जिन स्कूलों में छात्र ज्यादा हैं और क्लास रूम छोटे, वहां एक दिन के अंतराल पर बुलाए जाएंगे; जहां स्पेस है, वहां लेक्चरर की कमी

राजस्थानसरकारनेएकसितम्बरसेक्लास9से12तककेस्कूलखोलनेकीघोषणाकरदीहै।इसकेबादभीप्रदेशकेहजारोंऐसेस्कूलहैं,जहांरोजस्टूडेंटनहींजापाएंगे।तमामऐसेस्कूलहैं,जहांकेक्लासरूमछोटेहैंऔरछात्रसंख्याज्यादाहै।ऐसेमेंआधेस्टूडेंट्सकोएकदिनस्कूलबुलायाजाएगाऔरएकदिनछुट्‌टीदीजाएगी।फिरअगलेदिनछूटेहुएस्टूडेंटस्कूलआपाएंगे।इसतरहरोजआधे-आधेस्टूडेंटस्कूलजापाएंगे।राज्यके131स्कूलमें(D.El.Ed.)केएग्जामहैं,इसलिए13दिनबादहीऐसेस्कूलखोलेजासकेंगे।

शिक्षाविभागकीओरसेजारीSOPमेंस्पष्टकहागयाहैकिस्कूलकेपासजितनेक्लासरूमहैं,उनकेहिसाबसेस्टूडेंट्सकोसोशलडिस्टेंसिंगरखतेहुएबुलायाजाए।तमामस्कूलोंकीस्थितियहीहै,इसलिएयहांएकदिनगैपकरकेविद्यार्थियोंकोबुलायाजाएगा।आमतौरपरसरकारीस्कूलमेंकक्षा11व12मेंछात्रसंख्याज्यादाहोतीहै।लेक्चररऔरक्लासरूमकेहिसाबसेअधिकांशसरकारीस्कूलमंगलवारकोबैचतैयारकरकेअपनेस्टूडेंट्सकोसूचितकरेंगेकिउनकीक्लासकिसदिनसेहै।स्कूलकेपासवॉट्सऐपग्रुपपहलेसेबनेहुएहैं,जिनकाउपयोगअबहोगा।

क्लासरूमहैतोलेक्चररनहीं

राज्यमेंअभीकक्षाएकसेआठतककीक्लासेजबंदहैं।ऐसेमेंउनक्लासरूममेंसोशलडिस्टेंसरखतेहुएस्टूडेंट्सकोबुलायाजासकताहै,लेकिनलेक्चररकीसंख्याकमहोनेकेकारणयेसंभवनहींहोपारहाहै।ऐसेमेंउतनेहीस्टूडेंटकोबुलायाजाएगा,जितनेलेक्चररहैं।

सरकारीसीनियरसेकेंडरीमेंअलगहैहालात

राज्यकेसरकारीस्कूलोंमेंकक्षा11व12मेंस्टूडेंटएडमिशनतोलेतेहैं,लेकिनजातेनहींहैं।साइंसकेस्टूडेंट्सतोसिर्फडमीरहतेहुएनीटवजेईईकीतैयारीकरतेहैं।ऐसेमेंछात्रसंख्याकेअधारपरअगरस्टूडेंट्सकोएकदिनकेअंतरालसेबुलायाजाताहैतोबहुतकमस्टूडेंट्सक्लासमेंहोंगे।वैसेप्रिंसिपलकोअपनेस्तरपरबैचबनानेवबदलनेकाअधिकारहै।आनेवालेपांच-सातदिनमेंहीसरकारीस्कूलोंकीस्थितिस्पष्टहोगी।

व्यवस्थासुधारनीहोगी

राजस्थानशिक्षकसंघकेसंजयपुरोहितकाकहनाहैकिस्कूलमेंएनरोलस्टूडेंट्सकेहिसाबसेबच्चोंकोबुलानेकेलिएकार्यक्रमअबबनेगा।सरकारकोचाहिएकिवोअधिकस्टूडेंट्सवालेस्कूलमेंलेक्चररकीसंख्याबढ़ाएंताकिज्यादासेज्यादाबैचबनाएजासकें।खासकरविज्ञानमेंयहसमस्याहै।