकेइसपैंतरेकीमंशापरभीअटकलबाजीशुरूहोगईहै।अधिकतरलोगोंकोलगताहैकिबसपाफैक्टरकीवजहसेकांग्रेसकीराहकठिनहोजाएगीऔरभाजपाकीआसान।बसपापिछलेकुछमहीनोंसेभाजपाकीकेंद्रऔरउत्तरप्रदेशसरकारकेप्रतिनरमीदिखारहीहैजिसपरअन्यविपक्षीदल,खासकरकांग्रेसकटाक्षभीकरचुकीहै।ऐसेमेंमध्यप्रदेशमेंउपचुनावलड़नेकीअप्रत्याशितयोजनासेबसपापरभाजपाकेसाथनजदीकीबढ़ानेकीतोहमतलगनातयहै।यहअलगबातहैकिबसपाइसआरोपकालगातारखंडनकरतीआरहीहै।

बसपाऔरकांग्रेसकाबैरजगजाहिरहै।बसपानेतृत्वकीयहटीसअक्सरव्यक्तहोतीहैकितत्कालीनकांग्रेसनेतृत्वनेडॉआंबेडकरकोसंसदपहुंचनेसेरोकनेकेलिएसाजिशरचीथी।दलितवोटबैंकपरवर्चस्वकीदृष्टिसेभीबसपाचाहतीहोगीकिकांग्रेसइसीतरहकमजोरबनीरहे।इसकेबावजूदनैतिकताकेबजायव्यावहारिकताकोमहत्वदेनेवालीबसपाउत्तरप्रदेशमेंकांग्रेसकेसाथगठबंधनकरकेएकबारविधानसभाचुनावलड़चुकीहै।उसचुनावकाअनुभवउसकेलिएअच्छानहींरहा,इसलिएदोनोंपार्टियांफिरकभीदोबारानजदीकनहींआईं।यहमानाजाताहैकि2019लोकसभाचुनावमेंबसपाकीआपत्तिकेकारणहीकांग्रेसकोउत्तरप्रदेशमेंअकेलेचुनावलड़नापड़ाथाजिससेउसकीखासीफजीहतहुईथी।कांग्रेसनेतृत्वसमय-समयपरबसपापरभाजपाकोलाभपहुंचानेकाआरोपलगतारहाहैजिसकीपरवाहकिएबगैरपार्टीमध्यप्रदेशकेउपचुनावोंमेंकांग्रेसकीपरेशानीबढ़ानेकेलिएकमरकसरहीहै।

प्रदेशकेपूर्वमुख्यमंत्रीकमलनाथलगभगरोजकहरहेहैंकिउपचुनावनतीजेआतेहीकांग्रेससत्तामेंवापसआजाएगी।कमलनाथपार्टीकीसॉफ्टहिंदुत्वकीलाइनकोभीपकड़ेहुएहैं।वहलोगोंकोसमझानेकाप्रयासकररहेहैंकिअयोध्यामेंश्रीराममंदिरकानिर्माणकांग्रेसकेप्रयासकानतीजाहै।इनप्रसंगोंसेसमझाजासकताहैकियेउपचुनावकांग्रेसकेलिएकिसकदरमहत्वपूर्णहैं,परशिवराज-ज्योतिरादित्यकीनईजोड़ीजाने-अनजानेबसपाकाकवरलेकरकिसहदतकआक्रामकहोगी,यहअनुमानलगानाभीकठिननहींहै।

दरअसलउपचुनावकामहत्वभाजपाभीसमझरहीहै,इसलिएअयोध्यामेंश्रीराममंदिरकेभूमिपूजनसेतैयारअनुकूलमाहौलकेबावजूदमुख्यमंत्रीशिवराजसिंहआएदिनकोईनकोईलोकप्रियघोषणाकरकेअपनीजमीनपुख्ताकररहेहैं।इसदृष्टिसेवहभाजपाकीरीति-नीतिसेमेलनखानेवालीयहघोषणाभीकरचुकेहैंकिसरकारीनौकरियांसिर्फमध्यप्रदेशकेअभ्यर्थियोंकोहीमिलेंगी।अतीतमेंभाजपाअन्यराज्योंकीगैरभाजपासरकारोंकेऐसेफैसलोंकासैद्धांतिकआधारपरविरोधकरतीरहीहै।इसीतरहशिवराजसरकारनेपहलीसितंबरसेकमजोरआर्थिकस्थितिवालेलोगोंकोएकरुपयेप्रतिकिलोकीदरसेगेहूं-चावलवितरितकरनेकीघोषणाकीहै।

उपचुनावज्योतिरादित्यकेलिएभीमहत्वपूर्णहै।उनकेभाजपामेंशामिलहोनेकेबादराज्यमेंयहपहलाचुनावहै।इनमें22सीटेंउनकांग्रेसविधायकोंकेइस्तीफोंसेरिक्तहुईहैंजिन्होंनेकुछमहीनेपहलेज्योतिरादित्यकेसाथबगावतकरकेकांग्रेससेकिनाराकरलियाथा।जाहिरहैकिइनविधायकोंकोभाजपाकेटिकटपरदोबाराविधानसभापहुंचानाज्योतिरादित्यकीनैतिकजिम्मेदारीभीबनतीहै।दोसीटेंविधायकोंकेनिधनसेरिक्तहैंजिनमेंभाजपाऔरकांग्रेसकीएक-एकसिटिंगसीटहै।तीनअन्यकांग्रेसविधायकोंनेकुछहीदिनपहलेइस्तीफादेकरभाजपाकादामनथामाहै।

इसमेंदोरायनहींकिउपचुनावकेनतीजेप्रदेशमेंसत्ताकेसमीकरणोंपरअसरडालेंगे।कांग्रेसयदि27में10-12सीटेंजीतजातीहैतोवहशिवराजसरकारकेसामनेवैसेहीहालातपैदाकरनेकीकोशिशकरेगी,जैसेकुछमहीनेपहलेकमलनाथसरकारकेसामनेपैदाहुएथे।पार्टीकेसूत्रस्वीकारकरतेहैंकिइसकेलिएकमलनाथनिर्दलियोंऔरकांग्रेसीपृष्ठभूमिवालेकुछभाजपाविधायकोंकेसाथहोमवर्ककररहेहैं।येबातेंभाजपानेतृत्वसेभीछिपीनहींहोंगी,इसलिएपार्टीउपचुनावमेंकांग्रेसकासूपड़ासाफकरनेकीरणनीतिअख्तियारकिएहुएहै।ऐसेहालातमेंबसपाकीभूमिकाकईसीटोंपरनिर्णायकसाबितहोसकतीहै।यहमाया-जालकांग्रेसकेलिएसबसेबड़ीचुनौतीबनगयाहै।उपचुनावनतीजोंऔरकमलनाथकीसत्तामेंवापसीकीख्वाहिशकाकाफीकुछदारोमदारइसीबातपरनिर्भरकरेगाकिकांग्रेसनेतृत्वबसपाफैक्टरसेकिसतरहपारपाताहै।

[संपादकनईदुनिया]