J-K: आतंकियों के निशाने पर पुलिसवाले, इस साल 40 की गई जान

जम्मूकश्मीरमेंआतंकियोंनेएकफिरअपनीकायरानाहरकतदोहरातेहुएशुक्रवारकोतीनपुलिसकर्मियोंकीहत्याकरदी.ताजाघटनाशोपियांकीहैजहांआतंकियोंनेपहले4पुलिसकर्मियोंकोअगवाकियाऔरबादमेंतीनकीहत्याकरदी.बीतेकुछदिनोंसेघाटीमेंआतंकीलगातारपुलिसकर्मियोंकोमाररहेहैंऔरयेसिलसिलाकरीब2सालसेजारीहै.

इससाल29अगस्ततकहीकुल35पुलिसकर्मियोंकीहत्याहोचुकीहै,जो2017मेंपूरेसालहुईंकुलहत्याओंसेभीज्यादाहै.यहीनहींसेनाकेजवानउमरफैयादसेलेकरऔरंगजेबकोभीआतंकियोंनेनिशानाबनायाथा.नसिर्फपुलिसकर्मीबल्किबीतेदिनोंतोउनकेपरिवारोंके11सदस्योंकोअगवाकरनेकीघटनाभीसामनेआईथी.

लेफ्टिनेंटउमरफैयाजकीहत्या

पिछलेसाल10मईकोइंडियनआर्मीकेजांबाजअफसरफैयाजकोआतंकवादियोंनेउनकीपहलीहीछुट्टीपरमारदियाथा.कुलगामजिलेकेसुरसोनागांवकेरहनेवालेफैयाजकुलगामसेकरीब74किलोमीटरदूरबाटपुरामेंअपनेमामाकीबेटीकीशादीमेंशामिलहोनेगएथे,जहांआतंकियोंनेउनकाअपहरणकरलियाथा.अपहरणकेबादअगलीसुबहगोलियोंसेछलनीउनकाशवहरमैनइलाकेमेंउनकेघरसेकरीबतीनकिलोमीटरदूरमिलाथा.

जबनिकलाऔरंगजेबकाजनाजा

जूनमहीनेमेंईदमनानेकेलिएघरजारहेसेनाकेजवानऔरंगजेबकापुलवामासेअपहरणकरउनकीहत्याकरदीगई.आतंकियोंकेचंगुलमेंआएसेनाकेजांबाजऔरंगजेबकागोलियोंसेछलनीशरीरपुलवामाकेजंगलोंसेबरामदहुआ.आतंकीईदकेपवित्रमौकेपरभीनापाकहरकतोंसेबाजनहींआया.ईदकेदिनऔरंगजेबकेजनाजेमेंशामिलहोनेकेलिएलोगोंकाहुजूमनिकलपड़ा.

ईदपर3जवानोंकीहत्या

अगस्तकी22तारीखकोईदकेदिनहीआतंकियोंने3पुलिसकर्मियोंकीहत्याकरदीथी.दक्षिणकश्मीरकेपुलवामामेंआतंकियोंनेबकरीदकीशाममोहम्मदअशरफडारसमेतपुलिसकांस्टेबलफयाजअहमदशाहऔरविशेषपुलिसअधिकारीमोहम्मदयाकूबशाहकोमारदियाथा.हालकीघटनाओंमेंआतंकियोंनेछुट्टीपरआएपुलिसकर्मियोंकोनिशानाबनायाहै.

दरअसलआतंकीचाहतेहैंकिजम्मूकश्मीरकेयुवापुलिसमहकमेमेंभर्तीनहों.इसकेलिएबकायदालाउडस्पीकरकेजरिएस्थानीयलोगोंकोचेतावनीदीजारहीहै.अगवाकिएगएकुछजवानोंकोतोपुलिसकीनौकरीछोड़नेकीशर्तपररिहाकियागयाहै.शोपियांकेमामलेमेंभीकुछऐसादीदेखनेकोमिला,जहांहिजबुलआतंकियोंनेवीडियोसंदेशमेंकहाकिवहआतंकियोंकोनहींमारनाचाहते,बशर्तेउन्हेंपुलिसकीनौकरीछोड़नेपड़ेगी.

जम्मूकश्मीरपुलिसकेआंकडोंकेमुताबिकसाल1990सेलेकरअबतककरीब1600जवानोंकोअपनीजानगंवानीपड़ीहै.इनमेंइंस्पेक्टरजनरलजैसेवरिष्ठअधिकारियोंसमेतडीआईजी,एसपी,कॉस्टेबलतकशामिलहैं.इसकेअलावाएसपीओऔरग्रामसुरक्षासमितिकेसदस्योंकोभीनिशानाबनायागयाहै. साल2017में33पुलिसकर्मियोंकीमौतहुईथी.

नौकरीकीआसमेंयुवा

जम्मू-कश्मीरपुलिस(जेकेपी)केपासकरीब35,000एसपीओहैंजोपुलिसविभागमेंनियमितनौकरीमिलनेकीआसलगाएहुएहैं.पुलिसविभागराज्यकेयुवाओंकेलिएरोजगारकामुख्यआकर्षणबनाहुआहै.जुलाई2016मेंहिजबुलकमांडरबुरहानवानीकेमारेजानेकेबाददोवर्षोंमेंघाटीकेकरीब9,000युवापुलिसमेंभर्तीहोचुकेहैं.साथहीबुरहानकीहत्याकेबादपुलिसपरहमलोंकीघटनाएंभीबढ़ीहैं.