डॉ. सतीश को विदाई तो यशवीर का स्वागत

जागरणसंवाददाता,उरई:जिलेकेपुलिसकप्तानडॉ.सतीशकुमारकोपुलिसलाइनमेंसमारोहकाआयोजनकरमातहतोंनेविदाईदी,जबकिनएएसपीकेरूपमेंयशवीरसिंहदेरसेपहुंचे।खासबातयहकिजानेऔरआनेवालेदोनोंहीआइपीएसपशुचिकित्सकभीरहेहैंऔरएकहीबैच1993केहैं।रविवारकोसमाजसेवियोंवव्यापारियोंनेडॉ.सतीशकुमारकोविदाईदी।देरशामनएएसपीयशवीरसिंहपुलिसलाइनपहुंचेऔरआमदकराई।

2013बैचकेआइपीएसअधिकारीयशवीरसिंहमूलरूपसेहरिद्वारकेरायसीगांवकेरहनेवालेहैं।एसडीआरएफसेजुड़ेलोगबतातेहैंकिग्रेजुएशनकेलिएवहपंतनगरचलेगएऔरउन्होंनेपशुविज्ञानमेंस्नातककीडिग्रीहासिलकी।जिसकेबादअल्मोड़ामेंपशुचिकित्साअधिकारीबने।पशुचिकित्साअधिकारीबननेकेबादभीउन्होंनेअपनीपढ़ाईजारीरखीऔर2013मेंउनकाआइपीएसमेंचयनहोगया।ट्रेनिगकेदौरानसहारनपुरमेंएडीशनलएसपीरहे,बादमेंमुरादाबादमेंएएसपीरहे।अगलीजिम्मेदारीअलीगढ़केपुलिसअधीक्षकदेहातकेरूपमेंहुई।अलीगढ़केबादउनकोगाजीपुरकापुलिसअधीक्षकबनायागयाथा।बादमेंहापुड़केएसपीरहे।एसडीआरएफमेंसेनानायकहोनेकेबादअबजिलेकीकमानसौंपीगईहै।