हमें और जीने की चाहत न होती, अगर तुम न होते..

औरंगाबाद।शहरकेकर्मारोडस्थितचित्रगुप्तसभागारमेंशनिवारकोसुरसम्राटऔरनृत्यप्रतियोगिताकेलिएऑडिशनटेस्टलियागया।उद्घाटनऔरंगाबादबीडीओप्रभाकरकुमारसिंह,प्रो.सिद्धेश्वरप्रसादसिंह,सेवानिवृत्तशिक्षकसुरेंद्रमिश्रादानिकासंगीतमहाविद्यालयकेनिदेशकडॉ.रवींद्रकुमारनेदीपप्रज्ज्वलितकरकिया।

प्रतिभागियोंकोसंबोधितकरतेहुएबीडीओनेकहाकिप्रतिभागियोंकोअबबेहतरमंचमिलरहाहै।संगीतकेलिएसाधनाजरूरीहै।औरंगाबादकेप्रतिभागीसंगीतकेक्षेत्रमेंराज्यस्तरपरनामरोशनकररहेहैं।कार्यक्रममें75प्रतिभागियोंनेभागलिया।प्रतिभागीरविरंजननेजबहमेंऔरजीनेकीचाहतनहोती,अगरतुमनहोते..गीतपरदर्शकोंकोझूमाया।देवसेपहुंचेगौतमकुमारनेसोचेंगेतुम्हेंप्यारकरेंकीनहीं,दिलबेकरारकरेंकीनहींगीतकीप्रस्तुतिदीतोनिर्णायकोंनेभीहौसलाबढ़ाया।आकाशनेतुमबिननहींलगतादिलमेरामाहियावविकासनेतेरेबीननहींजीना,मरजानाढोलनागीतगाकरअपनीउपस्थितिदर्जकराई।चित्रगुप्तसभागारमेंगीतसंगीतकाकार्यक्रमदेरशामतकचलतारहा।निर्णायककीभूमिकामेंराजूचक्रवर्ती,प्रवीणकुमारएवंआशुतोषसिन्हारहे।निदेशकडॉ.रवींद्रनेकहाकिजिलास्तरपरप्रतिभागियोंकोबेहतरमंचमिलेइसकेलिएकार्यक्रमहुआहै।रविवारकोनगरभवनमेंसुरसम्राटप्रतियोगिताकाफाइनलहोगा।उद्घाटनमंत्रीसंतोषकुमारसुमन,सांसदसुशीलकुमारसिंहकरेंगे।इसकार्यक्रममेंनिर्णायककीभूमिकामेंराजेशपांडेय,रोहितराज,शंकरकैमूरीसमेतकईनामचीनकलाकारभागलेंगे।स्थानीयकलाकारभीइसमेंहिस्सालेंगे।