कमाही देवी के सरकारी स्कूल में पेड़ की छाया में लगती हैं कक्षाएं

सरोजबाला,दातारपुर:विश्वपर्यावरणदिवसपरकमाहीदेवीकेसरकारीसीनियरसेकेंडरीस्कूलमेंबहेड़ेकेपेड़केनीचेपढ़रहेबच्चेवप्रिसिपलराजेशठाकुरनेबतायाकिवर्षोपुरानायहपेड़इतनाबड़ाहैकिचारकक्षाएंइसकीछायामेंहीलगाईजातीहैं।इसविशालपेड़केनीचेबैठनेपरइसकेआसपासकेक्षेत्रोंकीतुलनामेंदससेबारहडिग्रीसेल्सियसतकतापमानकमरहताहै।अध्यापकोंऔरविद्यार्थियोंकोभीफीलगुडमहसूसहोताहै।इसकेचलतेबिजलीकीखपतभीकमहोजातीहैऔरशुद्धप्राणवायुआक्सीजनभीमिलतीहै।उन्होंनेकहाइसकेफलोंकाइस्तेमालदवाइयांबनानेमेंकियाजाताहै।विशेषरूपसेत्रिफलाकेचूर्णकातोयहमुख्यघटकहै।

प्रिं.ठाकुरनेकहा,चाहेस्कूलकेपरिसरमेंअनेकपेड़पौधेहैंपरंतुइसकीशानऔरछायाहीनिरालीहै।भीषणगर्मीमेंअध्यापकऔरविद्यार्थियोंकीपहलीपसंदइसकेनीचेबैठनेकीहोतीहै।इसकीछायामेंहीस्कूलकेअधिकांशसमारोहआयोजितकिएजातेहैंऔरप्रकृतिकेसान्निध्यमेंटेंटकाखर्चभीबचजाताहै।औषधियोंमेंहोताहैछिलकेकाप्रयोग

वनविभागकेचीफकंजरवेटरहिल्समहावीरसिंहनेदैनिकजागरणकोबतायाकिविभीतकअथवाबहेड़ेकेपेड़बहुतऊंचे,फैलेहुएऔरलंबेहोतेहैं।इसकेपेड़18से30मीटरतकऊंचेहोतेहैं।इसकेपेड़पहाड़ोंऔरऊंचीभूमिमेंअधिकमात्रामेंपाएजातेहैं।इसकेपत्तेबरगदकेपत्तोंकेसमानहोतेहैं।इसकेपत्तेलगभगदससेलेकर20सेंटीमीटरतकलंबेऔरछहसेलेकरनौसेंटीमीटरतकचौडे़होतेहैं।इसकाफलअंडेकेआकारकागोलऔरलम्बाईमेंतीनसेमीतकहोताहै,जिसेबहेड़ाकेनामसेजानाजाताहै।औषधिकेरूपमेंअधिकतरइसकेफलकेछिलकेकाउपयोगकियाजाताहै।बहेड़ारोगप्रतिरोधकक्षमतातोबढ़ाताहीहैसाथहीकब्जकोदूरभगानेमेंकारगरहै।आमाशयकोमजबूतबनाताहै।इसकीअन्यखासियतभूखबढ़ाना,पित्तदोषवसिरदर्दकोदूरकरनाहै।उन्होंनेबतायाकईआयुर्वेदिकऔषधियोंमेंइसकाप्रयोगहोताहै।