धरना में शामिल हुईं दर्जनों महिलाएं

जहानाबाद:तीनसूत्रीमांगोंकोलेकरग्रामीणोंकाअनिश्चितकालीनधरना41वेंदिनभीजारीरहा।मंगलवारकोमहिलादिवसकेदिनधरनामेंदर्जनोंमहिलाएंभीशामिलहोकरसड़कऔरअस्पतालकेलिएअपनीआवाजबुलंदकी।महिलाओंनेकहाकि41दिनबीतगए,अबतोमानजाइएहुजूर।सड़कऔरअस्पतालकेबिनाहमलोगोंकोजिदगीबड़ीमुश्किलमेंकटरहीहै।किसीमहिलाकोप्रसवपीड़ाहोनेपरसड़ककेअभावमेंअस्पतालतकपहुंचनामुश्किलहोजाताहै।बरसातमेंतोआवागमनपूरीतरहबंदहोजाताहै।ऐसेमेंप्रसूताओंकोजहानाबादयामखदुमपुरमेंरिश्तेदारोंकेयहांशरणलेनापड़ताहै।सड़ककेअभावमेंहमारीबेटियोंउच्चशिक्षाकेलिएहाईस्कूलतकनहींपहुंचपातीहैं।बेटियोंकेलिएअच्छेरिश्तेनहींआते।

--------------------------------------------

75वर्षोंमेंनहींबनीसड़ककिसानोंनेबतायाकिघेजनसेरूपसपुरपुलऔरसुरहीसेमुरहारातकसड़कनिर्माणएवंमुरहाराअतिरिक्तस्वास्थ्यकेंद्रको24घंटेसंचालितकरनेकीमांगपूरीहोनेतकहमलोगकिसानसंघर्षसमितिकेबैनरतलेरूपसपुरपुलपरधरनापरडटेरहेंगे।धरनामेंसुरही,रूपसपुर,मुरहरा,घेजन,कालीमठ,गोपालपुर,हमींदपुरआदिगांवोंकेदर्जनोंलोगशामिलहुए।

किसानोंनेकहाकिसुरहीसेमुरहारातकडेढ़किमीऔरघेजनसेमुरहाराएककिमीकच्चीसड़कहै।यहीदोनोंमार्गसातगांवोंसेनिकलनेकारास्ताहै।75वर्षोंमेंयहसड़कनहींबनी।घेजनसेमुरहारामार्गमखदुमपुरऔरजहानाबादजाताहै।यहांसेजहानाबाद22वमखदुमपुर12किमीहै।सुरहीसेमुरहारामार्गकुर्थाजाताहै।सुरहीसेकुर्थाआठकिमीहै।यहीदोनोंमार्गगयाजिलेकेटेकारीकोभीजोड़ताहै।दोनोंमार्गकाआजतकपक्कीकरणनहींकियाजासका।बरसातमेंजिलामुख्यालयसेदर्जनोंगांवोंकासंपर्कभंगहोजाताहै।अबकिसानसंघर्षसमितिकेबैनरतले13मार्चकोमखदुमपुरमेंएनएच-83कोतीनघंटेकेलिएबाधितकियाजाएगा।

धरनामेंवीणादेवी,लालसाकुमारी,उषादेवीसोनीकुमारी,शिवानीकुमारी,दिब्याकुमारीमंनजयकुमार,शिवनारायणकुशवाहा,सुशांतकुमार,मृत्युंजयकुमार,राजूकुमार,अर्जनकुमार,विदेश्वरपासवान,वाल्मिकीराय,श्रीकांतकुमार,विश्रामसिहसहितदर्जनोंलोगशामिलहुए।