दस माह बाद प्राइमरी स्कूलों में लौटे नन्हे छात्र, रौनक बहाल

सतीशशर्मा,काठगढ़

कोरोनामहामारीकेकारणलाकडाउनवक‌र्फ्यूकेकारणशिक्षासंस्थानकाफीप्रभावितरहे।लगातारदसमाहबच्चेघरोंमेंहीआनलाइनपढ़ाईकरतेरहे।किसीकेपासमोबाइलयाइंटरनेटसुविधाथी,तोकिसीकेपासनहीं।कुलमिलाकरस्कूलसरकारीहोयाप्राइवेट,बच्चोंकोपढ़ाईकाकाफीनुकसानसहनापड़ाहै।पंजाबसरकारद्वाराधीरे-धीरेस्कूलवकालेजखोलदिएगएथे।इसकेतहततीसरीसेलेकर12वींतकस्कूलोंकोपहलेहीखोलदियागयाथा।अबसोमवारसेपहलीसेदूसरीकक्षातककेबच्चोंकेभीनियमितस्कूललगनेसेसरकारीवनिजीप्राइमरीस्कूलोंमेंनन्हेबच्चोंकेआनेसेस्कूलोंमेंफिरसेरौनकबहालहोगईहै।

इसदौरानसुबहप्राइमरीस्कूलकाठगढ़मेंबच्चोंकोइधर-उधरखेलतेकूदतेदेखागया।स्कूलमेंपहलादिनहोनेकेकारणबच्चोंकोअध्यापकोंद्वाराकोरोनाकेमद्देनजरबरतेजानेवालीसावधानियोंकेबारेमेंभीबतायागया।इसमेंस्कूलमेंआतेसमयमास्कपहननावहाथोंकोसैनिटाइजकरनाप्रमुखथा।

प्राइमरीस्कूलकीइंचार्जनीतूपुरीतथाअध्यापकरविदरकुमारनेबतायाकिपहलादिनहोनेकेकारणस्कूलमेंबच्चोंकीसंख्या50प्रतिशतरहीहै।

बच्चेवअभिभावकखुश

अध्यापकरविदरकुमारनेबतायाकिछोटेबच्चोंकोसैनिटाइजकरकेकक्षामेंभेजरहेहैं।बच्चेभीखुशहैंऔरबच्चोंकेमाता-पितामेंभीस्कूलखुलनेपरकाफीखुशीहै।स्कूलोंकासमयसरकारद्वारासुबहदससेदोपहरबाददोबजेतकरखागयाहै।मगर,छोटेप्राइमरीस्कूलकेबच्चोंको12बजेछुट्टीदेकरघरभेजाजारहाहै।