Delhi Road Rage: लोग दिखाते हिम्मत तो बच जाती दोनों युवकों की जान, मूकदर्शक बने रहे स्थानीय

नईदिल्ली,जागरणसंवाददाता।शिवरामपार्कशनिबाजाररोडपरमंगलवारकोहरकोईगममेंडूबाथा।मोहल्लेकेदोयुवकोंकीहत्यासेसभीदुखीथे।घटनाकीजानकारीमिलनेकेबादशनिबाजाररोडपरस्थितदुकानदारोंनेअपनीदुकानेंबंदकरदी।घटनास्थलकेनजदीकलगेसीसीटीवीकैमरोंकेफुटेजदेखनेकेबादसभीयहीकहरहेथेकिकाश,जिसतरहरोहितवघनश्यामनेएकदूसरेकोबचानेकीकोशिशकी,आरोपितोंकेआगेघुटनेनहींटेके,यदिऐसीहीहिम्मतवहांआसपासमौजूदलोगोंनेभीदिखाईहोती,तोआजदोनोंकीजानबचसकतीथी,लेकिनलोगमूकदर्शकबनेरहे।

घटनाकीजानकारीपुलिसकोतबदीगईजबआरोपितमौकेसेफरारहोचुकेथे।रोहितकेमौसेरेबहनोईनेबतायाकिरोहितदोभाईबहनमेंछोटेथे।उनकीबहनकीशादीअगलेमहीनेमेंहोनेवालीथी।रोहितभीइसबातकोलेकरखुशथेकिअगलेमहीनेउनकेघरविवाहसमारोहहोगा।सभीलोगआएंगे।

मंगलवारकोसभीरिश्तेदारआए,लेकिनसभीकेआनेकामकसददुखसेभराथा।मंगलवारतड़केएकअनजाननंबरसेजबरोहितकेघरमेंफोनआयाकिरोहितसंजयगांधीअस्पतालमेंहैं,आपलोगआजाएं।सभीकीनींदउड़गई।जबसभीअस्पतालपहुंचेतोपायाकिरोहितमृतपड़ेथे।

इसकेबादतोऐसालगामानोंसभीपरदुखकापहाड़टूटपड़ा।उन्होंनेकहाकिरोहितहरकिसीकीमददकरतेथे।सभीकोसाथलेकरचलनाउनकीबड़ीखासियतथी,लेकिनजबउन्हेंलोगोंकेसाथकीजरूरतथीतबघनश्यामकेअलावाकिसीकासाथनहींमिला।जोव्यक्तिवहांसेघटनाकेसमयगुजररहाथा,उसनेवहांएकबारशोरतकमचानेकीकोशिशनहींकी।संभवहैकिउसकेशोरमचानेसेगलीकेलोगघरसेबाहरनिकलतेऔरआरोपितवारदातअंजामनहींदेपाते।

सीसीटीवीफुटेजसेपकड़मेंदोनोंआरोपित

पुलिसकोसवाएकबजेघटनाकीजानकारीमिली।मौकेपरपहुंचतेहीपुलिसनेतत्कालदोनोंकोअस्पतालपहुंचायाजहांदोनोंकोमृतघोषितकरदियागया,उधरघटनास्थलपरपहुंचीएकटीमनेसीसीटीवीफुटेजखंगालेतोउन्हेंमोटरसाइकिलकेरजिस्ट्रेशननंबरकापताचलगया।इंस्पेक्टरमनोजभाटियाकेनेतृत्वमेंगठितटीमनेछानबीनशुरूकी।पताचलाकिमोटरसाइकिलप्रदीपकीमांकेनामपरहै।नंबरपरदिएगएपतेपरपुलिसजबपहंचीतोपताचलाकिअबवेलोगयहांनहींरहते,लेकिनयहांसेपुलिसकोप्रदीपकेस्वजनकापतालगगया।इसकेबादपुलिसदोनोंआरोपितोंतकपहुंचगई।पुलिसकेअनुसारवारदातमेंइस्तेमालकियागयाचाकूनाबालिगकेघरसेबरामदकियागया।