बोफोर्स की कड़वी यादें खत्म, टेस्टिंग के लिए भारत पहुंचीं अल्ट्रा लाइट 145 M-777 हॉवित्जर तोपें

नईदिल्लीबोफोर्ससौदेकेबादपहलीबारसेनाकेइस्तेमालकेलिएदोनईतोपेंभारतपहुंचगईहैं।2अल्ट्रालाइट145M-777हॉवित्जरतोपेंअमेरिकासेट्रायलकेलिएभारतआगईहैं।पाकिस्तानसेलगीसीमापररक्षातैयारियोंकेलिहाजसेसेनाकेलिएयहअहमघटनाक्रमहै।हालांकि,शुरुआतमेंइनतोपोंकोचीनकीसीमापरतैनातकरनेकीभीयोजनाथी।बतादेंकि1986मेंबोफोर्सतोपोंकीखरीदकेबादइसकेसौदेमेंदलालीकेआरोपोंनेभारतीयराजनीतिमेंइतनाबड़ाविवादखड़ाकरदियाथाकिनईतोपखरीदनेमेंकरीब3दशककावक्तलगगया।यहभीपढ़ें:भारत-अमेरिकाकेबीचहॉवित्जरतोपोंकीडीलफाइनलक्याहैखासियतपिछलेसाल26जूनकोपहलीबारजानकारीदीगईकिभारत145तोपोंकीखरीदारीकरेगा।नवंबरआते-आतेभारतऔरअमेरिकाकेबीचइसकेलिएडीलहोगई।भारतीयसेनाकीखातिर737मिलियनडॉलरकीडीलकीगई।अमेरिकीकंपनीबीएईसिस्टम्सकोइनतोपोंकोबनानेकाजिम्मासौंपागया।इनतोपोंकीरेंज24से40किलोमीटरहै।इनकावजनचारटनसेथोड़ाहीज्यादावजनहैक्योंकिइन्हेंटाइटैनियमसेबनायागयाहै।हल्केहोनेकीवजहसेबेहदऊंचाईवालेमोर्चोंमसलन-16हजारफीटकीऊंचाईपरलद्दाखऔरचीनसेसटेलाइनऑफएक्चुअलकंट्रोलपरतैनातकियाजासकताहै।इनतोपोंसेइंडियनआर्मीके17माउंटेनस्ट्राइककॉर्प्सकोलैसकियाजाएगा।बतादेंकिसरकारनेभारतीयकंपनीएलएंडटीकेसाथ4366करोड़रुपयेकीडीलभीकीहै।एलएंडटीअपनेसाउथकोरियाईपार्टनरकेसाथमिलकर100तोपेंबनाएगी।इन155मिमी/52-कैलिबरतोपोंकानामK-9वज्र-Tहोगा,जो42महीनेमेंडिलिवरहोजाएंगी।यहभीपढ़ें:सेनाकेलिएवज्रतोपोंकारास्तासाफभारतमेंभीअसेंबलहोंगीतोपेंसूत्रोंकेमुताबिक,दोअल्ट्रालाइट145M-777हॉवित्जरतोपोंकोचार्टर्डप्लेनकेजरिएब्रिटेनसेभारतलायागया।इन्हेंजल्दराजस्थानकेपोखरणभेजाजाएगा।वहांविभिन्नकिस्मकेभारतीयगोला-बारूदसेइनकीटेस्टिंगकीजाएगी।इसकेबाद3तोपोंकोसितंबरमेंलानेकाप्लानहै।फिर2019केमार्चसेलेकर2021केजूनकेबीचहरमहीने5-5तोपेंआएंगी।जून2021तकसभीतोपेंसेनाकोमिलजाएंगी।करारकेमुताबिक,पहली25तोपेंइंपोर्टकीजाएंगी,जबबकिबाकी145भारतमेंअसेंबलकीजाएंगी।इसकेलिएअमेरिकीनिर्माताकंपनीनेभारतीयकंपनीमहिंद्राकोअपनाबिजनसपार्टनरबनायाहै।इसखबरकोगुजरातीमेंपढ़नेकेलिएक्लिककरेंयहभीपढ़ें:भारतकेपासबोफोर्ससेभीज्यादाताकतवरतोप