दिल्ली विधानसभा के समिति अध्यक्ष ने फेसबुक की याचिका खारिज किए जाने का किया स्वागत

नयीदिल्ली,आठजुलाई(भाषा)दिल्लीविधानसभाकीशांतिएवंसद्भावसमितिकेअध्यक्षराघवचड्ढानेसमितिकेसम्मनकोचुनौतीदेनेवालीफेसबुकभारतकेअधिकारीअजीतमोहनकीयाचिकाखारिजकरनेकेउच्चतमन्यायालयकेफैसलेकाबृहस्पतिवारकोस्वागतकियाऔरकहाकिफैसलेकाअध्ययनकरनेकेबादसमितिकीकार्यवाहीजारीरहेगी।दरअसल,विधानसभाकीसमितिनेपिछलेसालउत्तर-पूर्वीदिल्लीमेंहुएदंगोंसेसंबंधितएकमामलेमेंफेसबुकभारतकेउपाध्यक्षतथाप्रबंधनिदेशकमोहनकोगवाहकेतौरपरपेशहोनेकेलियेकहाथा,लेकिनउन्होंनेऐसानहींकिया।इसकेबादउन्हेंसम्मनभेजेगएथे।शीर्षअदालतनेकहाकिसमितिकेसमक्षजवाबनहींदेनेकेविकल्पपरविवादनहींहोसकताऔरयाचिकाकर्ताकेप्रतिनिधिसवालकाजवाबदेनेसेइनकारकरसकतेहैं,यदियहतयदायरेमेंआताहै।चड्ढानेशीर्षअदालतकेफैसलेपरप्रतिक्रियादेतेहुएएकबयानमेंकहा,‘‘उच्चतमन्यायालयनेयाचिकाखारिजकरतेहुएयहमानाकिदिल्लीविधानसभाकीसमितियोंकेविशेषाधिकारऔरशक्तियांसंसदीयविशेषाधिकारोंऔरअन्यविधानसभाओंकेविशेषाधिकारोंकेसमानहैं।’’उन्होंनेकहा,‘‘यहमहत्वपूर्णहैकिअदालतनेयहभीपुष्टिकीहैकिइनविशेषाधिकारोंकेतहतशांतिऔरसद्भावसमिति'गैर-सदस्यों'कोशासनकेउनमामलेमेंउसकीसहायताकरनेकेलिएअपनेसमक्षपेशहोनेकेलिएबुलानेकीहकदारहैजोउसकेदायरेमेंआतेहैं।’’चड्ढानेकहाकिन्यायालयनेरायरखीकिमोहनकेखिलाफकोईकठोरकार्रवाईनहींकीगईहैऔरनागरिकोंकीभलाईसेसंबंधितवृहदसामाजिकमुद्दोंकीसमीक्षामेंउनकीसहायतालेनेकेलिएउन्हेंनोटिसजारीकियागयाहै,इसलिए‘‘फेसबुकइंडियाकेकिसीप्रतिनिधिकोसमितिकेसामनेपेशहोनाचाहिए’’।उन्होंनेकहा,‘‘निर्णयकीपूरीप्रतिकाइंतजारहै।हमफैसलेकाअध्ययनकरेंगेऔरउसकेबादउसकेअनुसारकार्यवाहीजारीरखेंगे।’’चड्ढानेकहाकिविधानसभाकेअन्यविधायीपैनलकीतरहशांतिऔरसद्भावसमितिसभीसंबंधितपक्षोंकीपूर्णभागीदारीकेसाथदिल्लीसेजुड़ेमुद्दोंपरएकवास्तविक‘‘विचार-विमर्श’’प्रक्रियाजारीरखनाचाहतीहै।मोहननेयाचिकामेंकहाथाकिसमितिकेपासयहशक्तिनहींहैकिवहअपनेविशेषाधिकारोंकाउल्लंघनहोनेपरयाचिकाकर्ताओंकोतलबकरेऔरयहउसकीसंवैधानिकसीमाओंसेबाहरहै।उन्होंनेसमितिद्वारापिछलेसाल10और18सितंबरकोजारीनोटिसकोचुनौतीदीथी।इनमेंमोहनकोसमितिकेसमक्षपेशहोनेकेलियेकहागयाथा।समितिदिल्लीमेंहुएदंगोंकेदौरानकथितभड़काऊभाषणफैलानेमेंफेसबुककीभूमिकाकीजांचकररहीहै।केंद्रनेपिछलेसाल15अक्टूबरकोशीर्षअदालतकोबतायाथाकिशांतिऔरसद्भावसमितिकीकार्यवाहीउसकेक्षेत्राधिकारकेदायरेमेंनहींआती,क्योंकियहमुद्दाकानूनऔरव्यवस्थासेसंबंधितहैऔरयहदिल्लीपुलिसकेअधिकारक्षेत्रमेंआताहै,जोकेंद्रसरकारकेलिएजवाबदेहहै।