चैंबर आफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री ने कहा अभी दिल्ली में न लागू किया जाए यलो अलर्ट, इसके पीछे बताई ये वजह

नईदिल्ली,जागरणसंवाददाता।कोरोनाकेबढ़तेमामलोंमेंचैंबरआफट्रेडएंडइंडस्ट्री(सीटीआइ)नेयलोअलर्टनलागूकरनेकीमांगकीहै।दिल्लीआपदाप्रबंधनप्राधिकरण(डीडीएमए)कोपत्रलिखकरसीटीआइनेकहाकियलोअलर्टलागूहोतोसम-विषमकेआधारपरदुकानेंखुलेंगीतोवहींसाप्ताहिकबाजारोंमेंभी50प्रतिशतवेंडरोंकोहीअनुमतिमिलेगी।इससेसिनेमाघरऔरजिमभीबंदहोजाएंगे।

सीटीआइकेचेयरमैनबृजेशगोयलनेकहाकिअभीइतनीसख्तीकीजरूरतनहींहै।उन्होंनेकहाकिलोकनायकअस्पतालकेचिकित्सानिदेशकडा.सुरेशकुमारनेभीकहाहैकिबिनाआक्सीजनलगाएओमिक्रोनके40मरीजठीकहोगएहैं।सिर्फचार-पांचमरीजोंमेंमामूलीलक्षणदेखनेकोमिलेहैं।इससेलगताहैकिअभीहालातबिगड़ेनहींहैं।फिरभीदिल्लीकेमार्केटट्रेडर्सएसोसिएशनसेअपीलहैकिवेकोरोनाकेलिएजारीदिशानिर्देशोंकापालनकरें।

पुलिसऔरप्रशासनबाजारोंमेंभीड़कोनियंत्रितकरें।महामारीकीवजहसेबाजारवैसेहीघाटेमेंचलरहेहै।किसीतरहव्यापारीगुजर-बसरकररहेहैं।किसीभीतरहकीसख्तीलगानेसेपहलेडीडीएमएकोविचारकरनाचाहिए।उल्लेखनीयहैकिकोरोनामरीजोंकीसंक्रमणदर0.50प्रतिशतसेअधिकहोतीहैतोयलोअलर्टलागूकरदियाजाताहै।इसमेंविभिन्नपाबंदियोंकाप्रविधानकियागयाहै।