कर्नाटक की राजनीति में केंद्रीय भूमिका में हैं स्पीकर रमेश कुमार, रह चुके हैं टीवी ऐक्टर

बेंगलुरुकर्नाटककेसियासीसंग्रामकेबीचराज्यविधानसभाकेसभापतिकेआररमेशकुमारकेंद्रीयभूमिकामेंहैं।कांग्रेसविधायकोंकेइस्तीफेकोसहीप्रारूपमेंनहोनेकाकारणदेतेहुएनकारनेवालेकुमारफिलहाल,कर्नाटककीराजनीतिमेंसबसेमहत्वपूर्णशख्सियतहैं,जिनपरसभीदलोंकेसाथसुप्रीमकोर्टकीभीनजरहै।राज्यकेदोबारस्पीकररहेकुमारपेशेसेऐक्टरभीरहेहैंऔरमौजूदाराजनीतिमेंअपनेसंवैधानिकताकतकोसमझतेहुएउसकेइस्तेमालमेंभीपीछेनहींहैं।निर्दलीयविधायकसेशुरूकियाराजनीतिककरियरकुमारकेबारेमेंआलोचकअक्सरकहतेहैंकिवहसदनमेंसदस्योंसेज्यादाबोलतेहैं।वहटीवीसीरियल्समेंभीकामकरचुकेहैंऔरअक्सरसदनकीकार्यवाहीकेदौरानपंचलाइनऔरप्रभावीडायलॉग्सबोलनेसेनहींकतराते।कुमारविज्ञानसेस्नातकहैंऔरउन्होंनेअपनेराजनीतिककरियरकीशुरुआतसाल1978मेंविधायककेरूपमेंकीथी।वहतबकोलारकेश्रीनिवासपुराविधानसभासीटसेनिर्दलीयविधायकबनेथे।अपने69सालकेराजनीतिकजीवनमेंउन्होंनेपांचबारजीतहासिलकीहैऔरचारबारहारेभीहैं।दोबाररहचुकेहैंस्पीकरचारोंबारकुमारअपनेकॉलेजमेटजीवीवेंकटशिवारेड्डीसेचुनावहारेहैंऔरहरबारयहअंतरहजारवोटोंसेकमकारहाहै।कांग्रेसकेसाथजुड़नेवालेकुमारनेबादमेंजनतापार्टीऔरफिरजनतादलकाहिस्साबनेऔरपिछलेसालसर्वसम्मतिसेराज्यविधानसभाकेस्पीकरकेबतौरनियुक्तकिएगएथे।उनकेखिलाफबीजेपीनेअपनेउम्मीदवारकोआखिरीसमयमेंवापसलेलियाथा।यहस्पीकरकेरूपमेंउनकादूसराकार्यकालहै।इससेपहलेवह1994-1999तकएचडीदेवगौड़ासरकारमेंभीस्पीकररहचुकेहैं।विवादितबयानोंकेलिएभीरहेचर्चामेंकुमारअपनेविवादास्पदबयानोंकोलेकरभीकाफीचर्चामेंरहतेहैं।हालहीमेंउन्होंनेअपनीतुलनाबलात्कारपीड़िताकेसाथकीथीजिसकेलिएउन्हेंसदनमेंमाफीमांगनीपड़ीथी।आखिरीबारकुमारसाल2017मेंसुर्खियोंमेंआएथेजबसिद्धारमैयासरकारमेंस्वास्थ्यमंत्रीकेरूपमेंडॉक्टरोंकीलापरवाहीपरजेलकेप्रावधानवालाविवादास्पदबिलसदनमेंपेशकियाथा।एकबारफिरचर्चामेंइसकेविरोधमेंराज्यमेंडॉक्टरोंनेव्यापकस्तरपरप्रदर्शनकियाथा।फिलहाल,राज्यकीराजनीतिकस्थितिकेनिर्धारणमेंएकअहमजिम्मेदारीकोलेकरकुमारएकबारफिरचर्चामेंहैं।गौरतलबहैकिकांग्रेसके10विधायकोंनेअपनाइस्तीफासौंपदियाहै।इससेपहलेकुमारनेविधायकोंकात्यागपत्रयहकहतेहुएस्वीकारकरनेसेमनाकरदियाथाकिवहसहीप्रारूपमेंनहींहैं।इसकेबादसुप्रीमकोर्टनेउन्हेंनिर्देशदियाथाकिवहविधायकोंकेइस्तीफेकोलेकरजल्दीफैसलालेंऔरकोर्टकोअवगतकराएं।यहखबरअंग्रेजीमेंपढ़नेकेलिएयहांक्लिककरें