एनसीपीसीआर ने दिल्ली सरकार सेे बाल भिक्षावृत्ति को रोकने के लिए ठोस कदम उठाने को कहा

नयीदिल्ली,19जुलाई:भाषा:राष्ट्रीयबालअधिकारसंरक्षणआयोग:एनसीपीसीआर:नेराष्ट्रीयराजधानीमेंबड़ीसंख्यामेंबच्चोंकेभिक्षावृत्तिमेंलगेहोनेकासंग्यानलेतेहुएआजदिल्लीसरकारसेकहाकिवहबच्चोंकोइसदलदलसेबाहरनिकालनेतथाउनकापुनर्वासएवंपढ़ाई-लिखाईसुनिश्चितकरनेकेलिएठोसकदमउठाए।एनसीपीसीआरनेदिल्लीकेमुख्यसचिवकोलिखेपत्रमेंकहा,बालभिक्षावृत्तिबच्चोंकेअधिकारोंकाहननहै।जिनबच्चोंकोस्कूलोंमेंहोनाचाहिएवेसड़कोंपरलोगोंकेआगेहाथफैलारहेहैं।यहसरकारकीजिम्मेदारीबनतीहैकिवहइनबच्चोंकापुनर्वासकरेऔरस्कूलोंमेंदाखिलाकरायेतथाउनकोसहीमाहौलप्रदानकरे।गौरतलबहैकिपिछलेकुछमहीनेसेआयोगनेबालभिक्षावृत्तिपरगंभीरतासेसंग्यानलेतेहुएइससमस्याकेनिदानकेलिएगैरसरकारीसंगठनोंऔरदूसरीएजेंसियोंकेसाथकईबैठकेंकीहैं।शुरूआतीतौरपरउसनेराष्ट्रीयराजधानीमेंइससमस्याकेखिलाफताकतझोंकीहैऔरइसमेंवहस्थानीयसरकारऔरपुलिसप्रशासनकीपूरीमददचाहताहै।आयोगनेदिल्लीसरकारसेकहा,सरकारकापहलादायित्वयहहैकिवहइनबच्चोंकोबालभिक्षावृत्तिसेमुक्तकराए।यहपूरीप्रक्रियातीनचरणोंमेंहोनीचाहिए।पहलेचरणमेंबच्चोंकोमुक्तकराना,दूसरेचरणमेंउनकापुनर्वासऔरशिक्षातथातीसरेचरणमेंउनकोसहीमाहौलदेनाशामिलहै।