किराएदारों के सत्यापन से घबरा रहे मकान मालिक, नतीजा आतंकियों की पनाहस्थली बन रहा दिल्ली-एनसीआर

नईदिल्ली[भगवानझा]।शहरीकरणकेइसदौरमेंलोगअपनेपरिवारतकसीमितहोगएहैं।उन्हेंअपनेआसपासकेलोगोंकेबारेमेंकुछपतानहींहोताहै।वहीं,गांवमेंआजभीजबहमकहींजातेहैंतोनामकहनेमात्रसेहीउनकेबारेमेंपूरीजानकारीलोगहमेंदेदेतेहैं।शहरमेंलोगोंकादायरासीमितहोनाहीहमेंचिंतामेंडालरहाहै।इसकापरिणामयहहोताहैकिअसामाजिकतत्वखतरनाकइरादोंकेसाथहमारेआसपासरहरहेहोतेहैंऔरहमेंइसकीभनकतकनहींहोती।ऐसीहीस्थितियांदेशकीसुरक्षाकोखतरेमेंडालतीहैं।

वर्ष1984-85केदौरानजबदेशमेंआतंकीगतिविधिबढ़नीशुरूहुईंथींतोराजधानीमेंकिराएदारोंसत्यापनकीशुरुआतकीगईथी।उसदौरानलोगखुदपुलिसकेपासआतेऔरअपनेकिराएदारकासत्यापनकरातेथे।पुलिसकोइससेसहूलियतहोतीथी,लेकिनअबमामलापूरीतरहसेउलटचुकाहै।लोगकिराएदारसत्यापनकेलिएआगेनहींआरहेहैं।पुलिसकामकेदबावऔरदूसरेकामोंकीप्राथमिकताकीआड़मेंअपनीइसजिम्मेदारीकीअनदेखीकरदेतीहै।ऐसेमेंसीलमपुरमेंआइईडीमिलनेकामामलाहोयाफिरलक्ष्मीनगरमेंआतंकीकीगिरफ्तारीकीबात।दोनोंमेंकिराएदारसत्यापननहींकराएगएथे।अगरसमयसेकिराएदारकासत्यापनकरायाहुआहोतातोउसीदौरानपुलिसअलर्टहोजातीऔरउसेपकड़लेती।

लापरवाहीकीबाधा

लोगोंकोडररहताहैकिकिराएदारकासत्यापनकराएंगेतोकिराएदारभागजाएगा।यहीबातघरेलूसहायककेलिएभीलोगमानकरचलतेहैं।अगरकिराएदारयाफिरघरेलूसहायकसत्यापनकेनामसेआनाकानीकररहाहैतोतुरंतअलर्टहोनेकीजरूरतहै।पुलिसकोइसबातकीजानकारीदेंऔरउसेअपनामकानकिराएपरदेनेसेमनाकरदें।अगरकिसीशख्सकाआपराधिकरिकार्डनहींहैतोवहसत्यापनकरानेसेमनाक्योंकरेगा।लेकिनअभीअधिकांशमकानमालिकअपनेमकानकिराएपरदेतेहैं,परइसकीजानकारीपुलिसकोनहींहोतीहै।

ऐसेमेंपूरेदेशमेंइसकोलेकरसमय-समयपरजागरूकताअभियानचलानेकीजरूरतहै।अभियानचलानेसेलोगोंकोलगेगाकिपुलिसहमारीसुरक्षाकेलिएहीकिराएदारसत्यापनकरनेकीबातकहरहीहै।अभियानकेदौरानपुलिसकिराएदारसत्यापननहोनेकीवजहसेहुईघटनाओंकेबारेमेंभीलोगोंकोबताए,जिससेकिइसगलतीकाक्या-क्याखामियाजाभुगतनापड़ताहै,उसकेबारेमेंलोगोंकोजानकारीमिलसके।जबलोगोंकेजेहनमेंकिराएदारसत्यापनकीबातबैठजाएगीतोवेखुदबखुदइसकोलेकरसक्रियरहेंगेऔरपुलिसकाकार्यआसानहोजाएगा।

दूसरीतरफपुलिसकोभीइसमामलेमेंअलर्टहोनेकीजरूरतहै।पूरेदेशकीपुलिसकोअपराधियोंकेरिकार्डरखनेकोलेकरसजगरहनाहोगा,जिससेकिजरूरतपड़नेपरतुरंतउसकेबारेमेंजानकारीजुटाईजासके।कईबारअसामाजिकतत्वअपनेनाममेंमामूलीहेरफेरकरबचनेमेंकामयाबहोजातेहैं।इसपरपुलिसकोनिगाहरखनेकीजरूरतहै।साथहीसत्यापनकेनामपरलोगोंकोपरेशाननहींकियाजाए।

कईबारहोताहैकिजबदिल्लीसेकिसीकेसत्यापनकेलिएफार्मउसकेमूलनिवासस्थानपरजाताहैतोवहांइसबातकीचर्चाहोनेलगतीहैकिजरूरकोईनकोईघटनाहुईहै,तभीपुलिससेउसकेबारेमेंजानकारीमांगीगईहै।ऐसेमेंसत्यापनकेलिएजबपुलिसस्वजनकेपासपहुंचतीहैतोवेभीडरजातेहैं।इसडरकोमिटानेकेलिएजागरूकताहीमूलमंत्रहै।कानूनकोकड़ाकरनेसेइससमस्याकास्थाईसमाधाननहींनिकलसकताहै।इसकास्थाईसमाधानलोगोंमेंजागरूकताऔरपुलिसकीतत्परतासेहीनिकालाजासकताहै।

(सुवाशीसचौधरी,सेवानिवृत्तसंयुक्तआयुक्त,दिल्लीपुलिस)