माउथ-फुट वायरल इंफेक्शन से बच्चों को बचाएं

राजधानीमेंडेंगूवायरसतोअपनाकहरबरसारहाहैलेकिनअबफुट-माउथइंफेक्शनकेमामलेभीतेजीसेसामनेआरहेहैं.चिंताकीबातयेहैंकियेछोटे-छोटेबच्चोंकोअपनाशिकारबनारहाहै.

अस्पतालोंमेंआजकलडेंगूकेमरीजोंकेसाथजोऔरमरीजबढ़रहेहैंवोहैंछोटे-छोटेबच्चे.येमासूमबच्चेहोरहेहैंशिकारफुटमाउथइंफेक्शनका.विशेषज्ञोंकेमुताबिकयेएकवायरलइंफेक्शनहैं.सालमेंइसकेकभी-कभारमामलेदेखनेकोमिलतेहैंलेकिनइसमौसममेंवायरसतेजीसेपनपतेहैंऔरयहीकारणहैकिइसबीमारीकेवायरसकाफीएक्टिवहोगएहैं.

रॉकलैंडअस्पतालकीबालरोगविशेषज्ञडॉ.वंदनाबतातीहैंकिउनकेपासरोजानाइसवायरलकेशिकार3-4बच्चेआरहेहैं.डॉ.वंदनाकेअनुसारपैरेंट्सबच्चोंमेंबुखार,कुछनाखापानेकीशिकायतलेकरपहुंचतेहैंऔरजबउनकोचेककियाजाताहैतोहाथ-पांवमुंहकेबाहर-अंदरतकलालरैशेशनजरआतेहैं.

मूलचंदअस्पातलमेंभीहैरान-परेशानपैरेंट्सअपनेबच्चोंकेशरीरपरलालरैशेशकीशिकायतलेकरपहुंचरहेहैं.यहींकेबालरोगविशेषज्ञडॉ.राजीवमलिककेअनुसारइनबच्चोंकीउम्र2से8सालकेबीचहै.डॉक्टरोंकेमुताबिकइसवायरलकेलक्षणोंपरध्यानदेनाजरूरीहैक्योंकियदियेबिगड़जाएतोमुंहकेछालेगलेतकपहुंचजातेहैंऔरबच्चापानीतकनहींपीपाता,उसकोएडमिटकरनापड़जाताहै.

इसवायरलकेमुख्यलक्षणहैंहल्काबुखार,गलाखराबहोजाना,जुकाम-छीकेंआनीशुरूहोजातीहै.हाथोंकीहथेलियों,पांवोंकेतलवेपरलालरैशेशदिखनेलगतेहैं.मुंहकेअंदर-बाहरलालरैशेशऔरछालेपड़ेजातेहैं.लेकिनअच्छीबातयेहैकिइसवायरलसेफिलहालकोईखतरानहींहै.डॉक्टरोंकेमुताबिकइसकोफैलनेवालावायरसकाफीमाइल्डहै.लेकिनजोबच्चेइसकाशिकारहोचुकेहैंउनकेसाथपूरीसावधानीबरतनीचाहिएक्योंकियेवायरसकाफीसंक्रमितहैऔरएकबच्चेसेदूसरेमेंतेजीसेफैलरहाहै.

डॉवंदनाकेअनुसारइसकेशिकारबच्चोंकोस्कूलबिल्कुलनहींभेजनाचाहिएसाथहीघरमेंभीउन्हेंअलगरखनाचाहिए.खानेमेंतरलपदार्थकेअलावा,पतलादलिया,खिचड़ीदें.मुंहमेंछालेहोनेकेकारणबच्चाठीकसेखानहींपाताइसलिएपतलाखानादें.येइंफेक्शनअपनेआप7-8दिनमेंठीकहोजाताहै,लेकिनइसदौरानबच्चोंकेखान-पानहाइजीनपरपूराध्यानदेंऔरडाक्टरकीसलाहजरूरलें.हमतोयहीसलाहदेंगेकिमौसमतमामतरहकेवायरलइंफेक्शनकाहैऔरइनसेबचनेकेलिएजरूरीहैउनसावधानियोंपरअमलकरेंजोइनसेबचनेकेलिएबार-बारदोहराईजारहीहैं.