डिप्स स्कूल में मनाया गुरु पूर्णिमा पर्व

संवादसहयोगी,कपूरथला:डिप्सचेनकेसभीस्कूलोंमेंविद्यार्थियोंकीओरसेगुरुपूर्णिमाकापर्वमनायागया।विद्यार्थियोंनेअपनेअध्यापकोंऔरमाता-पिताकेलिएफूलोंकेगुलदस्ते,पोस्टर,कार्ड,छोटी-छोटीवीडियोबनाई।विद्यार्थियोंनेअपनेमातापिताऔरशिक्षकसेआर्शीवादलिया।विद्यार्थियोंनेकहाकिगुरुविद्यार्थियोंकोदुनियामेंचलनाऔरआगेबढ़नासिखातेहैं।हरव्यक्तिकीजिंदगीमेंगुरुकाविशेषहीमहत्वहोताहै।इसदौरानविद्यार्थीभगवानकेसामनेभीनतमस्तकहुएऔरउन्हेंखूबसूरतजिदंगीदेनेकेलिएधन्यवादकिया।अध्यापकोंनेबच्चोंकोगुरुपूर्णिमाकेमहत्वकेबारेमेंजानकारीदी।उन्होंनेकहाकिभारतमेंप्राचीनकालसेहीइसकाबड़ामहत्वहै।विद्यार्थीजबगुरुकेआश्रममेंशिक्षाहासिलकरनेकेलिएजातेथेतोइसदिनकोबड़ेश्रद्धासेमनायाजाताथा।

स्कूलप्रिसिपलनेकहाकिसमाजमेंऐसेगुरुकीजरूरतहैजोशिष्यकेविकारोंकोदूरकरसके।उन्होंनेविद्यार्थियोंकोकहाकिजीवनमेंहमेंअपनेमाता-पिताऔरगुरुकाहमेशासम्मानकरनाचाहिएऔरउनकेबताएहुएरास्तेपरबढ़करअपनीमंजिलकोहासिलकरनाचाहिए।

एमडीतरविदरसिंहऔरसीईओमोनिकामंडोत्रानेसभीस्कूलप्रिसिपल्सऔरअध्यापकोंकाशिक्षाकेक्षेत्रमेअहमयोगदानडालनेकेलिएधन्यवादकिया।उन्होंनेकहाकिगुरुदोअक्षरोंसेमिलकरबनताहैजिसमेंगुकाअर्थहैअज्ञानवरूकाअर्थहैदूरकरनेवाला।इसलिएहमेशाअपनेगुरुकीशिक्षाओंकोयादरखनाचाहिएतथाउनकासम्मानकरनाचाहिए।