कृषि यंत्र मरम्मत की दुकान में शस्त्र फैक्ट्री

मैनपुरी,औंछा:कृषियंत्रमरम्मतकरनेकीदुकानमेंतमंचेबनाएजारहेथे।पुलिसनेछापामारकरअवैधशस्त्रफैक्ट्रीसंचालककोदबोचलिया।मौकेसेतमामबने,अधबनेतमंचेवशस्त्रबनानेकेउपकरणबरामदहुए।काफीकोशिशकेबादपुलिसफैक्ट्रीसंचालकसेतमंचाखरीदनेवालोंकानाम,पताजाननेमेंसफलनहींहोसकी।अभियुक्तपहलेभीअवैधशस्त्रफैक्ट्रीचलानेकेआरोपमेंजेलभेजागयाथा।

कस्बाऔंछानिवासीअशोककुमारशर्मापिछले10वर्षोंसेऔंछामेंजसरानारोडपरदुकानकरकृषियंत्रहल,ट्रैक्टरट्रालीआदिकीमरम्मतकरनेकाकामकरताचलाआरहाहै।बुधवारकीरातपुलिसनेउसकीदुकानपरछापामारीकीतोवहभागनेलगा।पुलिसनेदबोचलिया।उसकीदुकानकीतलाशीलीगईतोअंदरशस्त्रफैक्ट्रीसंचालितहोतीमिली।मौकेसेपांचबनेहुएतमंचे,सातअधबनेतमंचेतथाभारीमात्रामेंनाल,बटअन्यसामानतथातमंचाबनानेकेप्रयोगमेंआनेवालेउपकरणबरामदहुए।

पुलिसनेबरामदमालकोकब्जेमेंलेलिया।पकड़ेगएअभियुक्तकोथानेलाकरपूछताछकीगईतोउसनेलंबेअरसेसेशस्त्रफैक्ट्रीसंचालनकरनेकीबातस्वीकारकी।पुलिसकीजांचमेंपताचलाकिवर्ष1996मेंभीअशोककुमारशर्माकोशस्त्रफैक्ट्रीसंचालनकेआरोपमेंजेलभेजागयाथा,जिसकामुकदमाअदालतमेंविचाराधीनहै।अभियुक्तसेपूछताछहुईतोउसनेबतायाकिजेलसेछूटनेकेबादकुछदिनतकउसनेतमंचेबनानेकाकामनहींकिया।बादमेंचोरीछिपेअवैधशस्त्रनिर्माणकाकामशुरूकरदियाथा।पिछले10वर्षोंसेइसीदुकानमेंतमंचेबनाकरबेचरहाथा।अबतकवहसैकड़ोंतमंचेबेचचुकाहै।

पुलिसकीकाफीपूछताछकेबादभीवहतमंचाखरीददारोंकेसंबंधमेंकोईजानकारीदेनेकेलिएतैयारनहींहुआ।पुलिसनेसख्तीसेभीपूछताछकी,लेकिनउसनेअपनेरैकेटसेजुड़ेलोगोंकेसंबंधमेंकोईजानकारीनहींदी।एसओऔंछाएसआरगौतमनेबतायाकिअभियुक्तकेअवैधअसलहाकारोबारसेजुड़ेसाथियोंकेसंबंधमेंजानकारीजुटाईजारहीहै।बहुतजल्दपूरेरैकेटकाराजफाशकरअन्यसाथियोंकोभीगिरफ्तारकरलियाजाएगा।पकड़ेगएअशोककोजेलभेजदियागयाहै।