गरीब बच्चे अलका के प्रयास से बोलते अंग्रेजी

नितिनशर्मा,यमुनानगर

कलतकजोबच्चेसहीहिदीभीनहींबोलपातेथे,आजउनमेंसेअधिकतरबच्चेअंग्रेजीलिखतेऔरबोलतेहैं।यहसंभवहोहुआहै,शुगरमिलकॉलोनीकीअलकापाठककेप्रयाससे।अंग्रेजीकोरुचिकरबनाकरपढ़ानेमेंपाठककोमहारथहासिलहै।निजीस्कूलमेंकार्यरतहैं।स्कूलसेछुट्टीकेबादजरूरतमंदबच्चोंकीक्लासलेतीहैं।उत्कृष्टकार्यकेलिएकईबारराष्ट्रीयस्तरपरसम्मानपाचुकीहैं।

अलकाबतातीहैंकिकईबच्चेऐसेहैं,जोअंग्रेजीसेदूररहतेहैं।उनकोयेविषयपढ़नेमेंरुचिकमहोतीहै।उनकाहमेशायहीप्रयासरहाहैकिजोबच्चेउनकेसंपर्कमेंहैं,वेनिपुणनहो,लेकिनइतनेयोग्यहोजाएकिअंग्रेजीमेंकहींअपनीबातरखनेकामौकामिलेतोवेबेबाकतरीकेसेरखेसकें।एमएलएनपब्लिकस्कूलमेंसेवाएंदेतीहैं।उनकीक्लासशायदहीकोईऐसाबच्चाहोगाजोअंग्रेजीबोलनेमेंदक्षनहो।एमएबीएडपासअलकाबतातीहैंकिकेवलस्कूलसमयमेंहीनहींएक्टिवरहतीहै।छु्ट्टीकेबादभीबच्चोंकोपढ़ानेकेलिएसक्रियरहतीहैं।इसकेलिएवेसाईसौभाग्यसंस्थाकेसाथजुड़ीहैं।इनकेयहांस्लमएरियासेआनेवालेबच्चोंकीसंख्या150सेपारहै।यहांदोपहरबादआतीहैं।बच्चोंकोनिश्शुल्कअंग्रेजीकाज्ञानदेतीहैं।इनकाकहनाहैकिइनबच्चोंकोपढ़ानाआसाननहींथा।क्योंकिइनकीपृष्ठभूमिहिदीसेहै।हिदीभीसहीसेनहींलिखपातेथे।शुरुआतमेंइनकोएबीसीबोलनेमेंभीकठिनाईहोतीथी।इनकोभीजिदथीकिबच्चोंकोअंग्रेजीमेंतैयारकरनाहै।इनकोऐसामंचप्रदानकरानाहैजहांयेअपनीबातरखेसकें।इसकामकोकरनेमेंउनकोकड़ीमेहनतकरनीपड़तीहै।इनकेप्रयाससफलरहेकिकुछबच्चेअंग्रेजीमेंसंवादकरनेलगे।बोलतेहैंऔरलिखतेभीहैं।एक्सट्राक्लासलगातीहैं।जिसदिनस्कूलसेछुट्टीहोतीहैजोज्यादासमयइनबच्चोंकोपढ़ाईकरबितातीहैं।उनकेपढ़ानेकेतरीकेसेबच्चेखुशहैं।बच्चेउनकेआनेकाइंतजारकरतेहैं।अलकाकेपतिपीसीपाठककंपनीमेंनोर्थइंडियाइंचार्जहैं।यहमूलरूपसेअल्मोराउत्तराखंडसेहैं।इनकाबेटापढ़ताहै।अपनेव्यस्तसमयसेजरूरतमंदबच्चोंकेलिएचारसालसेसमयनिकालरहींहैं।

सहीऔरगलतछूनेकीदेतींजानकारी

केवलअंग्रेजीनहींपढ़ातीहै।बच्चोंकोसहीऔरगलतछूनेकीजानकारीभीदेतीहैं।अलकाबतातीहैंकिबच्चोंकोयहीपतानहींहोताहैकिउनकेसामनेवालाउनकोकिसनीयतसेछूरहाहै।इसकोलेकरभीवेबच्चोंकोलेक्चरदेतीहैं।साथहीपोस्कोएक्टकेबारेमेंजागरूककरतीहैं।महिलाओंकेउत्थानकेलिएभीकार्यकरतीहैं।महिलाओंकोआत्मनिर्भरकैसेबनेइसकेबारेमेंविस्तारसेबतातीहैं।सीबीएसइकीओरसेसेफ्टीइनस्कूलकेलिएभीसेवाएंदेतीहैं।