लगातार खाली हो रहे हैं सीमांत के गांव

संवादसहयोगी,चम्पावत:सरकारीमदोंसेकरोड़ोंरुपयेपानीकीतरहबहानेकेबादभीजनपदकेसीमांतक्षेत्रोंकेगावोंमेंपलायनरुकनेकानामनहींलेरहाहै।स्थितियहहैकिजिलेकेलगभग65गावपूरीतरहखालीहोचुकेहैं।जिलेमेंकरीब52गावलोहाघाटऔरचम्पावतब्लॉककेहैं,जोनेपालसीमासेसटेहुएहैं।येहालतबहैं,जबइनगावोंमेंअकेलेबीएडीपीकेतहतअबतककरीब66करोड़रुपयेसेअधिकखर्चकिएजाचुकेहैं।

जनपदमेंलगातारहोरहेपलायनकामुख्यकारणमूलभूतसुविधाओंकाअभावहीहै।सरकारीऔरगैरसरकारीआकड़ोंकेमुताबिकजिलेमें687राजस्वगावोंमेंसे36गाव70फीसदखालीहोचुकेहैं।वहीं37गावोंमेंआबादी30सेकमबचीहुईहै।इनगावोंमेंकेवलबुजुर्गहीहैं।जहा60सालसेकमउम्रकेलोगगिनतीकेहीदिखाईदेतेहैं।चम्पावतब्लाकमें266राजस्वगावोंमेंसे17गाव,पाटीब्लॉकके164राजस्वगावोंमेंनौगाव,लोहाघाटब्लॉकके154राजस्वगावोंमेंसातऔरबाराकोटब्लॉकके130मेंसे20सेअधिकगावखालीहोनेकीकगारपरहैं।बचेहुएगावोंसेलगातारपलायनहोरहाहै।

शासनप्रशासनकीबेरुखीसेपरेशानग्रामीणअबइनगावोंमेंनहींरहनाचाहतेहैं।सीमांतमंचतामली,अमोड़ी,क्वैरालाघाटी,गुमदेशआदिक्षेत्रोंकेगांवोंसेलगातारपलायनहोरहाहै।आलमयहहैकिसीमातकेकईगांवमेंपूरीतरहसेपलायनहोगयाहैऔरलोगोंकेघरखंडहरबनेहुएहैं।क्वैरालाघाटीकेएकदर्जनसेअधिकगांवोंसे60प्रतिशतपलायनहोचुकाहै।अमोड़ीकेकोटअमोड़ीगांवमेंजहांपहले400परिवारनिवासकरतेथे,वहींअबलगभग100परिवाररहगएहैं।ऐसेहीसीमांतकेकईगांवोंकीस्थितिहै।

सीमांतकेकुछगावोंसेपलायनकीस्थिति

गावपरिवार(पहले)परिवार(अब)