जिलास्तरीय चित्रांकन में कशिश और निबंध में माधुरिका अव्वल

मधेपुरा।मद्यनिषेधदिवसकेमौकेपरजेनरलहाईस्कूलमेंजिलास्तरीयचित्रकला,निबंधववादविवादप्रतियोगिताकाआयेाजनकियागया।प्रतियोगितामेंजिलाकेविभिन्नप्रखंडोंसेचुनकरआएछात्र-छात्राएंशामिलहुई।प्रतियोगिताकाआयोजनजिलाप्रशासनएवंशिक्षाविभागकीओरसेकियागयाथा।

प्रतियोगितामेंकक्षाछहसेआठकेछात्रछात्राओंकेलिए'मद्यपानबंदघर-घरआनंद'विषयतयकियागयाथाऔरकक्षानौसे12वींकेछात्र-छात्राओंकेलिए'शराबवर्जितबिहारहर्षित'विषयरखागयाथा।माध्यमिकस्तरकेनिबंधप्रतियोगितामेंमाधुरिकाकुमारीप्रथम,आशीषकुमारद्वितीयतथाकुसुमगुप्तातृतीयस्थानपररही।वहीप्रारंभिककक्षाकेनिबंधप्रतियोगितामेंसत्यमकुमारप्रथम,अजयकुमारद्वितीय,सुधांशुकुमारतृतीयस्थानपररहे।माध्यमिकस्तरकेचित्रांकनप्रतियोगितामेंकशिशपोद्दारप्रथम,केतनसागरद्वितीयतथापुष्पमरानीतृतीयपररही।प्रारंभिकस्तरकेचित्रांकनप्रतियोगितामेंसुषमाकुमारीप्रथम,लावण्याभारतीद्वितीय,सालेहप्रवीणतृतीयस्थानपररही।माध्यमिकस्तरकेबादविवादप्रतियोगितामेंशुभमकुमारप्रथम,अनुभवानंदद्वितीय,मनोजकुमारतृतीयस्थानपररहे।वहींप्रारंभिकस्तरकेवादविवादप्रतियोगितामेंप्रीतमकुमारप्रथम,सुरानीकुमारीद्वितीयतथाहिमांशुकुमारझातृतीयस्थानपररहे।नशाउन्मूलनमेंबच्चेनिभासकतेहैंमहतीभूमिका:डीईओ

प्रतियोगितामेंमौजूदडीईओवीरेन्द्रनारायणयादवनेबतायाकिनशाउन्मूलनमेंबच्चेमहतीभूमिकानिभासकतेहैं।उन्होंनेकहाकिनशेकेआदीकिसीव्यक्तिकेपीनेकीआदतकोबदलनाआसानकामनहींहोता।मगरछात्रचाहेतोविविधमाध्यमोंसेसमाजमेंजागरूकतालाकरइसेकमकरसकतेहैं।उन्होंनेकहाकिनशेकेखिलाफसरकारकीमुहिमजारीहै।इसमुहिमकोयुवाऔरधारदेसकतेहैं।उन्होंनेकहाकिविभागइसीमुहिममेंअबशिक्षणसंस्थानोंकोभीजोड़ेगा।डीपीओराशिदनवाजनेकहाकिछात्रऐसीयोजनाबनाएं,जिसकेतहतनशासेहोनेवालीबर्बादीकोऐसेनशेड़ीसमझसके।कालेजकेस्टूडेंट्ससार्वजनिकस्थानोंपरनुक्कड़नाटकोंकेजरिएनशामुक्तिकेलिएजागरूककरसकतेहैं।नुक्कड़नाटक,लघुफिल्मयाफिरउनकेमनकाकोईभीविचारजिससेनशारोगीनशाछोड़नेकेलिएप्रेरितहो,इसकेलिएछात्रभीपूरासहयोगदें।समाजकीमददसेहीनशामुक्तिसंभव:डीईओनेकहाकियहसामाजिकसमस्याहै।समाजकीमददसेहीहमइससेलड़सकतेहैं।ऐसेमेंहमसभीकोमिलजुलकरइससमस्याकोजड़सेखत्मकरनाहै।उन्होंनेकहाकिलोगोंकोसमझनाहोगाकिनशाहमारेविवेककोनष्टकरदेताहै।यहजीवनकोबर्बादकरदेताहैऔरसामाजिकप्रतिष्ठाकोधूमिलकरदेताहै,इसलिएव्यक्तिकोनशानहींकरनाचाहिए।उन्होंनेकहाकिहमारीयुवाशक्तिविश्वकीसबसेबड़ीयुवाशक्तिहैं।यदियुवाशक्तिनशाकरनाछोड़दे,तोदुनियामेंहमसबसेआगेहोंगे।कामयाबहोनेकेलिएनशाछोड़नाजरूरीहै।नशेसेनाताजोड़नासबसेबड़ामहापापहै।नशामुक्तसमाजहोनेसेहमवास्तविकगौरवकेहकदारहैं।उन्होंनेकहाकिदुनियामेंकोईभीचीजअसंभवनहींहै।यदिमनमेंठानलियाजाएतोहमअपनेसमाजकोनशामुक्तकरसकतेहैंऔरजीवनमेंनई-नईउपलब्धियांअर्जितकरसकतेहैं।मौकेपरअखिलेशकुमारझानेबतायाकिसभीसफलछात्रोंकोमद्यनिषेधदिवषपरसम्मानितकियाजाएगा।कार्यक्रममेंएचएमसंतोषकुमार,अरूणकुमार,संतोषकुमार,पूनमकुमारी,बीईओअशोककुमारसमेतअन्यलोगमौजूदथे।