दिल्ली पुलिस में लगी नौकरी तो पति का बदला मन, तलाक की अर्जी पर कोर्ट ने कहा- 'कामधेनु गाय' समझा

नईदिल्लीदिल्लीहाईकोर्टनेपतिकीओरसेमानसिकक्रूरताकेआधारपरएकदंपतिकोतलाककीमंजूरीदेदी।अदालतनेकहाकिव्यक्तिअपनीपत्नीको‘कामधेनुगाय’समझताहैऔरदिल्लीपुलिसमेंनौकरीमिलनेकेबादहीपत्नीकेसाथरहनेमेंउसकीदिलचस्पीबढ़ी।न्यायमूर्तिविपिनसांघीऔरन्यायमूर्तिजसमीतसिंहकीपीठनेकहाकिबिनाकिसीभावनात्मकसंबंधकेपतिकेभौतिकवादीरवैयेसेपत्नीकोमानसिकपीड़ाऔरआघातपहुंचाहोगाजोउसकेसाथक्रूरतादिखानेकेलिएपर्याप्तहै।पीठनेभीकहाकिआमतौरपरहरविवाहितमहिलाकीइच्छाहोतीहैकिवहएकपरिवारशुरूकरे।हालांकि,वर्तमानमामलेमेंप्रतीतहोताहैकिपतिको‘शादीकायमरखनेमेंकोईरुचिनहींहै,बल्किउसेकेवलपत्नीकीआमदनीमेंदिलचस्पीहै।’पेशीकेलिएपहुंचाथादिल्‍लीहाईकोर्ट,गेटकेपासब्लेडसेहुआहमला,पुलिसकीगिरफ्तमेंहमलावरहाईकोर्टनेमहिलाकीतलाकसंबंधीयाचिकाकोखारिजकरनेकेपारिवारिकअदालतकेआदेशकोरद्दकरदिया।इसकेसाथहीहिंदूविवाहकानूतकेतहतविवाहकोभंगकरदिया।क्‍याथामामला?महिलानेइसआधारपरतलाकमांगाथाकिपतिबेरोजगारहै,शराबीहैऔरउसकाशारीरिकशोषणकरताहै।पैसेकीभीमांगकरताहै।वर्तमानमामलेमेंदोनोंपक्षगरीबपृष्ठभूमिकेथेऔरविवाहतबसंपन्नहुआजबपतिऔरपत्नीक्रमशः19वर्षऔर13वर्षकेथे।व्यक्ति2005मेंवयस्कहोनेकेबादभीपत्नीकोनवंबर2014तकससुरालनहींलेगया,लेकिनजबपत्नीनेदिल्लीपुलिसमेंनौकरीहासिलकरलीतबव्यक्तिकारुखबदलगया।हाईकोर्टनेदिल्लीसरकारकोलगाईफटकार,कहा-राजनीतिनहींवास्तविककामकरेंअदालतनेयहकीटिप्‍पणीअदालतनेकहा,‘ऐसाप्रतीतहोताहैकिप्रतिवादीनेअपीलकर्ता(पत्नी)को‘कामधेनुगाय’समझाऔरदिल्लीपुलिसमेंनौकरीमिलनेकेबादहीउसमेंउसकीदिलचस्पीजगी।प्रतिवादीकाबिनाकिसीभावनात्मकसंबंधोंकेइसतरहकाबेशर्मीभराभौतिकवादीरवैयाअपनेआपमेंमानसिकपीड़ाऔरआघातकाकारणबनताहै,जोउसकेसाथक्रूरतासाबितकरनेकेलिएपर्याप्तहै।’पतिनहींचाहताथातलाकपतिनेइसआधारपरविवाहसमाप्तकिएजानेकाविरोधकियाकिउसनेमहिलाकीशिक्षाकाखर्चाउठायाजिससेउसनेनौकरीहासिलकी।अदालतनेकहाकिचूंकिपत्नी2014तकअपनेमाता-पिताकेसाथरहरहीथी,इसलिए‘जाहिरहैकिउसकेरहनेऔरपालन-पोषणकासाराखर्चउसकेमाता-पितानेवहनकियाहोगा’औरइसकेविपरीतदिखानेकेलिएकुछभीनहींहै।