दिल्ली के अस्पतालों में सिर्फ दिल्लीवालों का होगा इलाज? केजरीवाल कैबिनेट आज लेगी फैसला

दिल्लीमेंकोरोनावायरसकेमरीजोंऔरइससेहुईमौतोंपरसियासतपहलेसेहीचलरहीहै.अबइसप्रकरणमेंएकनयामामलाजुड़नेजारहाहैजोअस्पतालोंमेंमरीजोंकेइलाजसेजुड़ाहै.दिल्लीकीअरविंदकेजरीवालसरकाररविवारकोएकअहमफैसलालेनेजारहीहैकिक्यास्थानीयअस्पतालोंमेंदिल्लीकेलोगोंकाहीइलाजहोगायाबाहरीलोगोंकोभीयहसुविधामिलसकतीहै.

बतादें,दिल्लीमेंचिकित्साव्यवस्थाकोलेकरशनिवारकोडॉ.महेशवर्माकमेटीनेदिल्लीसरकारकोअपनीरिपोर्टसौंपीहै.रिपोर्टमेंकहागयाहैकिदिल्लीकाहेल्थकेयरइंफ्रास्ट्रक्चरकेवलदिल्लीकेलोगोंकेलिएइस्तेमालहो.अगरबाहरवालोंकेलिएदिल्लीकाहेल्थकेयरइंफ्रास्ट्रक्चरखोलागयातो3दिनकेअंदरसारेबेडभरजाएंगे.डॉ.महेशवर्माकमेटीकीइसरिपोर्टपररविवार11.30बजेदिल्लीकैबिनेटकीबैठकहोनेवालीहै.इसबैठककेबादतयहोगाकिदिल्लीकेहेल्थकेयरइन्फ्रास्ट्रक्चरदूसरेराज्योंकेलिएखोलेजाएंयानहीं.

कमेटीकीसिफारिश

दिल्लीमेंकोरोनावायरसकेसंक्रमणकेबीचदिल्लीसरकारनेपांचडॉक्टरकीएककमेटीबनाईथी.इसकमेटीकागठन3जूनकोकियागयाथा.दिल्लीमेंआईपीयूनिवर्सिटीकेवीसीडॉ.महेशवर्माकोकमेटीकाचेयरमैनबनायागयाथा.कमेटीकोनिर्देशदियागयाथाकिदिल्लीमेंअस्पतालोंकीसमग्रतैयारीऔरक्यादिल्लीकेअस्पतालदिल्लीऔरदिल्लीकेबाहरकेमरीजोंकाइलाजकरपाएंगे,इसपरविस्तृतरिपोर्टतैयारकीजाए.दिल्लीमेंस्वास्थ्यइंफ्रास्ट्रक्चरकीबढ़ोतरीऔरक्याअन्यक्षेत्रजहांदिल्लीमेंकोविड-19केबेहतरप्रबंधनकेलिएस्वास्थ्यसुविधाओंकेबुनियादीढांचेकोमजबूतकरनाआवश्यकहै,जैसेसवालोंकेजवाबकेलिएकमेटीकागठनकियागया.अबइसकमेटीनेबोलदियाहैकिदिल्लीकेलोगोंकोहीयहांकेअस्पतालोंकीसुविधामिलनीचाहिए.

कोरोनापरफुलकवरेजकेलि‍एयहांक्ल‍िककरें

सरकारीबयानऔरसच्चाई

सरकारअगरदिल्लीसेबाहरकेलोगोंकेलिएइलाजकीसुविधाबंदकरतीहै,तोक्याइसकेपीछेअस्पतालोंमेंकमपड़तेबेडभीएकवजहहैं?ऐसामानाजासकताहैक्योंकिदिल्लीमेंजिसरफ्तारसेकोरोनाकासंक्रमणबढ़रहाहै,अगरउनमरीजोंकोफौरनइलाजनमिलेतोस्थितिऔरभीभयावहहोसकतीहै.इसबारेमेंशनिवारकोएकचौंकानेवालीरिपोर्टसामनेआई.

दिल्लीसरकारकाकहनाहैकिमरीजोंकेलिएअस्पतालोंमेंपर्याप्तबेडहैं.लोगोंकीसुविधाकेलिएसरकारनेऐपकोभीलॉन्चकियाहै,लेकिनजमीनीहकीकतकुछऔरकहतीहै.अस्पतालोंकेगैर-जिम्मेदारानाव्यवहारकेकारणमरीजोंकीमौतहोरहीहै,जोकेजरीवालसरकारकेदावोंकीपोलखोलरहीहै.अस्पतालमेंबेडनहींमिलनेसेएकऔरमरीजकीमौतहोनेकामामलासामनेआयाहै.

कोरोनाकमांडोज़काहौसलाबढ़ाएंऔरउन्हेंशुक्रियाकहें...

मृतककेपरिजनअभिषेकजैननेइंडियाटुडेटीवीकेकार्यक्रमन्यूजट्रैकमेंअपनेदर्दकोबयांकिया.उन्होंनेकहाकिपिछले2-3दिनोंसेमेरेमरीजकोबुखारथा.बुधवाररातकोजितनेभीइमरजेंसीनंबरहैंहमनेउसपरसंपर्ककिया.हमनेकईअस्पतालोंसेभीसंपर्ककिया,लेकिनसबसेपहलेउन्होंनेयेपूछाकिआपकामरीजकोरोनापॉजिटिवहोनाचाहिए.

अस्पतालकेखिलाफएफआईआर

दिल्लीमेंबढ़तेकोरोनासंक्रमणकेबीचसरकारनेसरगंगारामअस्पतालकेखिलाफएफआईआरदर्जकराईहै.दिल्लीसरकारनेमहामारीरोगअधिनियमकेउल्लंघनकेलिएसरगंगारामअस्पतालपरएफआईआरदर्जकरनेकाआदेशदिया.गंगारामअस्पतालपरकोरोनावायरसकीटेस्टिंगनियमोंकेउल्लंघनकेचलतेएफआईआरदर्जकरवाईगईहै.आईपीसीकीधारा188केतहतगंगारामअस्पतालपरएफआईआरदर्जकीगईहै.एफआईआरमेंकहागयाहैकिअस्पतालोंकोस्वास्थ्यमंत्रालयकेदिशानिर्देशोंकापालनकरनाऔरकेवलआरटीपीसीआरऐपकेमाध्यमसेसैंपलएकत्रकरनाअनिवार्यथा.सरगंगारामनेसैंपलएकत्रकरनेकेलिएआरटीपीसीआरकाउपयोगनहींकिया.

सरकारमेंचिंता

कोरोनाकेबढ़तेमामलोंपरसरकारमेंचिंताहै.दिल्लीसरकारकेस्वास्थ्यमंत्रीसत्येंद्रजैननेकहाकिराजधानीसेजिसतरहसेकोरोनाकेमामलेआरहेहैंवोचिंताजनकहै.हमेंसतर्करहनेकीजरूरतहै.दिल्लीसरकारने8500बेडकाइंतजामकियाहै.इनमेंसे45फीसदीबेडपरमरीजहैंऔरआगेबेडबढ़ानेकीतैयारीकीजारहीहै.उन्होंनेकहा,लॉकडाउनसेपताचलाकिकोरोनाइतनीजल्दीजानेवालानहींहै.लंबेसमयतकरुकेगा.अबइससेबचनेकेबारेमेंसीखनाहोगा.मास्कपहनना,हाथधोनाऔरसोशलडिस्टेंसिंगजरूरीहै.इससेहीवायरसकोबढ़नेसेरोकसकतेहैं.

मुख्यमंत्रीकीचेतावनी

दिल्लीकेमुख्यमंत्रीअरविंदकेजरीवालनेसभीअस्पतालोंकोचेतावनीदेतेहुएकहाहैकिअगरकोईभीशख्सइलाजकेलिएआताहैतोउसकाइलाजकरनाहोगा.किसीव्यक्तिकोअस्पतालमेंइलाजकरवानेमेंदिक्कतनाहोयहसुनिश्चितकरवानेकेलिएअबसेसभीकोविडअस्पतालोंमेंदिल्लीसरकारएकप्रोफेशनलनियुक्तकरेगी.अस्पतालकेअंदरमौजूदप्रोफेशनलजानकारीदेगाकिअस्पतालमेंबेडमौजूदहैयानहीं.जोबादमेंऐपपरभीडालाजाएगा.जिससेलोगोंतकअस्पतालकेअंदरबेडकीसहीजानकारीपहुंचसके.दिल्लीसरकारकीओरसेनियुक्तप्रोफेशनलवहांआनेवालेमरीजोंकीदाखिलाप्रक्रियाकीभीनिगरानीकरेंगे.वोदेखेंगेकिनिजीअस्पतालकीतरफसेलोगोंकोभर्तीकरनेमेंकोईदिक्कततोनहींहोरहीहै.

पहलेकेबयानपरहंगामा

पिछलेसालमुख्यमंत्रीअरविंदकेजरीवालकेएकबयानपरकाफीहंगामाहुआथा.यहबयानभीबाहरीलोगोंकेदिल्लीमेंइलाजसेजुड़ाथा.अरविंदकेजरीवालनेकहाथा,'बिहारकाएकआदमी500रुपयेकेटिकटसेट्रेनमेंबैठकरदिल्लीमेंआताहैऔर5लाखकाइलाजफ्रीमेंकरवाकरचलाजाताहै.इससेखुशीहोतीहैकिअपनेदेशकेलोगहैं,सबकाइलाजहोनाचाहिए.लेकिनदिल्लीकीअपनीक्षमताहै,पूरेदेशकेलोगोंकाकैसेइलाजकरेगी,इसलिएजरूरतहैकिसारेदेशमेंस्वास्थ्यसुविधाएंसुधरे.'इसकेबादजब'आजतक'नेअरविंदकेजरीवालसेइलाजकेलिएबिहारसेदिल्लीआरहेलोगोंकेबारेमेंपूछातोउन्होंनेकहा,'अलग-अलगराज्योंसेलोगदिल्लीमेंइलाजकरानेआरहेहैं.दिल्लीकेसरकारीअस्पतालोंमेंओपीडीपिछले4सालमें3करोड़सेबढ़कर6करोड़सालानाहोगईहै.देशभरकेलोगोंकोदिल्लीकेअस्पतालोंमेंभरोसाहै.'