Delhi: स्कूलों को फिर से खोलने की मांग, एक्शन कमेटी ने उपराज्यपाल अनिल बैजल को लिखा पत्र

कोरोनामहामारीकेचलतेलंबेवक्तसेबंदपड़ेस्कूलोंकोखोलनेकेलिएप्राइवेटस्कूलकीएक्शनकमेटीनेदिल्लीकेउपराज्यपालअनिलबैजलकोपत्रलिखाहै. पत्रमेंलिखाहैकि लंबेवक्तसेस्कूलबंदहोनेकेचलतेपढ़नेवालेबच्चोंकालर्निंगस्केलकाफीकमहोगयाहै.इसकेसाथहीजबदेशकेकईमेट्रोसिटीजमेंस्कूलोंकोखोलनेकाफैसलालेलियागयाहै,तोऐसेमेंदिल्लीमेंभीस्कूलोंकोखोलाजानाचाहिए.

पताहोकि कोरोनोवायरसमहामारीकेकारण बीचमेंकुछसंक्षिप्तअवधिकोछोड़कर, बच्चेलगभगदोवर्षोंसे ज्यादातरऑनलाइनक्लासेसहीलेरहेहैं. सूत्रोंकाकहनाहैकिकेंद्रसरकारसभीकोविडसेसंबंधितप्रोटोकॉलकापालनकरतेहुएस्कूलोंकोखोलनेकेलिएएकमॉडलपरकामकररहीहै.

महामारीविज्ञानीऔरपब्लिकपॉलिसीस्पेशलिस्टचंद्रकांतलहरियाऔरसेंटरफॉरपॉलिसीरिसर्चकीअध्यक्षयामिनीअय्यरकीअगुवाईमेंमाता-पिताकेएकप्रतिनिधिमंडलनेबुधवारकोदिल्लीकेउपमुख्यमंत्रीमनीषसिसोदियासेभीमुलाकातकीथी.इसदौरान1,600सेअधिकअभिभावकोंकाहस्ताक्षरितएकज्ञापनसौंपाथा,जिसमेंस्कूलोंकोफिरसेखोलनेकीमांगकीगईथी.

कुछअन्यराज्योंमेंभीइसीतरहकीमांगकीगईहै,हालांकिअभिभावकोंकाएकअन्यवर्गऑनलाइनकक्षाओंकोजारीरखनेकेपक्षमेंरहाहै.दिल्लीसरकारनेराष्ट्रीयराजधानीमेंस्कूलोंकोफिरसेखोलनेकीसिफारिशकीथी,लेकिनइसपरफैसलागुरुवारकोहुईदिल्लीआपदाप्रबंधनप्राधिकरणकीअगलीबैठकतककेलिएटालदियागया.

गौरतलबहैकिदिल्लीमेंकुछसमयकेलिएफिरसेस्कूलखोलेगएथे,लेकिनपिछलेसाल28दिसंबरकोओमिक्रॉनवैरिएंटकीदहशतकेचलतेऑनलाइनक्लासेसशुरूकरदीगईं.