Delhi pollution: लोगों को कैसे मिलेगी खराब हवा से राहत, सफर इंडिया के निदेशक ने बताया तरीका

नईदिल्ली[गुरफानबेग]।दिल्लीमेंप्रदूषणएकदिनकीसमस्यानहींहै।मानसूनकेकुछदिनोंकोछोड़करराष्ट्रीयराजधानीमेंपूरेसालज्यादातरहवासांसलेनेलायकनहींहोती।वहीं,परालीजलाएजानेपरहवाज्यादाजहरीलीहोजातीहै।यदिदिल्लीमेंप्रदूषणकेलिएजिम्मेदारस्थानीयस्नोतोंपरअंकुशलगजाएऔरवाहनोंकीसंख्यानियंत्रितकरनेकेलिएठोसकदमउठाएजाएंतोप्रदूषणसेकाफीहदतकराहतमिलसकतीहै।

सफरइंडियाद्वाराकिएगएअध्ययनमेंयहबातसामनेआईहैकिदिल्लीमेंवाहनोंकेकारण41फीसदप्रदूषणहोताहै।पिछले10सालमेंवाहनोंकेकारणहोनेवालाप्रदूषणकरीब40फीसदबढ़ाहै।इसकाकारणयहहैइन10सालोंमेंवाहनोंकीसंख्याकरीबदोगुनीहोगईहै।इससेसड़कोंपरवाहनोंकादबावबढ़नेसेजामकीसमस्याबढ़ीहै।पहलेदिल्लीकीसड़कोंपरवाहनोंकीऔसतरफ्तारकरीब45किलोमीटरप्रतिघंटेहोतीथी।अबवाहनोंकीरफ्तारघटकर20से25किलोमीटरप्रतिघंटेरहगईहै।जामकेदौरानवाहनोंसेनिकलनेवालाधुआंप्रदूषणकाबड़ाकरणबनरहाहै।

इसकेअलावानिर्माणाधीनस्थलोंपरधूलउड़नेसेरोकनेकीउचितव्यवस्थानहींहोनेसेवातावरणमेंधूलकणफैलतेहैं।हालांकि,पहलेकेमुकाबलेहवामेंधूलकणकेकारणहोनेवालेप्रदूषणमेंकरीब26फीसदकीकमीआईहै,लेकिनअबभीइसकीहिस्सेदारी18.1फीसदहै।ठोसकचरेकाउचितप्रबंधननहींहोना,कूड़ाजलानाइत्यादिकईस्थानीयचीजेंभीप्रदूषणकाकारणबनरहीहैं।

यदिप्रदूषणकेइनस्थानीयकारणोंकोनियंत्रितकरलियाजाएतोदिल्लीकोकाफीहदतकप्रदूषणसेराहतमिलजाएगी।दिल्लीकेप्रदूषणमेंपरालीकीभीभूमिकाशून्यसेलेकरकरीब48फीसदतकहोतीहै,लेकिनयहहवाकीदिशापरनिर्भरकरतीहै।परालीजलनेकेदिनोंमेंभीबहुतदिनऐसेहोतेहैं,जबआसपासकेराज्योंमेंबड़ीसंख्यामेंपरालीजलाएजानेकेबावजूददिल्लीकेप्रदूषणमेंपरालीकीज्यादाभूमिकानहींहोती।उदाहरणकेलिएमंगलवारकोपरालीजलानेकी2643घटनाएंदर्जकीगईं,लेकिनबुधवारकोप्रदूषणमेंपरालीकीभूमिकासिर्फछहफीसदहीरही।फिरभीदिल्लीहवाकीगुणवत्ताबेहदखराबश्रेणीमेंरही।

(लेखकसफरइंडियाकेसंस्थापकपरियोजनानिदेशकहैं)