चकड़ा कीड़ा प्रभावित जिला घोषित करने की मांग

जागरणसंवाददाता,झारसुगुड़ा:अल्पवर्षाजनितसमस्यासेइसवर्षजिलेमेंखेती-किसानीकोव्यापकनुकसानहुआहै।हमलोगखेतीकिसानीपरहीपूर्णरूपसेनिर्भररहतेहैं।फसलअच्छीनहींहोनेसेहमाराकाफीनुकसानहुआहैऔरहमपरकर्जभीचढ़गयाहैजिससेहमारीआर्थिकस्थितिपूर्णरूपसेचरमरागईहै।हमाराभविष्यअंधकारमयहोगयाहै।वहींदुर्भाग्यकीबाततोयहहैकिइसवर्षधानकीफसलमेंचकड़ाकीड़ालगनेसेबची-खुचीफसलभीनष्टहोगई,जिससेअबहमारेपासकुछभीनहींबचाहै।कमवर्षावसूखाकेबादअबचकड़ारोगहमारेलिएसबसेबड़ीमुसीबतबनगयाहै।अबहमारेसामनेसमस्याहैकिआगेहमेंकैसेअपनेपरिवारकोभरणपोषणकरेंगे।इसेलेकरहमारीनींदउड़गईहै।हमारीमांगहैकिझारसुगुड़ाजिलाकोचकड़ाकीड़ाप्रभावितजिलाघोषितकरकिसानोंकोस्वतंत्रआर्थिकअनुदानवउचितमुआवजामिलेआदिमांगोंवालाएकज्ञापनमुख्यमंत्रीकेनामबीडीओकोकिसानोंनेसौंपा।

इससेपूर्वझारसुगुड़ाब्लाककार्यालयमेंआयोजितब्लाककांग्रेसअध्यक्षप्रमोदत्रिपाठीकीअध्यक्षतामेंआयोजितकिसानसम्मेलनमेंवक्ताओंनेजिलेकेपीड़ितकिसानोंकोअविलंबमददकीमांगकरतेहुएराज्यसरकारकीमारननीतिकीआलोचनाकी।शरदपटेल,सुभाषपटेल,¨वबाघरबढ़ेईसहितकांग्रेसकेवरिष्ठनेतागिरिशरंजनपंडा,युवाकांग्रेसअध्यक्षरोबिन¨सहआदिनेसरकारपरकिसानोंकेसाथभेदभावकरनेकाभीआरोपलगाया।