जिले में अपराधी बेलगाम, नहीं है पुलिस का खौफ

जागरणसंवाददाता,गुमला:जिलेमेंअपराधीबेलगामहोतेजारहेहै।पुलिसकाखौफबदमाशोंपरनहींरहा।जिलेकेअपराधीचुस्तहैऔरपुलिससुस्तहोतीजारहीहै।जिसकापरिणामआएदिनगुमलामेंदिनदहाड़ेहत्याजैसीवारदातकोबदमाशअंजामदेरहेहैंऔरपुलिसइसेरोकपानेमेंअसफलसाबितहोरहीहै।कभीडायनबिसाहीमेंहत्यातोकभीपुरानीरंजिशमेंहत्याएंहोरहीहै।बुधवारकोदिनदहाड़ेसेवानिवृतफौजीजयमनएक्काकीहत्याकरदीगई।हत्याकेदोदिनोंबादभीपुलिसपूछताछकेनामपरहवामेंहीहाथपांवमाररहीहै।बहरहालपुलिसनेइसहत्याकांडकीगुत्थीसुलझानेकेलिएएकटीमकागठनकियाहै।जैसाकीप्रत्येकहत्याकांडकेबादपुलिसकापहलाकामहोताहैएकटीमकागठनकरना।हत्यासेपहलेफौजीकेमोबाइलपरआनेवालेनंबरोंकीपुलिसजांचकररहीहै।वहींवर्ष2021मेंजूनमाहतक68हत्याएंजिलेमेंहोचुकीहै।

वर्ष2013केबादलगातारबढ़रहाजिलेमेंहत्याओंकाग्राफ

गुमलाजिलामेंनशाआमबातहोगईहै।नशेमेंधुतयुवकछोटीछोटीबातोमेंहत्याजैसीजघन्यवारदातोंकोअंजामदेनेमेंसंकोचनहींकरतेहै।पुलिसननशाकोरोकपारहीहैऔरनहीनशाबेचनेवालोंको।जिलेमेंवर्ष2013केबादहत्याजैसीवारदातोंमेंलगातारइजाफाहोताआयाहै।अगरपुलिसकाखौफबदमाशोंपररहतातोहत्याजैसीवारदातोंमेंलगामलगायाजासकताथा।लेकिनजिलेमेंपुलिसकीगश्तीकभीकभारहीदेखनेकोमिलतीहै।

वर्ष2013में59हत्याएं,2014में61,2015में66,2016में70,2017में58,2018में88,2019में123व2020में125हत्याएंहुईथी।सिर्फ2017मेंहत्याओंकाग्राफथोड़ानीचेजरुरआयाथालेकिनफिरसेग्राफतेजीसेऊपरगया।

फौजीकाहुआअंतिमसंस्कार

गुमलाथानाक्षेत्रकेप्रतापपुरनिवासीसेवानिवृतफौजीजयमनएक्काकाशवकापोस्टमार्टमकरानेकेबादउसकाअंतिमसंस्कारकरदियागयाहै।गुरुवारकोगुमलापुलिसनेएकबारफिरसेमृतककीपत्नीवबेटीसेपूछताछकीहै।पूछताछकेआधारपरपुलिसनेछहसेज्यादालोगोंसेपूछताछकीहै।जयमनअपनीमोटरसाइकिलसेगैससिलेंडरभरानेकेलिएजारहाथा।तभीबुधवारकीसुबह9.45बजेधारदारहथियारसेमारकरउसकीहत्याकरदीगईथी।फौजीकीहत्यादीपनगरस्थितसंतइग्नासियुसहाईस्कूलकेपूर्वीछोरबाउंड्रीकेबाहरकीगई।हत्यारेनेजयमनएक्काकोमोटरसाइकिलसेउतरनेकाभीमौकानहींदिया।

सेवानिवृतफौजीकीहत्याकीगुत्थीसुलझानेकेलिएएकटीमकागठनकियागयाहै।जल्दहीपुलिसहत्यारोंकोगिरफ्तारकरेगी।

डा.एहतेशामवकारिब-एसपी,गुमला।